गुजरात में कथित गौरक्षकों के द्वारा दलित युवकों की पिटाई के मामले पर बवाल बढ़ता जा रहा है. इस मामले को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शनों के दौरान दो लोगों की मौत हो गई है. मरने वालों में एक कांस्टेबल हैं जो मंगलवार को अमरेली जिले में हुए प्रदर्शन में घायल हुआ था. जबकि दूसरा एक दलित प्रदर्शनकारी है जिसने सोमवार को जहर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की थी.

बीते 11 जुलाई को गुजरात के उना जिले के एक गांव में कुछ लोगों ने गौहत्या के आरोप में चार दलित युवकों को कार के पीछे बांधकर उनकी पिटाई की थी. इस घटना का वीडियो ऑनलाइन पोस्ट होने के बाद पूरे राज्य में प्रदर्शन शुरू हो गए थे. खबरो के मुताबिक इस घटना के विरोध में राज्य में अब तक 15 युवक ज़हर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश कर चुके हैं. मंगलवार को भी राज्य के गोंडल, राजकोट, जूनागढ़ और अमरेली जिलों में हिंसक प्रदर्शन हुए जिसमें प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया.

वहीं, बवाल बढ़ने के बाद हरकत में आईं राज्य की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने इस मामले की सीआईडी जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने दलित युवाओं से आत्महत्या की कोशिशें न करने की अपील की है. मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया है कि इस मामले में 16 लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है. इसके अलावा राज्य सरकार ने पीड़ित युवकों को एक लाख मुआवजे के रूप में देने का भी ऐलान किया है.

कश्मीर हिंसा : तीन लोगों की मौत पर सेना ने माफ़ी मांगी

भारतीय सेना ने सोमवार को दक्षिण कश्मीर के काजीगुंड में सेना की फ़ायरिंग में तीन लोगों के मारे जाने पर माफी मांगी है. सोमवार को काजीगुंड में सेना ने प्रदर्शन कर रही भीड़ पर गोलियां चलाई थीं जिसमें तीन की मौत हो गई थी और छह लोग जख्मी हो गए थे. मरने वालों में दो महिलाएं भी शामिल थीं.

मंगलवार को सेना के प्रवक्ता ने कहा, 'हमें लोगों की मौत का अफसोस है लेकिन कई बार चेतावनी देने के बाद सुरक्षाबल गोलियां चलाने को मजबूर हो गए थे, क्योंकि भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया था और लोग सैनिकों के हथियार तक छीनने की कोशिश करने लगे थे.'

प्रवक्ता के मुताबिक़ इस घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. कश्मीर में आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद शुरू हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या बढकर 42 हो गई है.

दिल्ली में घूस लेते पकड़े गए आईएएस अधिकारी की पत्नी और बेटी ने खुदखुशी की

दिल्ली में शनिवार को घूस लेते पकड़े गए कॉरपोरेट मामलों के महानिदेशक बीके बंसल की पत्नी और बेटी ने मंगलवार सुबह आत्महत्या कर ली. पुलिस के मुताबिक बंसल की पत्नी सत्याबाला और 27 वर्षीय बेटी नेहा ने अलग-अलग कमरों फांसी लगाकर जान दे दी. पुलिस को दोनों शवों के पास से सुइसाइड लेटर मिले हैं जिनमें आत्महत्या के लिए किसी और को जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है. पुलिस बंसल के रिश्वत लेते पकड़े जाने को ही दोनों की आत्महत्या का कारण मान रही है.

इससे पहले शनिवार को सीबीआई ने बीके बंसल को 9 लाख रुपये की घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था. बंसल पर आरोप है कि उन्होंने एक निजी कंपनी को फायदा पहुंचाने की नीयत से 20 लाख की रिश्वत मांगी थी. शनिवार को वे इसी रकम की पहली किस्त नौ लाख रुपये ले रहे थे. सीबीआई ने इस मामले में निजी कंपनी के अधिकारी को भी गिरफ्तार किया था.