आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर पर जम्मू-कश्मीर के उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता डॉ निर्मल सिंह ने भी महबूबा मुफ़्ती के सुर में सुर मिलाया है. समाचार वेबसाइट इंडिया टुडे के अनुसार निर्मल सिंह ने शुक्रवार को कटरा में कहा कि बुरहान वानी का एनकाउंटर एक दुर्घटना (एक्सीडेंटल) थी और सुरक्षा बलों को घटना वाली जगह पर बुरहान वानी की मौजूदगी की खबर नहीं थी.

उपमुख्यमंत्री के अनुसार इस एनकाउंटर से पहले सुरक्षा बलों ने उन्हें तीन आतंकियों के होने की सूचना दी थी, लेकिन वे आतंकियों की पहचान के बारे में नहीं जानते थे. निर्मल सिंह के मुताबिक अगर सुरक्षाबलों को पहले से घटना वाली जगह पर बुरहान की मौजूदगी का पता होता तो वे इस मामले में ऐहतियात बरतते.

हालांकि, इस दौरान उपमुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि आतंकियों के खिलाफ ऐसे ऑपरेशन आगे भी जारी रहेंगे और अगर कोई आतंकी सरेंडर नहीं करता है तो उनसे निपटने का यही तरीका होता है.

इससे पहले गुरूवार को श्रीनगर में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि अगर सरकार और सुरक्षा एजेंसियों को एनकाउंटर में बुरहान के फंसे होने की खबर होती तो सरकार उसे एक मौका दे सकती थी.

'पीपली लाइव' के सह निर्देशक महमूद फारूख़ी दुष्कर्म मामले में दोषी करार

दिल्ली की एक विशेष अदालत ने 2010 की हिन्दी फिल्म 'पीपली लाइव' के सह निर्देशक महमूद फारुखी को एक अमेरिकी शोध छात्रा के साथ दुष्कर्म के मामले में दोषी करार दिया है. अदालत इस मामले में 2 अगस्त को सजा पर बहस के बाद अपना फैसला सुनाएगी.

दिल्ली पुलिस ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि 35 वर्षीय पीडिता 2015 में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के एक विश्वविद्यालय में शोध कार्य के लिए आई थी. इस दौरान एक कॉमन फ्रेंड के जरिये उसकी मुलाकात महमूद फारुखी से हुई थी. छात्रा के मुताबिक इसके बाद 28 मार्च 2015 को निर्देशक ने अपने दिल्ली के सुखदेव विहार स्थित घर पर उसके साथ बलात्कार किया. उसने पुलिस को ये भी बताया था कि घटना के दौरान फारुखी काफी नशे में थे.

खबरों के अनुसार इस घटना के बाद पीड़िता अमेरिका वापस चली गई थी. लेकिन, इसके बाद उसने अमेरिकी राजनयिकों के माध्यम से दिल्ली पुलिस से संपर्क किया और 19 जून को महमूद फारुखी के खिलाफ एक औपचारिक शिकायत दर्ज कराई थी.

उत्‍तराखंड के भाजपा नेता हरक सिंह रावत पर बलात्कार का मामला दर्ज

उत्‍तराखंड के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता हरक सिंह रावत पर एक महिला ने बलात्कार का आरोप लगाया है. 32 वर्षीय इस महिला ने शुक्रवार को दिल्ली के सफदरजंग थाने में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. पुलिस के अनुसार महिला का कहना है कि रावत ने दिल्ली के ग्रीन पार्क इलाके में स्थित अपने घर में उसके साथ बलात्कार किया और वे लंबे समय से उसका शोषण भी कर रहे थे.

पुलिस के मुताबिक वह आरोपों की जांच के बाद रावत पर कार्रवाई करेगी. हरक सिंह रावत पर इससे पहले भी कई बार ऐसे आरोप लग चुके हैं. उन पर साल 2003 में बलात्कार का आरोप लगा था जिसके चलते उन्‍हें मंत्री पद छोड़ना पड़ा था. इसके बाद साल 2014 में भी उन के खिलाफ एक महिला ने छेड़छाड़ का मामला दर्ज करवाया था. हरक सिंह रावत उत्‍तराखंड में कांग्रेस की हरीश रावत सरकार में मंत्री थे. पिछले दिनों वे बगावत कर भाजपा में चले गए थे.