उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के पास सामूहिक बलात्कार की शिकार लड़की, उसकी मां और पिता ने आत्महत्या की धमकी दी है. मंगलवार को हादसे की शिकार नाबालिग पीड़िता के पिता ने मीडिया से कहा, 'बदमाशों ने मेरी बेटी और पत्नी के साथ जो किया उससे खौफनाक और कुछ नहीं हो सकता...अगर आरोपियों को अगले तीन महीने में सजा नहीं हुई तो हम तीनों खुदकुशी कर लेंगे.'

बीते शुक्रवार की रात नोएडा से शाहजहांपुर जा रहे इस परिवार की गाड़ी को बदमाशों ने बुलंदशहर के पास रोककर इनके साथ लूटपाट की थी. उन्होंने इस दौरान 13 वर्षीय बच्ची और उसकी मां के साथ कथित रूप से बलात्कार भी किया था.

इस घटना के बाद हरकत में आई उत्तर प्रदेश सरकार ने बुलंदशहर के एसएसपी, एसपी और सीओ सिटी सहित कई पुलिस अधिकारियों को लापहरवाही करने के आरोप में सस्पेंड कर दिया था. पुलिस ने इस मामले में सोमवार को तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था, जबकि 50 से ज्यादा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. पुलिस इस घटना में कुख्यात बावरिया गिरोह का हाथ होने की बात कह रही है.

बुखार के कारण वाराणसी दौरा बीच में छोड़ सोनिया गांधी दिल्ली वापस लौटीं

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तेज बुखार के कारण वाराणसी में अपना रोड शो पूरा नहीं कर पाईं. खबरों के अनुसार कांग्रेस अध्यक्ष ने मंगलवार सुबह शहर के सर्किट हाउस से रोड शो की शुरुआत की थी. लेकिन, रास्ते में ही उन्होंने अपनी तबियत खराब होने की शिकायत की जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें तेज बुखार होने की बात कहते हुए आराम करने की सलाह दी. इसके बाद उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर जाकर पूजा-अर्चना करने और एक रैली को संबोधित करने का कार्यक्रम रद्द कर दिया.

मीडिया में आई रिपोर्ट के अनुसार वे देर रात विशेष विमान से वाराणसी से दिल्ली लौट आई हैं. सोनिया गांधी ने दौरा पूरा न हो पाने पर अफसोस जताते हुए कहा है कि वे जल्द ही फिर वाराणसी आएंगी. उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को फोन करके सोनिया गांधी का हालचाल पूछा. इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कांग्रेस अध्यक्ष के जल्द स्वस्थ होने की कामना भी की थी.

पश्चिम बंगाल का नाम बदलने का प्रस्ताव, ममता ने विशेष सत्र बुलाया

पश्चिम बंगाल का नाम जल्द ही बदल सकता है. मंगलवार को राज्य के संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी ने मीडिया को बताया, 'हमने पश्चिम बंगाल का नाम फिर से अंग्रेजी में 'बंगाल' और बंगाली में 'बंग' या 'बांग्ला' रखने का प्रस्ताव किया है. इसके लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया जाएगा. 29 व 30 अगस्त को सदन में इस पर चर्चा होगी और हम सभी दलों से इसे स्वीकार करने का आग्रह करेंगे जिसके बाद इसे केंद्र सरकार को भेजा जाएगा.'

उन्होंने यह भी बताया कि यह कोई नई मांग नहीं है और इसकी वजह अंग्रेजी की वर्णमाला है. राज्य के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार जब सभी राज्यों के सम्मेलन आयोजित होते हैं तो उसमें पश्चिम बंगाल के वक्ताओं को काफी देर से बोलने का मौका मिलता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इन सम्मेलनों में वक्ताओं को अंग्रेजी की वर्णमाला के क्रम में बोलने के लिए बुलाया जाता है. इस वजह से उन्हें अपने विचारों को रखने के लिए अक्सर काफी कम वक्त मिल पाता है और उस वक्त वे काफी थके हुए भी होते हैं.

राज्य सरकार इससे पहले साल 2011 में भी राज्य का नाम बदलने का प्रयास कर चुकी है लेकिन तब उसे केंद्र से इसकी अनुमति नहीं मिल पाई थी.