1. आईएस ने बुर्के पर प्रतिबंध लगाया : आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने मोसुल में सुरक्षा केंद्रों के आसपास बुर्के पर प्रतिबंध लगा दिया है. इंटरनेशनल बिजनेस टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले हफ्ते बुर्के में आए हमलावरों ने दो जगहों पर आईएस के लड़ाकों को निशाना बनाया था. इराकी न्यूज नेटवर्क के मुताबिक अल-शिराकत चेक पोस्ट पर हुए ऐसे ही एक हमले में इस्लामिक स्टेट के दो लड़ाके मारे गए थे. एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक मोसुल में केवल उन्हीं महिलाओं को इमारतों में प्रवेश दिया जाएगा, जिन्होंने बुर्का नहीं पहना होगा. इससे पहले इस्लामिक स्टेट ने महिलाओं के लिए सभी सार्वजनिक जगहों पर बुर्का पहनना अनिवार्य कर दिया था.

2. कावेरी नदी जल विवाद : सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश के खिलाफ कर्नाटक में प्रदर्शन : कावेरी नदी जल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश के खिलाफ कर्नाटक में प्रदर्शन शुरू हो गया है. कावेरी होराता समिति ने सोमवार को राज्य के मांड्य जिले में बंद की अपील की थी. इसके बाद समिति के कार्यकर्ताओं और किसानों ने श्रीरंगपट्टनम तहसील में प्रदर्शन किया है. राज्य सरकार ने हालात पर निगरानी रखने के लिए लगभग 2400 पुलिसकर्मी तैनात किए हैं. मांड्य बेंगलुरू से 100 किमी. दूर है जहां के किसान कावेरी नदी जल के बंटवारे के खिलाफ हैं. किसानों ने तमिलनाडु को पानी दिए जाने की सूरत में उग्र प्रदर्शन की चेतावनी दी है. एएनआई के मुताबिक कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कावेरी नदी जल विवाद और सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है.

3. फिलीपींस के राष्ट्रपति की अभद्र टिप्पणी के बाद ओबामा ने उनके साथ बैठक रद्द की : अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते की मंगलवार को प्रस्तावित बैठक रद्द हो गई है. यह फैसला दुर्तेते द्वारा ओबामा के लिए अपशब्द इस्तेमाल किए जाने के बाद किया गया. व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता नेड प्राइस ने मुलाकात रद्द किए जाने की पुष्टि की है. उन्होंने कहा है कि दुतेर्ते की अभद्र टिप्पणी को देखते हुए अब दोनों नेताओं की लाओस में मुलाकात नहीं होगी. लाओस में दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों के नेताओं की वार्षिक बैठक के दौरान दोनों नेताओं की अलग से मुलाकात होनी थी. सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दुतेर्ते ने ओबामा को चेताया था कि वे उन्हें फिलीपींस में ड्रग तस्करों के खिलाफ कार्रवाई और कथित गैर-न्यायिक हत्याओं के मसले पर चुनौती न दें. इसके साथ ही उन्होंने ओबामा के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल किया था.

4. बीते 11 साल में यह पहली बार है जब सुप्रीम कोर्ट में एक भी मुस्लिम जज नहीं है : समावेशिता लोकतंत्र के बुनियादी गुणधर्मों से एक होती है. इसलिए लोकतांत्रिक व्यवस्था के हर अहम पायदान पर सभी धर्मों, जातियों और क्षेत्रों के प्रतिनिधित्व का बड़ा महत्व होता है. शायद यही वजह रही है कि सुप्रीम कोर्ट में ऐसे मौके बहुत सीमित रहे हैं, जब यहां कोई मुस्लिम जज न रहा हो. इस साल तक सुप्रीम कोर्ट में दो मुस्लिम जज थे जो रिटायर हो गए हैं. द इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक बीते 11 साल में पहला और तीन दशक में दूसरा मौका है, जब सुप्रीम कोर्ट में एक भी मुस्लिम जज नहीं है. सुप्रीम कोर्ट में आखिरी बार 2012 में दो मुस्लिम जजों की नियुक्त की गई थी. इनमें से जस्टिस एमवाई इकबाल इस साल दो फरवरी को और जस्टिस फाकिर मोहम्मद इब्राहीम कलीफुल्ला 22 जुलाई को रिटायर हो गए.

