‘आप विधायकों को परेशान करने की जगह दिल्ली पुलिस को महिलाओं की सुरक्षा पर ध्यान देना चाहिए.’

— मनीष सिसोदिया, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री

मनीष सिसोदिया का यह बयान दिल्ली में एक महिला की दर्दनाक हत्या पर आया. उन्होंने पूरी घटना को हैरान करने वाला बताया. मंगलवार को सुबह उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक व्यक्ति ने एक महिला की सरेराह चाकू मारकर हत्या कर दी. खबरों के मुताबिक हमलावर काफी दिनों से उसका पीछा कर रहा था. इसकी शिकायत भी पुलिस के पास दर्ज कराई गई थी. महिला अध्यापिका थी और सुबह स्कूल जाते समय उस पर हमला हुआ. घटना की सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि आसपास से गुजर रहे लोगों ने महिला को बचाने की कोई कोशिश नहीं की.

‘नेताओं के बच्चे सेना में नहीं हैं और वे खुद भी कोई त्याग नहीं करते हैं.’

— संजय राउत, शिवसेना नेता

संजय राउत का यह बयान उरी आतंकी हमले में 18 सैनिकों की शहादत के बाद केंद्र सरकार को घेरते हुए आया. मोदी सरकार की पाकिस्तान नीति पर सवाल उठाते हुए उन्होंने ने कहा, ‘जब हम विपक्ष में थे, हमारी दूसरी भाषा थी. आज हम सत्ता में हैं, कांग्रेस की तरह चर्चा करने, यूएन जाने, शांति वार्ता जैसी गलतियों को दोहरा रहे हैं.’ राउत ने कहा कि पाकिस्तान की सच्चाई उजागर करने की जरूरत नहीं है और पूरी दुनिया उसे आतंकवादी देश मानने पर राजी है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने पाकिस्तान को ठोस जवाब नहीं दिया तो देश का उनके ऊपर से भरोसा टूटने लगेगा.


‘अगर राहुल गांधी देश के प्रधानमंत्री होती तो जम्मू-कश्मीर की स्थिति न खराब होती.’

— भरत सोलंकी, गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष

भरत सोलंकी का यह बयान जम्मू-कश्मीर में पाक प्रायोजित आतंकी हमलों में बढ़ोतरी पर आया. उन्होंने जम्मू-कश्मीर की मौजूदा हालत के लिए पीडीपी-भाजपा गठबंधन को जिम्मेदार ठहराया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर निशाना साधते हुए सोलंकी ने कहा, ‘हमारे देश को इंदिरा गांधी जैसी नेता की जरूरत है.’ उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने अदम्य साहस दिखाया था और 1971 के युद्ध में बांग्लादेश को पाकिस्तान से अलग कर दिया था. रविवार को उरी हमले के बाद भारत ने कूटनीतिक प्रयासों के जरिए पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग करने का फैसला किया है.


‘रेस कोर्स रोड भारतीय संस्कृति से मेल नहीं खाता है.’

— मीनाक्षी लेखी, भाजपा सांसद

मीनाक्षी लेखी का यह बात रेस कोर्स रोड का नाम बदलने के प्रस्ताव को लेकर कही. उन्होंने कहा कि अगर इस सड़क का नाम एकात्म मार्ग रख दिया जाता है तो इससे सभी प्रधानमंत्रियों के दिमाग में समाज के अंतिम व्यक्ति का ध्यान बना रहेगा. भारतीय प्रधानमंत्री का आवास रेस कोर्स रोड पर पड़ता है. लेखी ने कहा कि इस साल पूरा देश पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्मशती मना रहा है, ऐसे में इस कदम से उनके एकात्म दर्शन को ज्यादा लोगों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी. उन्होंने एनडीएमसी को नाम बदलने का प्रस्ताव दिया है. इस पर बुधवार को फैसला आने की उम्मीद है.


‘मैं यह मध्ययुगीन व्यवहार स्वीकार नहीं करूंगा कि पुरुष स्विम सूट में तैराकी करें और महिलाएं बुर्किनीज में कैद रहें.’

— निकोलस सरकोजी, फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति

सरकोजी का यह बयान फ्रांस में बढ़ रही धार्मिक कट्टरता को लेकर आया. उत्तरी पेरिस में आयोजित एक जनसभा में उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बनने के बाद वे इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ कठोर कार्रवाई करेंगे. सरकोजी ने कहा कि अगर वे 2017 का चुनाव जीत जाते हैं तो वे राष्ट्रीय समुदाय के राष्ट्रपति होंगे, क्योंकि फ्रांस में केवल फ्रेंच समुदाय का होना ही कोई मायने रखता है. विस्थापितों को लेकर उन्होंने कहा, ‘अगर आप फ्रेंच बनना चाहते हैं, तो आपको फ्रेंच बोलनी होगी और फ्रेंच लोगों की तरह रहना होगा.’ सरकोजी 2017 के राष्ट्रपति चुनाव की दौड़ में शामिल हैं और जुलाई के आतंकी हमले के बाद उनकी चुनावी रेटिंग बढ़ गई है.