आम आदमी पार्टी के विधायक दिनेश मोहनिया को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. यह गिरफ्तारी तब हुई जब वे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे. मोहनिया पर एक बुजुर्ग व्यक्ति को थप्पड़ मारने का आरोप है. इस गिरफ्तारी के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में आपातकाल घोषित कर दिया है. सोशल मीडिया पर मोहनिया की गिरफ्तारी आज चर्चा में है. लोगों ने मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि केजरीवाल और मोदी अब एक जैसी राजनीति कर रहे हैं और जिसके पास ज्यादा शक्ति है उसका पलड़ा भारी है. यहां पर आई एक टिप्पणी के अनुसार एनएसजी में सदस्यता न मिलने की असफलता से ध्यान हटाने के लिए केंद्र सरकार को कुछ तो करना ही था और केजरीवाल सबसे सही निशाना हैं. सोशल मीडिया पर आज हैशटैग ‘इमरजेंसी इन डेल्ही (दिल्ली में आपातकाल)’ ट्रेंड करता रहा.

आज ही के दिन 1975 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल की घोषणा की थी. सोशल मीडिया पर आज लोग आपातकाल से जुड़े किस्से और तस्वीरें शेयर करते दिखाई दिए. यहां पर कुछ टिप्पणियां में 41 साल पहले लगे आपातकाल के समय हुई घटनाओं और आज के माहौल के बीच तुलना की गई है. 1983 में आज के ही दिन भारत ने पहली बार क्रिकेट विश्वकप जीता था. इसका जिक्र भी आज सोशल मीडिया पर हुआ. यहां आ रही प्रतिक्रियाओं में आज के दिन को भारतीय इतिहास का सबसे अजीब संयोग वाला स्याह-सफ़ेद दिन कहा जा रहा है.

सोशल मीडिया पर भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा आज आमने-सामने आ गए हैं. यहां सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री को सलाह देते हुए एक टिप्पणी की थी कि उन्हें अपने मंत्रियों को पारंपरिक लेकिन आधुनिक कपड़े पहनने के निर्देश देने चाहिए क्योंकि वे कोट और टाई में वेटर की तरह दिखते हैं. रॉबर्ट वाड्रा ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए स्वामी को वर्गभेद मानने वाला व्यक्ति बताते हुए कहा कि क्या वेटर का कोई सम्मान नहीं होता और स्वामी उन्हें नीचा क्यों दिखाना चाह रहे हैं. वाड्रा की प्रतिक्रिया पर स्वामी ने एक तल्ख़ ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने कहा है कि वाड्रा को राजनीतिक टिप्पणियां करने के बजाय खुद को जेल से बाहर रखने की कोशिशों पर ध्यान लगाना चाहिए. सोशल मीडिया पर वाड्रा बनाम स्वामी विवाद आज चर्चा में रहा. लोगों ने वाड्रा को सलाह देते हुए कहा कि अगर उन्हें बुरे दिन बुलाने हों तो ही वे स्वामी से उलझें.

योगेंद्र यादव | @_YogendraYadav

दिल्ली सरकार के लिए सवाल : अगर महेश गिरी और एलजी को सिफारिशी पत्र लिखने के लिए गिरफ्तार किया जाना चाहिए तो फिर उन विधायकों के साथ क्या किया जाना चाहिए जो लोगों से बदसलूकी करते हैं और उन्हें थप्पड़ मारते हैं.

राजदीप सरदेसाई | @sardesairajdeep

25 जून हमारे इतिहास में : लोकतंत्र के लिए सबसे काला दिन और भारतीय क्रिकेट के लिए सबसे सुनहरा दिन.

सुषमा स्वराज | @SushmaSwaraj

25 जून : आपातकाल के खिलाफ आन्दोलन का नेतृत्व करने वाले जेपी (जयप्रकाश नारायण) के साथ मैं और स्वराज कौशल. 40 साल पहले, उनके घर पर.

बना दे चंबल | @kamleshksingh

जैसा कहा गया वैसा करने के लिए दिल्ली पुलिस को पूरे-पूरे अंक. बहुत ही रचनात्मक गिरफ्तारी हुई आज. इस तरह की पारदर्शिता लोगों को लंबे समय तक मनोरंजन देगी.

स्वाति झा | fb/swati.jha.37853734

पार्टी कोई भी हो, भारतीय राजनीति में आपातकाल भक्तिकाल के बाद ही आता है.

अनुभव पोद्दार | @AnubhavPoddar

रॉबर्ट वाड्रा अरुण जेटली के लिए सुब्रमण्यम स्वामी से पंगा ले रहे हैं? आखिरकार, सबको अपनी संपत्ति की रक्षा करने का अधिकार है. गेम ऑफ़ थ्रोन्स!

विकास योगी | @vikaskyogi

याद है 25 जून 1975 को इंदिरा गांधी ने आपातकाल घोषित किया था! आज 25 जून है, 41 साल बाद आज मोदी जी ने दिल्ली में आपातकाल लगा दिया है. #इमरजेंसी इन दिल्ली