‘बिहार में कहीं भी शराब मिले तो नीतीश कुमार को जेल भेज देना चाहिए.’

— रामविलास पासवान, केंद्रीय खाद्य मंत्री

पासवान का यह बयान बिहार में लागू पूर्ण शराबबंदी कानून पर आया. उन्होंने कहा कि वे बिहार में पूर्ण शराबबंदी का समर्थन करते हैं, लेकिन मौलिक अधिकारों के हनन खिलाफ हैं. पासवान के मुताबिक नीतीश कुमार गांधी बनने के लिए शराबबंदी कानून का इतना प्रचार कर रहे हैं. उन्होंने उपाधीक्षक से नीचे रैंक के अधिकारी को वारंट के बगैर घर में तलाशी लेने की छूट को न्याय के खिलाफ बताया. पटना हाईकोर्ट ने पांच अप्रैल से लागू शराबबंदी कानून को रद्द कर दिया था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस पर रोक लगा दी है. इस बीच बिहार सरकार ने दो अक्टूबर से नया कानून लागू कर दिया है, जिसके कुछ प्रावधानों पर भी लोगों को ऐतराज है.

‘भाजपा सरकार व आरएसएस ने मेरे बेटे के खिलाफ जो साजिश की थी, वही अब मेरे साथ कर रहे हैं.’

— राधिका वेमुला, हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमुला की मां

राधिका वेमुला का यह बयान रोहित वेमुला आत्महत्या मामले की जांच करने वाले रूपनवाल आयोग की रिपोर्ट पर आया. उन्होंने कहा कि आयोग को रोहित वेमुला की आत्महत्या के तथ्यों और परिस्थितियों की जांच करने के लिए कहा गया था, लेकिन उसने जाति की जांच कर रिपोर्ट सौंप दी. लखनऊ में एक कार्यक्रम में राधिका वेमुला ने कहा, ‘मैं दलित हूं, मेरा बेटा भी दलित था.’ उन्होंने कहा कि रूपनवाल आयोग ने एफआईआर में नामजद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, बंडारू दत्तात्रेय, स्थानीय बीजेपी विधायक, वाइस-चांसलर अप्पा राव को बचाने के लिए यह रिपोर्ट बनाई है. आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आरक्षण का लाभ लेने के लिए राधिका वेमुला खुद को दलित घोषित किया था.


‘सब कुछ ठीक है, सभी प्रधानमंत्री अच्छे हैं. मैं कहूंगा कि मौजूदा प्रधानमंत्री बेहतर हैं.’

— पवन चामलिंग, सिक्किम के मुख्यमंत्री

चामलिंग ने यह बात सिक्किम को केंद्र से सहायता मिलने में नौकरशाही की बाधा से जुड़े सवाल पर सीधे जवाब देने से बचते हुए कही. उन्होंने कहा कि बीते 15-20 वर्षों में सिक्किम के हालात में कोई बदलाव नहीं आया है. चामलिंग ने कहा कि सिक्किम को रेल और हवाई मार्ग से जोड़ने की कोशिशें अंजाम तक नहीं पहुंची हैं. उन्होंने कहा कि सिक्किम ने पूर्वोत्तर का सबसे शांत राज्य होने के नाते दस साल पहले ‘पीस बोनस’ मांगा था, जिसके लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है. चामलिंग 1994 से सिक्किम के प्रधानमंत्री हैं. इस दौरान उन्होंने नरसिम्हा राव से लेकर नरेंद्र मोदी तक प्रधानमंत्रियों का कामकाज देखा है.


‘एससी/एसटी कानून को खत्म नहीं किया जा सकता, लेकिन संशोधन पर विचार हो सकता है.’

— रामदास अठावले, केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री

अठावले ने यह बात एससी/एसटी एक्ट को हटाने की मांग पर कही. उन्होंने कहा कि इस कानून को संसद में बहस और विचार-विमर्श के बाद पारित किया गया था, जिसका लक्ष्य दलितों के खिलाफ अत्याचार को रोकना है. सामाजिक न्याय मंत्री के मुताबिक इस कानून को लोगों को प्रताड़ित करने का औजार नहीं बनाना चाहिए. मराठा आरक्षण की मांग पर उन्होंने कहा कि आरक्षण की ऊपरी सीमा 75 फीसदी की जाए और इसमें आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आरक्षण दिया जाए. महाराष्ट्र में मराठा समुदाय शिक्षा और रोजगार में आरक्षण के साथ-साथ एससी/एसटी एक्ट को हटाने की मांग कर रहा है.


‘मोदी शासन में भारत-पाकिस्तान के रिश्तों को सुधारने कोई बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद नहीं है.’

— सरताज अजीज, पाकिस्तानी पीएम के विदेश मामलों के सलाहकार

सरताज अजीज ने यह बात भारत-पाकिस्तान के रिश्तों को बेहतर बनाने के सवाल पर कही. उन्होंने भारत पर क्षेत्रीय स्तर पर आधिपत्यवादी रवैया अपनाने का आरोप लगाया. सरताज अजीज ने कहा कि भारत को द्विपक्षीय संबंधों को बराबरी के आधार पर आगे बढ़ाना चाहिए. उन्होंने कहा कि वैश्विक मंचों पर बातचीत के दौरान सभी ने माना है कि दोनों देशों को आपसी बातचीत से अपने विवाद सुलझाने चाहिए. 2018 तक भारत-पाकिस्तान सीमा को पूरी तरह बंद करने की भारत की योजना पर उन्होंने कहा कि अगर लोगों की आवाजाही और व्यापार में बाधा नहीं पहुंचती है, तो इससे कोई नुकसान नहीं है.