उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन की अटकलों के बीच मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि इस मामले में कोई भी निर्णय पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव लेंगे. सोमवार को सपा नेता गायत्री प्रजापति के पिता के निधन पर सांत्वना देने उनके घर पहुंचे अखिलेश ने मीडिया से यह बात कही. उनका कहना था, 'मुझे जो भी सुझाव देना होगा पार्टी फोरम पर दूंगा. चुनाव नजदीक है, गठबंधन से किसे फायदा होगा, किसे नुकसान, इसका ध्यान रखना भी जरूरी होगा. निर्णय पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नेता जी को लेना है.'

कांग्रेस के साथ सपा के गठबंधन के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा, 'यदि सपा और कांग्रेस गठबंधन चाहेंगे, तो क्या आप (मीडिया) रोक लेंगे?' उत्तर प्रदेश चुनाव में कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बीते रविवार को लखनऊ में मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की थी. बीते एक हफ्ते के दौरान उनकी मुलायम से यह दूसरी मुलाक़ात थी.

वहीं, पिछले दिनों सपा नेता शिवपाल यादव ने राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के नेता अजीत सिंह और जदयू नेता केसी त्यागी से भी मुलाकात की. इन मुलाकातों के बाद से उत्तरप्रदेश में सपा, कांग्रेस, जदयू और आरएलडी के बीच महागठबंधन होने की अटकलें लगाई जाने लगी हैं. हालांकि, इन पार्टियों की ओर से अभी तक इस मामले पर कुछ भी नहीं कहा गया है.