‘भारत को कोहिनूर लौटाने का कोई कानूनी आधार ही नहीं है.’

— आलोक शर्मा, ब्रिटेन के एशिया और प्रशांत मामलों के मंत्री

आलोक शर्मा का यह बयान कोहिनूर को भारत को लौटाने की मांग पर आया. भारत दौरे पर आए शर्मा ने कहा कि ब्रिटेन की सरकार काफी लंबे समय से इस बात को दोहरा रही है कि इस मांग के पीछे कोई कानूनी आधार नहीं है. इससे पहले 2013 में ब्रिटेन इसे वापस करने की मांग खारिज कर चुका है. सुप्रीम कोर्ट में इससे जुड़े एक मामले में कुछ महीने पहले केंद्र ने कहा था कि कोहिनूर को सौहार्द्रपूर्ण ढंग से वापस लाने की कोशिश की जाएगी. 105 कैरेट का कोहिनूर ईस्ट इंडिया कंपनी को 1849 में पंजाब के महाराजा रणजीत सिंह से मिला था जिसे बाद में महारानी विक्टोरिया को उपहार में दे दिया गया था.

‘पीएम मोदी बौखला गए हैं, वे मुझे मरवा भी सकते हैं.’

— अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के मुख्यमंत्री

केजरीवाल का यह बयान दिल्ली में आप विधायकों की हो रही गिरफ्तारी को लेकर आया. सोशल मीडिया पर जारी एक वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके सहयोगियों पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार अपने चुनावी वादों को पूरा करने में विफल हो रही है और दिल्ली सरकार अपने वादों को पूरा करने में सफल हो रही है जिसे देखकर वे लोग बौखला गए हैं. विधायकों की गिरफ्तारी को उन्होंने केंद्र का दमन चक्र बताया है. दिल्ली में अब तक दस आप विधायकों की गिरफ्तारी हो चुकी है.


‘दुर्भाग्य से समान नागरिक संहिता आरएसएस के विचारों को थोपने का जरिया बन गई है.’

— जयराम रमेश, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

जयराम रमेश का यह बयान देश में समान नागरिक संहिता लागू करने की केंद्र सरकार की कोशिशों पर आया. उन्होंने कहा, ‘महिला और पुरुष के बीच विवाह, तलाक और उत्तराधिकार को लेकर किसी भी तरह का अंतर नहीं होना चाहिए. जब ये बुनियादी सिद्धांत लागू हो जाएं तो आप इस दिशा में आगे बढ़ सकते हैं.’ राज्यसभा सांसद ने कहा कि समान नागरिक संहिता की मांग हिंदू पर्सनल लॉ को थोपने का आवरण है जो मूल रूप से महिला विरोधी है. पिछले महीने विधि मंत्रालय ने विधि आयोग से समान नागरिक संहिता को लागू करने की संभावना पर रिपोर्ट देने के लिए कहा है.


‘केंद्र ने जम्मू-कश्मीर सरकार से विस्थापितों के पुनर्वास के लिए जमीन देने के लिए कहा है.’

— हंसराज गंगाराम अहीर, गृह राज्यमंत्री

हंसराज अहीर का यह बयान राज्यसभा में विस्थापित कश्मीर पंडितों के पुनर्वास से जुड़े सवाल पर आया. उन्होंने कहा कि 2004 में तत्कालीन प्रधानमंत्री द्वारा घोषित पैकेज के तहत विस्थापित कश्मीरी पंडितों को जम्मू में चार जगहों पर किराए पर दो-दो कमरों वाले मकान और बडगाम के शेखपुरा में 2,000 फ्लैट दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि 2008 के पुनर्वास पैकेज के तहत विस्थापितों को 3,000 नौकरियां देने के अलावा कश्मीर में घर बनाने के लिए वित्तीय सहायता की घोषणा भी की गई है. पिछले महीने कश्मीरी पंडितों को वापस बसाने के मुद्दे पर विधानसभा में जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि उन्हें बाइज्जत वापस लाया जाएगा.