आज असम, पश्चिम बंगाल, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में हुए विधानसभा चुनावों के परिणाम घोषित हुए हैं. इसी के साथ सोशल मीडिया पर गर्मागर्म चुनावी बहस का दौर चल रहा है. सोशल मीडिया के अनुसार इस चुनाव के नतीजे चौंकाने वाले हैं. यहां भाजपा की जीत और कांग्रेस की हार सबसे ज्यादा चर्चा में है. भाजपा ने पहली बार पूर्वोत्तर के किसी राज्य (असम) में बहुमत हासिल किया है. पार्टी की इस जीत को अप्रत्याशित बताया जा रहा है. लोगों ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसी के साथ एक और राज्य कांग्रेस मुक्त हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में कहा था कि वे असम की चाय बेचते थे इसलिए यहां के कर्जदार हैं. सोशल मीडिया में आई एक टिप्पणी में कहा गया कि असम ने मोदी जी को कर्ज चुकाने का मौका दे दिया है. लोगों चुटकी लेते हुए यह भी कहा कि चाय बेचने वाले की नजर असल में चाय बागानों पर थी, इसलिए भाजपा ने जीतने के लिए पूरा जोर लगाया था.

असम के अलावा इन चुनावों में भाजपा ने पहली बार केरल में एक सीट जीती है, वहीं बंगाल में उसे सात सीटों पर जीत हासिल हुई है. हालांकि तमिलनाडु में उसे कोई सीट नहीं मिल पाई है. सोशल मीडिया में पार्टी के प्रदर्शन पर एक बड़े तबके यह राय रही कि उसे कांग्रेस की साख ख़त्म होने का फायदा मिल रहा है. एक टिप्पणी में कहा गया कि भाजपा इस सच से बेखबर है कि जहां भी भाजपा और कांग्रेस के अलावा कोई तीसरा विकल्प था तो जनता उसे ही चुन रही है. इधर कांग्रेस ने चुनावी नतीजे घोषित होने के साथ ही अपनी हार स्वीकार कर ली है. सोशल मीडिया पर असम और केरल में सत्ता गंवाने के साथ-साथ बंगाल में खराब प्रदर्शन के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी लोगों के निशाने पर हैं. हार की सामूहिक जिम्मेदारी लेने वाले कांग्रेस के क्षेत्रीय नेताओं पर व्यंग करते हुए कहा गया कि आखिर विधानसभा चुनाव, दिल्ली नगर निगम जैसे बड़े चुनाव नहीं हैं.

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस को दोबारा सत्ता मिली है. इसके साथ ही तमिलनाडु में जयललिता फिर से सरकार बनाने जा रही हैं. सोशल मीडिया पर ‘अम्मा’ और ‘दीदी’ की जीत भी सुर्खियां बटोर रही है. एक टिप्पणी के अनुसार इन चुनावी नतीजों से अम्मा और दीदी के साथ परिवार (संघ परिवार) में भी सभी खुश हैं. सोशल मीडिया पर आज हैशटैग ‘वर्डिक्ट-2016’ (जनादेश- 2016) सुबह से शाम तक ट्रेंडिंग लिस्ट में शीर्ष पर रहा.

स्वाति झा | fb/swati.jha.37853734

अम्मा खुश हैं, दीदी खुश हैं, पूरा परिवार (संघ) खुश है, बस भैया दुखी हैं.

विकास योगी | @vikaskyogi

जहां विकल्प नहीं है वहां बीजेपी कांग्रेस को पछाड़ रही है. जहां विकल्प हैं वहां लोग बीजेपी कांग्रेस दोनों को पछाड़ रहे हैं, उदाहरण - बंगाल.

इंडियन हिस्ट्री पिक्स | @IndiaHistorypic

1984 में ममता बनर्जी.

चंचल शर्मा | ‏@chanchalwrites

बात ये नहीं कि लोग भाजपा को चाहते हैं, मुद्दा है कि लोग कांग्रेस से चिढ़ते हैं. भाजपा का कमल वहीं खिलता है जहां लोग कांग्रेस का हाथ मरोड़ते हैं.

अभय तिवारी | @AbhayIndia

कांग्रेस समर्थक इस हार पर विचलित और भाजपा समर्थक एक जीत पर अभिमानित ना हों...कांग्रेस ने कुछ खोया जरूर है पर भाजपा ने भी सबकुछ नहीं पाया है.

द फ्रस्टेटेड इंडियन | @FrustIndian

कांग्रेस अब सिर्फ छह राज्यों में बची है. मुझे लगता है कि अब उन्हें ऋतिक रोशन की हथेली को अपने चुनाव चिन्ह के रूप में इस्तेमाल करना चाहिए.