वीजा नियमों में भारतीय पेशेवरों को राहत नहीं देंगे : थेरेसा मे | सोमवार, 07 नवंबर 2016

थेरेसा मे ने भारतीय पेशेवरों को वीज़ा देने में किसी तरह की और राहत देने से साफ इनकार कर दिया है. ब्रिटेन के समाचार पत्र द गार्जियन के मुताबिक थेरेसा ने भारत यात्रा पर जाते समय कहा कि ब्रिटेन पहले से ही यूरोपीय संघ से बाहर के अच्छे लोगों को अपने यहां आकर्षित करने में सक्षम है. उनका कहना था, 'अगर आंकड़ों को देखा जाए तो हम ने अमेरिका, चीन और ऑस्ट्रेलिया तीनों को दिए गए कुल वर्किंग वीजा से ज्यादा वीजा भारत को दिए हैं.'

हालाँकि, सोमवार को भारत पहुंचने के बाद थेरेसा मे ने यह भी कहा कि वीजा नियमों में किसी तरह की ढील देना इस बात पर निर्भर करेगा कि गैरकानूनी ढंग से ब्रिटेन में मौजूद भारतीय कितनी बड़ी संख्या में भारत वापस आते हैं.

द गार्जियन से बातचीत के दौरान ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने भारतीय उद्द्योगपतियों का ब्रिटेन में दिल खोलकर स्वागत करने की बात कही है. उनका कहना था कि वे यूरोपीय संघ छोड़ने के बाद ब्रिटेन को मुक्त व्यापार का वैश्विक प्रतीक बना देना चाहती हैं और भारत-ब्रिटेन के बीच ज़्यादा निवेश से देश की व्यापारिक स्थिति बेहतर होगी.

कांगो : ग्रेनेड हमले में एक लड़की की मौत, 32 भारतीय शांति सैनिक घायल | मंगलवार, 08 नवंबर 2016

अफ्रीकी देश डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में ग्रेनेड विस्फोट में एक लड़की की मौत सहित 31 भारतीय शांति सैनिकों के घायल होने की खबर है. संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के सूचना प्रमुख ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने इस विस्फोट में एक नागरिक के घायल होने की बात भी कही है. खबरों के मुताबिक कांगो के गोमा शहर में यह विस्फोट तब हुआ जब शांति सैनिक सुबह की ड्रिल पर थे.

यूएन के सूचना प्रमुख के मुताबिक इसकी जांच की जा रही है कि यह ग्रेनेड कहां से आया. कांगो के पूर्वी हिस्से में हुए इस हमले के बाद यहां पहले से जारी तनाव के बढ़ने की बात भी कही जा रही है. यहां के लोगों को आशंका है कि राष्ट्रपति जोसेफ कबिला अगले महीने अपना कार्यकाल खत्म होने के बाद भी अपने पद पर बने रह सकते हैं. कांगो में विपक्षी पार्टियां लगातार राष्ट्रपति कबिला के इस्तीफे की मांग कर रही हैं. बीते सितंबर में वहां सरकार के खिलाफ भारी विरोध प्रदर्शन भी हुआ था. इस दौरान हुई हिंसक झड़पों में 16 पुलिसकर्मियों सहित 49 लोगों की मौत हो गई थी.

‘अफगान गर्ल’ शरबत गुला अफगानिस्तान पहुंची | बुधवार, 09 नवंबर 2016

नेशनल जियोग्राफिक पत्रिका के कवर पेज से ‘अफगान गर्ल’ के रूप में चर्चित शरबत गुला अफगानिस्तान पहुंच गई हैं. उन्होंने खैबर पख्तूनख्वाह सरकार की मानवता और सद्भावना के आधार पर पाकिस्तान में रुकने का प्रस्ताव ठुकरा दिया था. डॉन के मुताबिक यह फैसला शनिवार को लिया गया था, लेकिन उन्होंने पाकिस्तान में रुकने से इंकार कर दिया. पहचान न जाहिर करने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया कि गुला को तोरखम में अफगान सीमा के अधिकारियों के हवाले कर दिया गया है.

