'भगवा झंडे को भी राष्ट्रीय ध्वज कहना गलत नहीं होगा.'

— भैयाजी जोशी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह

भारतमाता की जय के नारे पर कुछ समय से जारी विवाद के बीच भैयाजी जोशी ने ने यह बात मुंबई स्थित दीनदयाल उपाध्याय अनुसंधान संस्थान में हुए एक आयोजन में कही है. उनके मुताबिक संविधान के अनुसार जन गण मन राष्ट्रगान है लेकिन, अगर कोई वास्तविक अर्थों पर विचार करता है तो वंदे मातरम राष्ट्रगान है. जोशी के शब्दों में '1930 में तिरंगा पैदा हुआ, लेकिन क्या उसके पहले भारत की पहचान देनेवाला कोई ध्वज नहीं था? संविधान द्वारा उसे प्रतीक के रूप में लाया गया, जो संविधान के प्रति दायित्व मानता है उसने जन गण मन और तिरंगे का सम्मान करना चाहिए. लेकिन राष्ट्र की संकल्पना में भगवे ध्वज को राष्ट्रध्वज मानना यह आज के तिरंगे का अपमान नहीं है.'

'इसका परिणाम पूरी अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को झेलना पड़ेगा.'

— विकास स्वरूप, भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

स्वरूप की यह प्रतिक्रिया जैश ए मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र (यूएन) समिति में सूचीबद्ध करने के उसके आवेदन पर चीनी अड़ंगे के बाद आई है. स्वरूप के मुताबिक यह भारत की समझ से परे है कि पाकिस्तान स्थित जैश ए मोहम्मद को यूएन में उसकी ज्ञात आतंकवादी गतिविधियों के लिए सूचीबद्ध किया गया है लेकिन, संगठन के मुख्य नेता, वित्तपोषक और प्रेरक को सूचीबद्ध करने पर तकनीकी रोक लगा दी गई है. उन्होंने कहा कि आतंकवादी समूहों के अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क को देखते हुए इसका परिणाम पूरी अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को झेलना पड़ेगा. उधर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों में से एक चीन ने दावा किया है कि मसूद पर प्रतिबंध लगाने पर वीटो का उसका फैसला तथ्यों और नियमों पर आधारित था.


'उसका आतंकवाद, मेरा आतंकवाद जैसी कोई चीज नहीं होती है.'

— नरेंद्र मोदी, भारत के प्रधानमंत्री

पाकिस्तान पर परोक्ष निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह बात व्हाइट हाउस में आयोजित एक रात्रिभोज के दौरान कही. मोदी ने कहा कि कुछ देशों की सरकार की ओर से सक्रिय तत्व परमाणु तस्करों और आतंकवादियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं जिससे आज परमाणु सुरक्षा को लेकर सबसे बड़ा खतरा पैदा हो गया है. अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा दिए गए इस भोज में 20 से ज्यादा देशों के प्रमुख शामिल थे. ये नेता चौथे परमाणु सुरक्षा शिखर सम्मेलन में शिरकत करने के लिए अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन आए हुए हैं.


'मैंने किसी भी चीज़ के लिए ना नहीं कहा है.'

— शेन वार्न, पूर्व क्रिकेटर

महान स्पिन गेंदबाजों में शुमार वार्न की यह प्रतिक्रिया भारतीय टीम के कोच की जिम्मेदारी संभालने से जुड़े एक सवाल पर आई. इससे पहले बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर ने कहा था कि अब टीम इंडिया को निदेशक नहीं बल्कि एक फ़ुल टाइम कोच चाहिए. ठाकुर ने कहा कि टीम निदेशक के रूप में रवि शास्त्री का करार टी-20 विश्व कप तक ही था और नए कोच के नाम के लिए सलाहकार समिति से सुझाव मांगे गए हैं जिन पर तीन अप्रैल के बाद फैसला लिया जाएगा. 46 साल के वार्न ने कहा कि अगर उनसे पूछा जाता है तो वे इस जिम्मेदारी को नकारेंगे नहीं. वार्न ने टेस्ट मैचों में कुल 708 विकेट लिए हैं और एकदिवसीय मैचों के लिए यह आंकड़ा 293 है.


‘नहीं, मैंने उनके साथ कोई फिल्म साइन नहीं की है.'

— आमिर खान, फिल्म अभिनेता

सुपरस्टार आमिर खान का यह बयान उन खबरों का खंडन करते हुए आया है जिनमें कहा गया था कि उन्होंने अभिनेत्री सनी लियोनी के साथ एक फिल्म साइन की है. चर्चा हो रही थी कि फिल्म ‘‘डेली बेली’’ के निर्देशक अभिनय देव ने एक डार्क कॉमेडी के लिए सनी लियोनी को आमिर खान के साथ साइन किया है. एक कार्यक्रम में जब उनसे पूछा गया कि क्या वे ‘रागिनी एमएमएस 2’ की अभिनेत्री के साथ फिल्म करने वाले हैं तो आमिर ने इसका जवाब न में दिया. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें सनी के साथ फिल्म करना अच्छा लगेगा.