पाकिस्तान के सिंध में बकरीद की नमाज के दौरान हुए दो आत्मघाती हमलों में कम से कम 13 लोग घायल हो गए हैं. इनमें पांच पुलिसकर्मी शामिल हैं. खबरों के मुताबिक ये दोनों हमले शिकारपुर जिले में हुए. पहली घटना में एक आत्मघाती हमलावर ने एक शिया मस्जिद के बाहर खुद को उड़ा लिया. इसमें दो पुलिसकर्मियों सहित दस लोग घायल हो गए. पुलिस का कहना है कि एक अन्य आत्मघाती हमलावर धमाके के बाद भाग गया.

दूसरा आत्मघाती हमला भी इसी जिले में हुआ. हालांकि पुलिस की मुस्तैदी के चलते इससे ज्यादा नुकसान नहीं हुआ. बताया जाता है कि दो आत्मघाती हमलावर एक इमामबाड़े को निशाना बनाने की फिराक में थे लेकिन, पुलिसकर्मियों ने उन्हें तलाशी के लिए गेट पर रोक लिया. इसके बाद एक हमलावर ने खुद को उड़ा लिया जबकि दूसरे को पुलिस ने पकड़ लिया. इस घटना में तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए. इसी इमामबाड़े को पिछले साल 31 जनवरी को भी निशाना बनाया गया था जब शुक्रवार की नमाज के दौरान हुए आत्मघाती हमले में शिया समुदाय के 61 से ज्यादा लोग मारे गए थे. अभी तक इन हमलों की किसी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है.

बीते एक दशक में पाकिस्तान में शिया मुस्लिमों पर हमले की घटनाएं बढ़ी हैं. पिछले साल मई में कराची में छह बंदूकधारियों ने एक बस पर हमला करके 47 शिया मुसलमानों को मार दिया था. इसके अलावा पिछले साल सिंध में ही मुहर्रम के दौरान शिया समुदाय पर आत्मघाती हमला किया गया था. इसमें 22 लोग मारे गए थे और 40 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.