‘स्कूलों में उर्दू को अनिवार्य बनाने का कोई प्रस्ताव नहीं है.’ 

— प्रकाश जावड़ेकर, मानव संसाधन विकास मंत्री

जावड़ेकर का यह बयान राज्यसभा में उर्दू भाषा को बढ़ावा देने की सरकारी नीति पर आया. उर्दू को समुदाय विशेष की भाषा मानने से इंकार करते हुए उन्होंने कहा कि एक से बारहवीं तक की किताबों के अलावा बीएड की किताबें उर्दू में दी जा रही हैं. जावड़ेकर ने कहा कि त्रिभाषा सूत्र का मुख्य उद्देश्य स्कूली शिक्षा में तीन भाषाओं को पढ़ने की सुविधा देना और भाषाओं के मेलजोल और समानता को बढ़ाना है. त्रिभाषा सूत्र में प्राथमिक स्तर पर मातृ भाषा, माध्यमिक स्तर पर मातृ भाषा व संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल भाषा और उच्चतर स्तर पर एक विदेशी भाषा में शिक्षा देने का नियम है.

‘आतंकवाद अच्छा या बुरा नहीं होता, वह सिर्फ आतंकवाद होता है.’

— राजनाथ सिंह, गृहमंत्री

राजनाथ सिंह का यह बयान पाकिस्तान में आयोजित सार्क देशों के गृहमंत्रियों के सम्मेलन में आया. कश्मीर में पाक समर्थित आतंकवाद को लेकर उन्होंने कहा कि केवल आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होनी चाहिए, बल्कि इसका समर्थन करने वाले व्यक्तियों, संगठनों और देशों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए. पाकिस्तान का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि आतंकवादियों का महिमामंडन नहीं किया जाना चाहिए और न ही उन्हें शहीद का दर्जा देना चाहिए. पिछले दिनों पाक के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कश्मीर में मारे गए हिजबुल कमांडर बुरहान वानी को शहीद बताया था.


‘हाईकोर्ट का फैसला न तो नजीब जंग की जीत है और न ही अरविंद केजरीवाल की हार.’

— नजीब जंग, दिल्ली के उप राज्यपाल

नजीब जंग का यह बयान राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में उपराज्यपाल को शीर्ष प्राधिकारी बताने वाले दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर आया. उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट का फैसला संवैधानिक प्रावधानों के आधार पर एक तरह का स्पष्टीकरण है ताकि गलत चीजों को सुधारा जा सके. दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के आरोपों को लेकर उन्होंने कहा, ‘मेरे डीएनए में ऐसा कुछ है कि मुझ पर अभद्र भाषा का असर नहीं पड़ता.’ गुरुवार को हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार की उस याचिका को भी खारिज कर दिया, जिसमें दिल्ली में अधिकारियों की नियुक्ति में उपराज्यपाल को अंतिम अधिकार देने वाले केंद्र के नोटिफिकेशन को चुनौती दी गई थी.


‘आईएस की संस्थापक के रूप में उन्हें (हिलेरी को) पुरस्कार मिलना चाहिए.’

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका में राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार

ट्रंप ने यह बात डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को लेकर कही. फ्लोरिडा में आयोजित एक रैली में आतंकी हमले को लेकर उन्होंने कहा, ‘ऑरलैंडो को देखो. सैन बर्नार्डिनो और वर्ल्ड ट्रेड सेंटर को देखो. यह भी देखो कि उस समय और उसके बाद पूरी दुनिया में क्या हुआ. हमने आईएसआईएस को पनपने का मौका दिया है.’ ट्रंप ने कहा कि हिलेरी से हारना उनके लिए शर्मिंदगी की बात होगी. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में तीखे आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर चल रहा है. हालांकि, पहले चुनाव पूर्व सर्वेक्षण में ट्रंप व्हाइट हाउस की दौड़ में क्लिंटन से पिछड़ते दिख रहे हैं.