प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा पर विश्वास बनाए रखने के लिए लोगों का आभार जताया है. उन्होंने यह बात मध्य प्रदेश, असम, तमिलनाडु, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल में हुए उप चुनावों के नतीजों के संदर्भ में कही. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह परिणाम जनता का भाजपा के विकास और सुशासन की नीति पर विश्वास का नतीजा है. बीते शनिवार को हुए छह राज्यों और केंद्र शासित पुडुचेरी में स्थित 10 विधानसभा और चार लोकसभा सीटों पर हुए उप चुनाव पर सभी की नजर थी. नोटबंदी के फैसले के बाद इन चुनावों को भाजपा के लिए पहला एसिड टेस्ट माना जा रहा था.

सोमवार को घोषित किए गए इन उप चुनावों में सत्ताधारी पार्टियों ने अपनी सीटों को बचाए रखने में काफी हद तक सफलता पाई है. पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस ने दो लोकसभा सीटों के साथ कूचबिहार और तामलुक और मोंटेश्वर विधानसभा सीटों पर अपना कब्जा बनाए रखने में कामयाबी हासिल की. दूसरी ओर, भाजपा ने मध्य प्रदेश की शहडोल लोकसभा और नेपानगर विधानसभा सीट पर जीत दर्ज की. तमिलनाडु में सत्ताधारी पार्टी अन्नाद्रमुक ने तीनों विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज की. पुडुचेरी में मुख्यमंत्री वी नारायणसामी को भी जीत हासिल हुई.

इन राज्यों के साथ पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में भी सत्ताधारी पार्टियां सीटों पर अपना कब्जा बरकरार रखने में सफल रहीं. त्रिपुरा में सत्ताधारी सीपीआई (एम) ने विधानसभा की दोनों सीटों पर जीत दर्ज की. बरजाला और खोवई सीट पर कांग्रेस और तृणमूल के उम्मीदवारों को हार का मुंह देखना पड़ा. असम में भाजपा ने लखीमपुर लोकसभा और बैठालांग्सो विधानसभा सीटों पर जीत हासिल की. इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में भाजपा के टिकट पर पूर्व मुख्यमंत्री की पत्नी दासांग्लु पुल ने ह्यूलिआंग सीट पर जीत हासिल की.

चुनाव परिणाम सामने आने पर भाजपा शासित राज्यों मध्य प्रदेश और असम के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री के प्रति आभार जताया है. इन मुख्यमंत्रियों ने इसे जनता का नोटबंदी के प्रति समर्थन बताया. दूसरी ओर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे मोदी सरकार के वित्तीय आपातकाल के खिलाफ जनता का विद्रोह कहा है.