लश्कर ने उरी आतंकी हमला करने की बात मानी | सोमवार, 24 अक्टूबर 2016

पाकिस्तान के लगातार इनकार के बावजूद यह बात साफ हो गई है कि उरी आतंकी हमले में पाकिस्तान स्थित आतंकवादी शामिल थे. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पाकिस्तान के गुजरांवाला शहर में उरी आतंकी हमले में शामिल चार में से एक आतंकी की नमाज-ए-जनाजा (अंतिम नमाज) से जुड़े पोस्टर लगाए गए. ये पोस्टर भारतीय दावों की पुष्टि करते हैं.

इन पोस्टरों में एक आतंकी मोहम्मद अनस का जिक्र किया गया है, जो अबू सिरका के नाम से आतंकवादी संगठन में सक्रिय था. पोस्टरों में स्थानीय निवासियों से लश्कर-ए-तैयबा के लड़ाके मोहम्मद अनस अबू सिरका की अंतिम नमाज में शामिल होने के लिए कहा गया है. इन पोस्टरों में लश्कर-ए-तैयबा के मूल संगठन जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद की तस्वीर भी है. इनमें उरी आतंकी हमले में 177 हिंदू सैनिकों को मारने का दावा किया गया है.

अफगानिस्तान : आईएस ने 30 लोगों की हत्या की | मंगलवार, 25 अक्टूबर 2016

इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकियों ने अफगानिस्तान में 30 लोगों अगवा करने के बाद उनकी हत्या कर दी. स्थानीय मीडिया के मुताबिक यह घटना मध्य अफगानिस्तान के गोर सूबे में हुई. सरकार के मुताबिक इस वारदात को एक स्थानीय आईएस कमांडर के मारे जाने के बाद बदले की नीयत से अंजाम दिया गया. अमेरिकी सेना की वापसी के बाद अफगानिस्तान में सुरक्षा व्यवस्था चरमराती जा रही है. इस वजह से आईएस आतंकी यहां लगातार अपना आधार मजबूत कर रहे हैं. आतंकी संगठन द्वारा स्थानीय लोगों को जिहाद के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है.

प्रदूषण मानकों के उल्लंघन में फंसी फॉक्सवैगन नवंबर से कारें वापस लेगी | बुधवार, 26 अक्टूबर 2016

फॉक्सवैगन द्वारा प्रदूषण मानकों में घोटाले का मामला अंतिम दौर में पहुंच गया है. खबरों के अनुसार अमेरिका के संघीय जज चार्ल्स ब्रेयर ने 14.7 अरब डॉलर का हर्जाना भरने के कंपनी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. फॉक्सवैगन ने नवंबर से ग्राहकों से कारों को वापस खरीदने की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की है.

पिछले साल सितंबर में फॉक्सवैगन द्वारा कारों के उत्सर्जन मानकों में हेरफेर करने का मामला सामने आया था. इसके बाद कंपनी ने अपनी कारों में लगे सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी की बात मानी थी. कंपनी ने कहा था कि उसकी कारों में लगा सॉफ्टवेयर प्रदूषण जांच के दौरान नाइट्रोजन ऑक्साइड की मात्रा 40 गुना कम करके दिखाता है. इस मामले का खुलासा एक भारतीय इंजीनियर और वेस्ट वर्जीनिया यूनीवर्सिटी में प्रोफेसर डॉ. तिरुवेंगड़म ने किया था.

रिपब्लिकन खेमे में भी हिलेरी के समर्थक बढ़े : सर्वे | गुरुवार, 27 अक्टूबर 2016

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप लगातार कमजोर पड़ रहे हैं. यहां तक कि उनकी अपनी पार्टी के लोगों का भी उनकी जीत से भरोसा घट रहा है. रॉयटर्स/इप्सॉस के ताजा सर्वेक्षण के मुताबिक रिपब्लिकन पार्टी के 41 फीसदी लोगों ने डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के, जबकि 40 फीसदी ने ट्रंप के जीतने की संभावना जताई है. एक महीने पहले रिपब्लिकन पार्टी के 58 फीसदी लोगों ने ट्रंप, जबकि 23 फीसदी ने क्लिंटन के जीतने की उम्मीद जताई थी. इसके पीछे की वजह महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी से जुड़े ट्रंप के वीडियो और उन पर लगे यौन शोषण के आरोपों को माना जा रहा है.

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय मूल के ड्राइवर को सरेआम ज़िंदा जलाया | शुक्रवार, 28 अक्टूबर 2016

ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन शहर में भारतीय मूल के एक बस ड्राइवर को सरेआम ज़िंदा जला दिया गया. ब्रिसबेन पुलिस के मुताबिक शुक्रवार को मनमीत अलीशर पर उसकी बस में बैठे एक यात्री ने ज्वलनशील पदार्थ से हमला कर दिया. इस हमले में मनमीत पूरी तरह से जल गए और मौके पर ही उनकी मौत हो गई. पुलिस के मुताबिक यह हमला तब किया गया, जब मनमीत बस रोककर सवारी बिठा रहे थे. पुलिस ने इस हमले के आरोपी को गिरफ़्तार कर लिया है. हालांकि, अभी तक उसने इस हमले का कारण नहीं बताया है.

अधिकारियों के अनुसार मनमीत पंजाबी मूल के थे और ब्रिसबेन में रहने वाले भारतीयों के बीच एक गायक और डांसर के रूप में भी काफी मशहूर थे. ब्रिसबेन के मेयर ग्राहम क्विर्क ने इस घटना पर दुःख जताते हुए एक दिन के शोक की घोषणा की, शनिवार को पूरे ब्रिसबेन में झंडे आधे झुके रहे.

बॉब डिलन ने नोबेल पुरस्कार स्वीकार किया | शनिवार, 29 अक्टूबर 2016

अमेरिका के मशहूर गायक-गीतकार बॉब डिलन ने उन्हें मिलने वाले नोबेल पुरस्कार पर पहली बार प्रतिक्रिया दी है. डिलन ने नोबेल फाउंडेशन से कहा है कि वे साहित्य के नोबेल पुरस्कार को स्वीकार करते हैं. बीते 13 अक्टूबर को डिलन को साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई थी. लेकिन, इस घोषणा के दो हफ्ते बाद भी उन्होंने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी. यहां तक कि उन्होंने नोबेल फ़ाउंडेशन द्वारा भेजे गए पत्र का जवाब तक नहीं दिया था.

लेकिन, इस घटनाक्रम के बाद शुक्रवार को स्वीडिश अकादमी ने एक बयान जारी कर बताया कि डिलन ने अकादमी को फ़ोन कर इस पुरस्कार को स्वीकार करने की बात कही है. डिलन का कहना है कि नोबेल पुरस्कार की घोषणा ने उन्हें निशब्द कर दिया था. हालांकि, स्वीडिश अकादमी के मुताबिक अभी यह स्पष्ट नहीं है कि डिलन दिसंबर में स्टाकहोम में होने वाले पुरस्कार समारोह में शामिल हो पाएंगे या नहीं.