नागरिक उड्डयन मंत्री पी अशोक गजपति राजू ने हवाई किराए पर प्रस्तावित नए नियमों की घोषणा की है. माना जा रहा है कि यदि ये नियम लागू होते हैं तो यात्रियों को भारी राहत मिलेगी. नए किराया नियमों के मुताबिक अब यदि कोई एयरलाइन ओवर-बुकिंग के चलते यात्री को पहले से बुक की गई टिकट पर सीट देने में असमर्थ रहती है तो उसे यात्री को 20 हजार तक हर्जाना देना होगा.

उड्डयन मंत्रालय द्वारा घोषित नए नियमों के हिसाब से यदि टिकट रद्द करवाई गई है तो रिफंड की गई राशि में अब कर और एयरपोर्ट फीस भी शामिल होगी. इसके अलावा यदि अपने प्रस्थान समय से 24 घंटे के भीतर फ्लाइट रद्द होती है तो एयरलाइन कंपनी को यात्रियों को 10 हजार रुपये तक हर्जाना देना पड़ सकता है.

नए नियमों के हिसाब से अब सभी तरह के किराए के साथ-साथ स्पेशल और प्रोमोशनल टिकटों पर भी रिफंड की सुविधा होगी. शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्तियों के लिए हवाई यात्रा सुविधाजनक बनाने के लिए भी कुछ प्रावधान प्रस्तावित हैं.

एयरलाइन कंपनियों की बैगेज नीति भी इन नियमों से बदली जा सकती है. कंपनियां लंबे समय से फ्री बैगेज नीति को खत्म करने की मांग कर रही थीं लेकिन मंत्रालय ने इस मांग को खारिज करते हुए इस मुद्दे पर यात्रियों को और सहूलियत दे दी है. अभी तक 15 किलो से ज्यादा सामान होने पर एयरलाइन कंपनियां अपने हिसाब से प्रति किलो सामान पर किराया वसूलती थीं. नए नियमों के हिसाब से अब प्रति किलो सामान पर 100 रुपये से ज्यादा किराया नहीं लिया जा सकता.

इस मौके पर गजपति राजू ने कहा है, ‘इन नियमों के केंद्र में हवाईयात्री हैं और इन्हें बनाते समय हमने यात्रियों के हितों को ध्यान में रखा है.’

मंत्रालय ने इन प्रस्तावित नियमों पर जनता और सभी संबंधित पक्षों से राय मांगी है और इसके बाद ही इनको लागू किया जाएगा.

साइना नेहवाल ऑस्ट्रेलियाई ओपन के फाइनल में पहुंची, के श्रीकांत टूर्नामेंट से बाहर हुए

दूसरी वरीयता रखने वाली वांग यीहान को हराकर साइना नेहवाल ने ऑस्ट्रेलियाई ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. वहीं दूसरी ओर पुरुषों के सेमीफाइनल मुकाबले में भारत के शटलर के श्रीकांत को हार का सामना करना पड़ा है.

साइना की इस जीत से जुड़ी सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि वांग के खिलाफ उनका अबतक का रिकॉर्ड प्रभावशाली नहीं रहा है. इस मुकाबले के पहले दोनों 15 बार एक एक दूसरे के आमने-सामने आ चुके थे और इनमें 11 बार वांग जीती थीं.

साइना ने सेमीफाइनल मुकाबले में अपने चीनी प्रतिद्वंदी को 21-8 और 21-12 के जबर्दस्त स्कोर से हराया है. रियो ओलंपिक के पहले साइना की यह सफलता इसलिए भी खास है क्योंकि वांग ने 2011 में विश्व चैंपियनशिप जीती थी वहीं 2012 के ओलंपिक खेलों में उन्हें रजत पदक मिला था.

फाइनल में साइना का मुकाबला विश्व की 12वीं वरीयता प्राप्त चीनी खिलाड़ी सुन यू से होगा. 2014 में साइना ने सुन को हराकर ही ऑस्ट्रेलियाई ओपन जीता था.

वहीं पुरुषों के सेमीफानल मुकाबले में भारतीय शटलर श्रीकांत ने अपने विरोधी डेनमार्क के हैंस-क्रिस्टियन विटिंघस को कड़ी टक्कर दी थी लेकिन आखिरी समय में वे दबाव नहीं झेल पाए और मैच गवां बैठे. विटिंघस ने यह मैच 22-20 और 21-13 स्कोर से जीता है.