पाकिस्तान की एक विशेष अदालत ने गुला को अफगानिस्तान भेजने का आदेश दिया था. उन्हें छह आरोपों में दोषी पाया गया था. इनमें पाकिस्तान में अवैध रूप से रहना, धोखाधड़ी, दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ और नेशनल डेटाबेस एंड रजिस्ट्रेशन एक्ट का उल्लंघन शामिल है. अदालत ने 1,10,000 पाकिस्तानी रुपये के जुर्माने के साथ उन्हें 15 दिन के कारावास की सजा सुनाई थी. साथ ही विशेष अदालत ने तीन नवंबर को गुला की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. गुला और अफगान सरकार ने 15 दिन की सजा पूरी होने के बाद उन्हें अफगानिस्तान भेजने के लिए आवेदन दिया था.

ट्रंप के विरोध में अमेरिका में विरोध प्रदर्शन | गुरुवार, 10 नवंबर 2016

राष्ट्रपति चुनाव के बाद अमेरिका का राजनीतिक विभाजन खुलकर सामने आ गया. पूरे अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप विरोधी प्रदर्शन हुए हैं. खबरों के मुताबिक बुधवार को न्यू इंग्लैंड से लेकर कन्सास जैसे प्रमुख शहरों में हजारों लोगों ने ट्रंप विरोधी तख्तियां लहराईं और उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शनकारियों ने ट्रंप को अपना राष्ट्रपति मानने से इंकार करने के नारे भी लगाए.

फिलाडेल्फिया, बोस्टन और पोर्टलैंड में भी इस तरह के प्रदर्शन हुए हैं. शिकागो में प्रदर्शनकारी ट्रंप टॉवर के पास इकट्ठा हुए और ‘नॉट माइ प्रेसीडेंट’ के नारे लगाए. लोग राष्ट्रपति चुनाव परिणाम को देश को विभाजित करने और नफरत फैलाने वाला बता रहे हैं. शिकागो के एक स्थानीय निवासी ने कहा कि इसे स्वीकार न करना संवैधानिक कर्तव्य है. न्यूयॉर्क में भी कई समूहों ने प्रदर्शन किया. उन्होंने ट्रंप की जीत से अमेरिका में नफरत फैलने की आशंका जताई है.

भारत और जापान के बीच ऐतिहासिक परमाणु समझौता | शुक्रवार, 11 नवंबर 2016

भारत और जापान के बीच ऐतिहासिक परमाणु समझौता हो गया है. जापान दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को टोक्यो में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे के साथ इस समझौते पर हस्ताक्षर किए. इस समझौते के तहत जापान भारत को परमाणु ईंधन, उपकरण और परमाणु ऊर्जा के उत्पादन के लिए तकनीक सौंपेगा. समझौते में यह भी कहा गया है कि भारत जापान द्वारा दिए गए परमाणु ईंधन और उपकरणों का उपयोग केवल शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए ही करेगा और अगर भारत इससे परमाणु परीक्षण आयोजित करता है तो जापान इस समझौते को तोड़ देगा.

एच-1बी वीजा भारत-अमेरिका संबंधों में खटास की वजह बन सकता है | शनिवार, 12 नवंबर 2016

अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने के बाद भारत के साथ संबंधों को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं. अमेरिकी थिंक टैंक से जुड़ी एक विशेषज्ञ के मुताबिक ट्रंप के नेतृत्व में भारत-अमेरिका संबंध मजबूत होगा, खास तौर पर आतंकवाद के मामले में पाकिस्तान की दोहरी नीति को समर्थन घटेगा लेकिन एच-1बी वीजा को लेकर दोनों देशों के रिश्तों में खटास आ सकती है.

हेरिटेज फाउंडेशन की लीसा कर्टिस ने कहा है, ‘ट्रंप उच्च तकनीक वाली कंपनियों को वैश्विक प्रतिभा को आकर्षित करने की अनुमति देने और एच-1बी वीजा की खामियों और दुरुपयोग जैसी दोनों बातों से परिचत हैं. ऐसे में उनका प्रशासन एच1-बी वीजा की शर्तों में बदलाव कर सकता है, लेकिन इसे पूरी तरह खत्म कर पाना संभव नहीं है.’ ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान एन-1बी वीजा खत्म करने और अमेरिकियों की नौकरियों को वापस लाने का वादा किया है.