'अब कोई सेल्फी भी लेता है तो डर लगता है.'

— हरीश रावत, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री

उत्तराखंड विधानसभा में शक्ति परीक्षण से ऐन पहले एक नए स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो सामने आने के बाद रावत ने यह टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड स्टिंगबाजों की धरती हो गई है और मीडियाकर्मियों के प्रति एक अविश्वास की धारणा बन गई है. रावत ने अपना नार्को टेस्ट करवाने की भी पेशकश की है. नए वीडियो में कथित तौर पर कांग्रेस के एक विधायक को कम से कम पार्टी के एक दर्जन विधायकों को रावत के पक्ष में रखने के लिए रिश्वत लेते दिखाया गया है. यह स्टिंग उसी समाचार चैनल ने किया है जिसने इससे पहले एक और वीडियो क्लिप जारी किया था. उसमें रावत को कथित रूप से विधायकों की सौदेबाजी में शामिल दिखाया गया था. हरीश रावत ने इस अपने खिलाफ साजिश बताया है जबकि विपक्षी भाजपा का आरोप है कि सत्ता में बने रहने के लिए रावत किसी भी हद तक जा सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार कल विधानसभा में बहुमत परीक्षण होना है. शीर्ष अदालत कांग्रेस के उन नौ विधायकों को वोट डालने के लिए अयोग्य ठहरा चुकी है जिनकी बगावत के बाद उत्तराखंड में यह राजनीतिक अस्थिरता शुरू हुई.

'कानून के हाथ लंबे हैं.'

— नीतीश कुमार, बिहार के मुख्यमंत्री

नीतीश ने यह टिप्पणी एक छात्र आदित्य सचदेव की हत्या के मामले में की है. इस वारदात को हुए दो दिन होने वाले हैं लेकिन, पुलिस हत्या के मुख्य अभियुक्त राॅकी यादव को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. 12वीं के छात्र आदित्य सचदेव की गया में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में सत्तारूढ़ जदयू की विधान पार्षद मनोरमा देवी का बेटा राॅकी यादव मुख्य अभियुक्त है. पार्षद के पति बिंदी यादव को अपने बेटे को संरक्षण देने के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है. इस घटना ने सियासी रंग भी ले लिया है. भाजपानीत एनडीए ने आज गया बंद कराया. मुख्यमंत्री नीतीशु कुमार ने इसे दुखद घटना करार देते हुए कहा कि अपराधी कोई भी हो उसे बख्शा नहीं जाएगा. अपने ताजा कार्यकाल में बिहार में बिगड़ रही कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर नीतीश आलोचकों के निशाने पर हैं.


'जालसाजी करने के लिए भी अक्ल चाहिए.'

— आशुतोष, आम आदमी पार्टी के नेता

आशुतोष ने यह टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बीए और एमए की डिग्रियों को फर्जी बताते हुए की है. उन्होंने कहा कि दोनों डिग्रियों में लिखे नाम में अंतर है और बीए की डिग्री में यह नरेंद्र कुमार दामोदर दास मोदी जबकि एमए की डिग्री पर नरेंद्र दामोदर दास मोदी दर्ज है. आशुतोष ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री के बीए के अंकपत्र और डिग्री में परीक्षा का साल अलग-अलग है. उन्होंने कहा कि अंकपत्र में साल 1977 और डिग्री में 1978 दर्ज है. इससे कुछ ही देर पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इन डिग्रियों की कॉपियां पत्रकारों को बांटी थीं. भाजपा मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में शाह का कहना था कि मोदी ने दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए और गुजरात विश्वविद्यालय से एमए की डिग्री ली है. इससे पहले प्रधानमंत्री की डिग्री को लेकर आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कई सवाल उठाए थे.


'सचिन की तुलना में कांबली अधिक प्रतिभाशाली खिलाड़ी थे.' 

— कपिल देव, पूर्व क्रिकेटर

भारत को पहला विश्वकप दिलाने वाले कपिल देव की यह टिप्पणी यह तर्क देते हुए आई कि एक खिलाड़ी की सफलता में उसके घरवालों और मित्रों का समर्थन भी मायने रखता है. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान का कहना था कि सचिन की तुलना में कांबली में ज्यादा प्रतिभा थी लेकिन, उन्हें सचिन की तरह दोस्‍तों का साथ और परिवार वालों का समर्थन नहीं मिल पाया. कपिल के मुताबिक इसीलिए सचिन ने 24 साल तक क्रिकेट की सेवा की और कांबली गायब हो गये. सचिन और कांबली बचपन के दोस्‍त हैं जिन्होंने स्कूली दिनों में खेलते हुए क्रिकेट में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकार्ड बनाया था जो कई साल तक कायम रहा.


'सुनने में आ रहा है कि रिपब्लिकन पार्टी के लोग राष्ट्रपति चुनाव में मेरा समर्थन करना चाहते हैं.'

— हिलेरी क्लिंटन, डेमोक्रेटिक पार्टी से अमेरिका के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दावेदार

हिलेरी क्लिंटन ने यह बात डोनाल्ड ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी से उम्मीदवारी लगभग तय होने के बाद कही है. माना जा रहा है कि अगर अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर हो चुके ट्रंप के उम्मीदवार बनने की संभावना को लेकर रिपब्लिकन पार्टी में काफी मतभेद है. एक साक्षात्कार में हिलेरी ने अपील की कि जो लोग जो इस चुनाव को महत्वपूर्ण समझते हैं और गंभीरतापूर्वक अपना मतदान करते हैं, वे उनके चुनाव अभियान में शामिल हों. उन्होंने यह भी कहा कि वे ट्रंप के खिलाफ नहीं अपने देश के लिए और एक नजरिये को लेकर लड़ रही हैं.