पाकिस्तान के सिंध प्रांत में कुरान के अपमान का मामला सामने आने के बाद सांप्रदायिक तनाव फैल गया है. मंगलवार को घोटकी जिले में एक मस्जिद के बाहर कुरान के कुछ अधजले पन्ने मिले थे जिसके बाद पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार भी किया था. स्थानीय अखबार डॉन के मुताबिक बुधवार को हालात बिगड़ गए और एक भीड़ ने मीरपुर मथेलो कस्बे में दो हिंदू युवकों को गोली मार दी. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मसूद अहमद बांगश ने बताया कि इनमें से एक युवक दीवान सतीश कुमार की मौत हो गई है जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल है. उन्होंने कहा कि तनावग्रस्त इलाकों में पुलिस और रेंजर्स को तैनात कर शांति बहाल करने की कोशिश की जा रही है.

डॉन के मुताबिक स्थानीय लोगों का कहना है कि अमृत लाल नाम के जिस शख्स पर कुरान का अपमान करने का शक है, वह नशे का आदी था और उनसे कुछ महीने पहले ही इस्लाम धर्म स्वीकार कर लिया था. इसके बाद से वह गुदड़ी मस्जिद में ही रहने लगा था जिसके बाहर कुरान के अधजले पन्ने मिले थे. बताया यह भी जा रहा है कि उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं है. खबरों के मुताबिक पुलिस और अन्य एजेंसियों ने दंगा फैलाने के आरोप में अब तक 150 से ज्यादा गिरफ्तारियां की हैं. सुरक्षा के मद्देनजर सभी संवेदनशील इलाकों में भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है.

हिलेरी क्लिंटन अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन जीतने वाली पहली महिला बनीं

अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी ने हिलेरी क्लिंटन को राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपना आधिकारिक उम्मीदवार घोषित कर दिया है. फिलाडेल्फिया में चल रहे डेमोक्रेटिक नेशनल कनवेंशन में उनके नाम की घोषणा की गई. आठ नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में उनका मुकाबला रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप से होगा.

अपने नाम की आधिकारिक घोषणा होने के बाद हिलेरी क्लिंटन ने कहा, ‘अगर बाहर कोई लड़की इतनी देर तक यह देखने के लिए रुकी हो तो मैं उससे बस इतना ही कहना चाहूंगी कि मैं पहली महिला राष्ट्रपति बन सकती हूं और नहीं भी, लेकिन आप में से कोई एक अगली राष्ट्रपति बनेगी.’ सम्मेलन में उनके पति और पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने कहा, ‘हिलेरी अवसरों को हासिल करने और हमारे सामने आने वाले जोखिम को दूर करने की विशेष योग्यता रखती हैं. जितना मैं जानता हूं, वे बड़े बदलाव करने में सक्षम हैं.’ कनवेंशन में प्रतिनिधियों ने कहा कि किसी महिला का चुनाव अमेरिका के 240 साल के इतिहास में मील का पत्थर है. अमेरिका में महिलाओं को 1920 में वोट देने का अधिकार मिला था.

सीरिया में दो बम विस्फोट, कम से कम 31 की मौत, आईएस ने जिम्मेदारी ली

सीरिया में बुधवार को हुए दो बम धमाकों में कम से कम 31 लोग मारे गए और 170 से ज्यादा लोग घायल हो गए. स्टेट टेलीविजन के हवाले से समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने कहा है कि तुर्की की सीमा के नजदीक बसे कमीशली शहर में हुए इन धमाकों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ली है. ब्रिटेन स्थित सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स (एसओएचआर) ने भी बम धमाकों की पुष्टि की है. हालांकि उसने मृतकों की संख्या 14 बताई है.

रिपोर्ट के मुताबिक पहला धमाका कुर्द प्रशासन के सुरक्षा मुख्यालय के नजदीक हुआ जिसका हसाका प्रांत पर कब्जा है. दूसरा धमाका इतना जोरदार था कि सीमा पार स्थित तुर्की शहर नुसयबिन में भी खिड़कियों के शीशे टूट गए और वहां पर दो लोग घायल हो गए. आईएस पहले भी कुर्द लड़ाकों और उनके गठबंधन को निशाना बनाकर हमले कर चुका है.