साल 2016 का भौतिकी (फिजिक्स) का नोबेल पुरस्कार ब्रिटेन के तीन वैज्ञानिकों को दिया जाएगा. इन वैज्ञानिकों के नाम डेविड थूल्स, डंकन हाल्डेन और माइकल कोस्टरलिट्ज हैं. स्वीडन स्थित नोबेल फाउंडेशन ने मंगलवार को इसकी घोषणा करते हुए बताया कि इन तीनों ही वैज्ञानिकों ने पदार्थ की नई अवस्थाओं और रूपों को समझने की दिशा में काफी शानदार काम किया है.

फाउंडेशन ने अपने बयान में आगे कहा है कि इन्होंने पदार्थ से जुड़े कुछ ऐसे रहस्यों को खोजने की कोशिश की है जो अब तक समझे नहीं जा सके थे. अपने इस अध्ययन में इन वैज्ञानिकों ने पदार्थ के तमाम रूपों और गुणों को समझने के लिए उन्नत गणितीय तरीकों का भी इस्तेमाल किया है. संस्था के मुताबिक इस अध्ययन से नए पदार्थों की रचना करने में काफी मदद मिलेगी.

82 साल के डेविड थूल्स वॉशिंगटन विश्वविद्यालय में भौतिकी के प्रोफेसर रह चुके हैं. जबकि डंकन हाल्डेन 65 साल के हैं और प्रिंस्टन विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं. 73 साल के माइकल कोस्टरलिट्ज अमेरिका के ब्राउन विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं.

नोबेल फाउंडेशन के मुताबिक तीनों वैज्ञानिकों को कुल नौ लाख 60 हजार अमेरिकी डॉलर (छह करोड़ रुपये से ज्यादा) की पुरस्कार राशि दी जाएगी जिसमें से आधी रकम डेविड थूल्स को मिलेगी. इससे पहले सोमवार को जापान के वैज्ञानिक योशिनोरी ओसुमी को 2016 के चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया था.