5. राजनाथ सिंह प्रधानमंत्री से मिले, कश्मीर के ताजा हालात और आगे की रणनीति पर चर्चा : गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर उन्हें जम्मू-कश्मीर के ताजा हालात की जानकारी दी है. अपने एक ट्वीट में राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को जम्मू कश्मीर के जमीनी हालात के बारे में अवगत कराया गया. कश्मीर में पिछले दो महीने से अशांति है. इस स्थिति को सुधारने के लिए गृह मंत्री के नेतृत्व में एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल ने चार और पांच सितंबर को राज्य का दौरा किया था. प्रतिनिधिमंडल ने राज्य के लोगों और समूहों से मुलाकात कर स्थिति के बारे में जानकारी हासिल की थी. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी और राजनाथ सिंह के बीच राज्य में अशांति को खत्म करने के लिए आगे की रणनीति पर भी चर्चा हुई है. इसके अलावा राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री को बुधवार को होने वाली सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल की बैठक के बारे में भी जानकारी दी. इस बैठक में कश्मीर यात्रा के दौरान विभिन्न लोगों और समूहों से मिले सुझावों पर चर्चा की जाएगी.

6. राहुल गांधी बोले, मोदी सरकार ने उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया, किसानों का क्यों नहीं करती? : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले से मिशन यूपी का आगाज कर दिया है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिहाज से पार्टी की स्थिति मजबूत करने के लिए राहुल गांधी ने देवरिया जिले के रूद्रपुर गांव से किसान यात्रा की शुरुआत की. गांव में एक ‘खाट सभा’ को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने केंद्र और राज्य सरकार पर सत्ता में आने के बाद किसानों और मजदूरों को भूलने का आरोप लगाया. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा ‘ मोदी जी ने अपने बड़े- बड़े उद्योगपतियों के 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के कर्ज माफ किए है. ठीक है, आप बड़े लोगों का कर्ज माफ करना चाहते हैं. आप कीजिए, मगर क्यों नहीं आप किसानों का कर्ज माफ करें.’ राहुल गांधी ने राज्य में बिजली बिल की दरों में कमी की मांग भी की. उन्होंने कहा ‘बिजली के बिल से किसानों को दर्द पहुंचता है, क्यों नहीं आप बिजली बिल को आधा करें’.

7. एनएसजी का दावा, आतंकवादियों को देश के कई हिस्सों में लोगों का समर्थन हासिल है : आतंकवाद निरोधक बल राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की एक रिपोर्ट कहा गया है कि देश के कुछ हिस्सों में आतंकवादियों और उग्रवादियों को जनता का समर्थन मिल रहा है और जब तक इसे रोकने के सफल उपाय नहीं किए जाएंगे तब तक भारत आतंकी गतिविधियों से जूझता रहेगा. यह रिपोर्ट देश में पिछले कुछ समय के दौरान हुए बम धमाकों और इस साल अप्रैल से जून के बीच सभी राज्यों से लिए गए अलग-अलग आंकड़ों के आधार पर तैयार की गई है. राष्ट्रीय बम डेटा सेंटर (एनबीडीसी) की मदद से तैयार की गई इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि आतंकवादी संगठनों और कश्मीर और उत्तर-पूर्व के विद्रोहियों और नक्सलियों द्वारा आर्डिनेंस फैक्ट्रियों में बने हथियारों का इस्तेमाल किया जा रहा है.

8. कश्मीर पर भारतीय उच्चायुक्त के बयान से बौखलाए पाकिस्तान ने उनका कार्यक्रम रद्द किया : भारतीय उच्चायुक्त की ओर से मीडिया को बताया गया है कि कुछ हफ्ते पहले उन्हें कराची चैंबर्स ऑफ कामर्स की ओर से एक कार्यक्रम में शरीक होने का निमंत्रण दिया गया था. लेकिन, मंगलवार को इस कार्यक्रम के शुरू होने से करीब आधे घंटे पहले उन्हें इस कार्यक्रम में न आने को कहा गया. भारतीय अधिकारियों के अनुसार आयोजकों ने अभी तक निमंत्रण रद्द किए जाने का कोई कारण नहीं बताया है और वे इसके पीछे कश्मीर मुद्दे पर उच्चायुक्त के बयान को कारण मान रहे हैं. सोमवार को कराची काउंसिल द्वारा आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में गौतम बंबावले ने कश्मीर मुद्दे पर कहा था, 'जो लोग शीशे के घरों में रहते हों उन्हें दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं फेंकने चाहिए...यह (कश्मीर) भारत का अातंरिक मामला है. भारत और पाकिस्‍तान, दोनों देशों में परेशानियां हैं और पाकिस्तान को दूसरे देशों की समस्‍याओं में झांकने की बजाय अपनी समस्‍याओं को दूर करने पर ध्‍यान देना चाहिए.'