'नवाज शरीफ ने लादेन से पैसे लेकर चुनाव लड़ा था' | सोमवार, 29 फरवरी 2016

पाकिस्तान में आईएसआई के एक पूर्व अधिकारी की पत्नी ने दावा किया है कि नवाज शरीफ ने चुनाव लड़ने के लिए अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन से पैसे लिए थे. पूर्व अधिकारी की पत्नी शमामा खालिद ने यह दावा अपनी किताब 'खालिद ख्वाजा : शहीद-ए-अमन' में किया है. पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' के मुताबिक नवाज शरीफ और ओसामा बिन लादेन के बीच काफी लंबे समय तक सांठ-गांठ रही और इन संबंधों के चलते ही लादेन ने नवाज शरीफ को बेनजीर भुट्टो के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए पैसे दिए थे. किताब में कहा गया है कि इन पैसों के बदले शरीफ ने लादेन से वादा किया था कि वे सत्ता में आते ही देश में इस्लामी कानून लागू करेंगे और उसे कड़ी सुरक्षा मुहैया कराएंगे. इस किताब की लेखिका शमामा खालिद के पति खालिद ख्वाजा नवाज शरीफ के करीबी थे. आतंकियों के द्वारा मारे जा चुके खालिद ने खुद कहा था कि वे कई बार लादेन से भी मिले थे.

अमेरिका में सिख कैप्टन ने धार्मिक भेदभाव से आहत होकर सेना पर केस किया | मंगलवार, 01 मार्च 2016

अमेरिकी सेना के एक सिख सैनिक ने अपनी सेना के खिलाफ ही मुकदमा दायर किया है. कैप्टन सिमरतपाल सिंह ने आरोप लगाया है कि उसे अपने धर्म की वजह से कुछ ऐसे 'भेदभावपूर्ण' परीक्षणों से होकर गुजरना पड़ रहा है जिससे किसी अन्य अमेरिकी सैनिक को नहीं गुजरना पड़ता. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक अमेरिकी सेना ने पिछले साल दिसंबर में सिमरतपाल सिंह को एक अस्थायी धार्मिक रियायत देते हुए पगड़ी, दाढ़ी और लंबे बाल रखने की इजाजत दी थी. सिमरतपाल का केस लड़ रही कानूनी फर्म का कहना है कि उसके मुवक्किल को यह रियायत 31 मार्च तक के लिए दी गई थी. लेकिन, सेना ने हाल ही में एक आदेश जारी कर सिमरतपाल को सेना में बने रहने के लिए कुछ दुर्लभ और असाधारण परीक्षण कराने को कहा है. फर्म के मुताबिक सिमरतपाल को ऐसे परीक्षणों के लिए तीन दिन तक सभी से अलग रखा जाता है.

अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास के बाहर हमले में नौ की मौत | बुधवार, 02 मार्च 2016

अफगानिस्तान के जलालाबाद शहर में भारतीय दूतावास के बाहर हुए आतंकी हमले में एक सुरक्षाकर्मी सहित नौ लोगों की मौत हुई है. जबकि 19 अन्य घायल हुए हैं. अफगानी मीडिया के अनुसार इस हमले में शामिल एक आत्मघाती हमलावर सहित सभी पांचों आतंकी भी मारे गए हैं. हालांकि, इस हमले में किसी भारतीय नागरिक के हताहत होने की सूचना नहीं आई है. बताया जाता है कि भारतीय दूतावास के गेट पास पहले एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था. धमाके के तुरंत बाद आसपास छिपे कुछ आतंकियों ने दूतावास में घुसने का प्रयास किया इसके बाद कुछ देर चली मुठभेड़ में सभी आतंकी मारे गए.

अमेरिका पाकिस्तान के परमाणु हथियारों को लेकर चिंतित, आतंकियों से खतरा बताया | गुरुवार, 03 मार्च 2016

अमेरिका ने पाकिस्तान के परमाणु हथियारों को लेकर चिंता जाहिर की है. अमेरिकी डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी के निदेशक लेफ्टिनेंट जनरल विंसेंट स्टीवर्ट ने संसद की कार्रवाई के दौरान सांसदों से कहा है, 'पाकिस्तान के बढ़ते परमाणु भंडार से हम चिंतित हैं. इससे किसी घटना या दुर्घटना का खतरा बढ़ गया है.' विंसेंट के मुताबिक इन परमाणु हथियारों को आतंकी समूहों से बड़ा खतरा है. साथ ही आईएस और अलकायदा भी इस मामले में इस्लामाबाद के लिए चिंता का सबब बने हुए हैं. बता दें कि बीते बुधवार को ही अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने पाकिस्तान से परमाणु हथियारों को कम करने को लेकर चर्चा की थी. लेकिन, उसने भारत को खतरा बताते हुए ऐसा करने से साफ़ इनकार कर दिया था.

पोप फ्रांसिस ने पाकिस्तान का निमंत्रण स्वीकारा, पहली बार किसी इस्लामी देश की यात्रा करेंगे | शुक्रवार, 04 मार्च 2016

ईसाईयों के सबसे बड़े धार्मिक नेता पोप फ्रांसिस इस वर्ष पाकिस्तान की यात्रा करेंगे. पीटीआई के मुताबिक यह पोप की किसी इस्लामी देश की पहली यात्रा होगी. पाक मीडिया के अनुसार पिछले महीने पाकिस्तान के मंत्री कामरान माइकल ने वेटिकन में पोप से मुलाकात कर उन्हें नवाज शरीफ की ओर से पाकिस्तान आने का निमन्त्रण दिया था. पाकिस्तान के धार्मिक मंत्रालय ने जानकारी दी है, 'पोप ने हमारे निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है और जल्द ही विचार-विमर्श के बाद यात्रा की तारीख तय की जाएगी.' अधिकारियों के मुताबिक अपनी इस यात्रा पर पोप प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और राष्ट्रपति ममनून हुसैन से मुलाकात करेंगे. साथ ही वह देश के अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय के साथ भी व्यापक बातचीत करेंगे.

वीजा फीस बढ़ाने पर भारत ने डब्ल्यूटीओ में अमेरिका के खिलाफ शिकायत की | शनिवार, 05 मार्च 2016

अमेरिका के द्वारा अस्थाई कार्य वीजा की फीस में भारी वृद्धि करने के निर्णय के खिलाफ भारत ने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) में शिकायत दर्ज कराई है. डब्ल्यूटीओ ने अपने एक बयान में कहा है कि एल-1 और एच-1बी वीजा श्रेणियों में फीस बढ़ाने के अमेरिका के फैसले के खिलाफ भारत ने आपत्ति जताई है. उसके अनुसार भारत का कहना है कि मौजूदा फैसला मानदंडों के मुताबिक नहीं है और इससे भारतीय आईटी कंपनियों के बाजार में पिछड़ने का खतरा पैदा हो गया है. डब्ल्यूटीओ ने अमेरिका से दस दिन में जवाब देने को कहा है. अमेरिका ने जनवरी में एच-1बी वीजा की फीस में 4000 और एल-1 वीजा की फीस में 4500 डॉलर की भारी बढ़ोत्तरी की थी.