‘कुछ लोग घर में बैठे बिहार का माई-बाप बन रहे हैं.’

— नीतीश कुमार, बिहार के मुख्यमंत्री

नीतीश कुमार का यह बयान पूर्व न्यायाधीश मार्कण्डेय काटजू की टिप्पणी पर आया. काटजू ने फेसबुक पर लिखा था कि पाकिस्तान को कश्मीर के साथ-साथ बिहार भी लेना पड़ेगा. काटजू का नाम लिए बगैर नीतीश ने कहा कि कुछ लोगों को अखबारों में छपने का रोग लग गया है. उन्होंने कहा कि बिहार भगवान बुद्ध, भगवान महावीर, चाणक्य और आर्यभट्ट की धरती है. खबरों के मुताबिक जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने पटना में काटजू के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है, जिसमें उनकी टिप्पणी को बिहार के खिलाफ घृणा फैलाने वाला और राष्ट्रीय एकता को कमजोर करने वाला बताया गया है.

‘पाकिस्तानी कलाकारों को कहना चाहिए कि मैं भारतीय सैनिकों की हत्या की निंदा करता हूं.’

— अनुपम खेर, अभिनेता

अनुपम खेर का यह बयान महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना द्वारा पाकिस्तानी कलाकारों को भारत छोड़ने की चेतावनी दिए जाने पर आया है. अनुपम खेर ने कहा है, ‘पाकिस्तान में कुछ लोग बहुत अच्छे मेजबान होते हैं, लेकिन जब बात मेरे देश की या जवानों की आएगी, मैं कूटनीतिक नहीं हो पाऊंगा. मैं अपने देश को लेकर पक्षपाती हूं.’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी कलाकारों को अपने देश की नहीं, लेकिन भारतीय सैनिकों को मारने वाले आतंकियों की निंदा करनी चाहिए. उन्होंने यह भी बताया कि 2014 में पाकिस्तान में पेशावर के एक स्कूल पर आतंकी हमले के बाद उन्होंने उस घटना की निंदा की थी और आतंकियों के नाम खुला खत भी लिखा था.


‘पाकिस्तान के नेता अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत का नाम लेकर चुनौती देते हैं, जबकि भारत उसका नाम लेते हुए डरता है.’

— संजय राउत, शिवसेना नेता

संजय राउत ने यह बात संयुक्त राष्ट्र आम सभा में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण पर कही. उन्होंने कहा कि महज भाषणों से पाकिस्तान के दिमाग में कोई भय पैदा नहीं पैदा होगा, वह इससे कुछ भी नहीं सीखेगा. राउत के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को घेरने की कोशिश समय की बर्बादी है. उन्होंने कहा, ‘हमें समझना चाहिए कि पाकिस्तान एक आतंकवादी राष्ट्र है और यह केवल बातों से नहीं मानेगा.’ उन्होंने कहा कि हमें पाकिस्तान को दुनिया में अलग-थलग करने से पहले उसके साथ अपने सभी द्विपक्षीय संबंध तोड़ लेने चाहिए.


‘कांग्रेस दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के खिलाफ है.’

— दिग्विजय सिंह, कांग्रेस महासचिव

दिग्विजय सिंह का यह बयान दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की मांग पर आया. उन्होंने कहा कि यह संभव नहीं है क्योंकि इसके बाद पुलिस को भी दिल्ली सरकार को देना पड़ेगा, जो सही नहीं होगा. कांग्रेस महासचिव ने कहा कि दुनिया में कहीं भी राष्ट्रीय राजधानी का नियंत्रण राज्यों के पास नहीं है. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के पास पुलिस बल को छोड़कर सारी शक्तियां हैं, जिनके आधार पर सरकार काम कर सकती है. केजरीवाल सरकार ने पिछले दिनों दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के लिए एक विधेयक का मसौदा पेश किया था और जनता से सुझाव मांगे थे.


‘मलेशिया सरकार 1एमडीबी फंड में घोटाले की अंतरराष्ट्रीय जांच में हर संभव मदद करेगी.’

— नजीब रजाक, मलेशिया के प्रधानमंत्री

रजाक का यह बयान जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल से मुलाकात के बाद आया. उनसे 1मलेशिया डेवलेपमेंट बेरहड (1एमडीबी) में वित्तीय अनियमितता की अंतरराष्ट्रीय जांच के बारे में पूछा गया था. उन्होंने कहा कि वे भी मलेशिया में सुशासन को लेकर चिंतित हैं और अमेरिका या अन्य किसी अंतरराष्ट्रीय संस्था की जांच में पूरा सहयोग करेंगे. नजीब रजाक ने रणनीतिक संपत्तियों और ऊर्जा क्षेत्र में निवेश के लिए 1एमडीबी कोष बनाया था. हाल तक वे इसके अध्यक्ष भी रहे. लेकिन, जुलाई में अमेरिकी जांचकर्ताओं ने 1एमडीबी में 3.5 अरब डॉलर की अनियमितता का आरोप लगाया था और उसके बाद से यह मुद्दा मलेशिया सहित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोर रहा है.