‘संसद बाधित होना ट्रैफिक जाम की तरह है.’

— जावेद अख्तर, गीतकार व पूर्व राज्य सभा सांसद

अख्तर का बयान सोनिया गोलानी की किताब ‘वॉट ऑफ्टर मनी एंड फेम’ के लोकार्पण के मौके पर आया. उन्होंने कहा कि जब संसद में लोग गलत दिशा से आगे बढ़ने की कोशिश करते हैं, तब अव्यवस्था फैल जाती है और कामकाज ठप हो जाता है. पूर्व राज्यसभा सदस्य ने ट्रैफिक नियम के जरिए पूरे मामले को समझाने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि जब लोग नियम नहीं मानते, तभी जाम या दुर्घटना जैसे हालात बनते हैं. सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच बेहतर तालमेल और भरोसे को जरूरी बताते हुए अख्तर ने माना कि संसद का बाधित होना नागरिकों के हित में नहीं है.

‘बुआजी (मायावती) के हाथी लखनऊ में बैठे हैं, उनमें कोई हलचल नहीं होती.’

— अखिलेश यादव, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

अखिलेश यादव ने यह बात बसपा प्रमुख मायावती के 'बबुआ' वाले बयान पर कही. बसपा प्रमुख को ‘बीबीसी’ की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि 'बुआ ब्रॉडकॉस्ट कार्पोरेशन' (बीबीसी) इन दिनों टीवी पर बहुत दिखाई देने लगी हैं. अखिलेश ने कहा, ‘बुआ कहती हैं कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे ठीक से नहीं बना है. लेकिन, सुखोई उतरने से इसकी गुणवत्ता का अंदाजा लगाया जा सकता है.’ बसपा सरकार में हाथियों की मूर्तियों के निर्माण पर तंज करते हुए अखिलेश ने कहा कि मायावती की ज्यादातर योजनाएं कागजी रही हैं, जबकि समाजवादियों की योजनाएं जमीन पर उतर रही हैं. इससे पहले मायावती ने अखिलेश को मुलायम सिंह का ‘बबुआ’ (बच्चा) कहकर उनपर निशाना साधा था.


‘अगर हिम्मत है तो लोकसभा भंग करके चुनाव करा लें, असली सर्वेक्षण हो जाएगा.’

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख

मायावती का यह बयान ऐप के जरिए नोटबंदी से जुड़े सर्वे पर आया. संसद के बाहर उन्होंने सर्वे के निष्कर्षों को फर्जी और पहले से तय बताया. वे नोटबंदी को लेकर लगातार सरकार को घेरने की कोशिश कर रही हैं. इससे पहले वे इस फैसले को आर्थिक आपातकाल भी बता चुकी हैं. बुधवार को ऐप आधारित सर्वेक्षण के सार्वजनिक नतीजों के अनुसार 93 फीसदी उत्तरदाताओं ने नोटबंदी का समर्थन किया है. इसमें पांच लाख लोगों ने भाग लिया. मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ऐप के जरिए लोगों से सर्वेक्षण में शामिल होने की अपील की थी.


‘कश्मीर के 90 फीसदी लोग शांति चाहते हैं.’

— श्रीश्री रविशंकर, ऑर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक

रविशंकर ने यह बात ‘साउथ एशियन फोरम फॉर पीस’ के उद्घाटन के मौके पर कही. उन्होंने कहा कि कश्मीर विवाद का समाधान कश्मीरियों के बीच से आएगा, जिसे मंच देने के लिए इस फोरम को तैयार किया गया है. रविशंकर के मुताबिक कश्मीर समस्या कुछ लोगों के लिए दुधारू गाय बन गई है जबकि बड़ी संख्या में लोग परेशानी झेल रहे हैं. उन्होंने कहा कि लोग बंदूक के डर से कुछ नहीं बोल रहे हैं. आध्यात्मिक गुरू ने कहा कि कभी पथराव करने वाले लोग आज कश्मीर में शांति लाने के प्रयास का हिस्सा हैं और ऑर्ट ऑफ लिविंग द्वारा आयोजित सम्मेलन में शामिल हो रहे हैं.


‘नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस के लिए प्रचार करेंगे.’

— अमरिंदर सिंह, पंजाब कांग्रेस के प्रमुख

अमरिंदर सिंह ने यह बात सिद्धू और उनकी पत्नी की कांग्रेस में भूमिका को लेकर कही. उन्होंने कहा कि सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर कांग्रेस के साथ हैं, लेकिन वे चुनाव नहीं लड़ना चाहते. हालांकि य अटकलें लगाई जा रही हैं कि अगर कांग्रेस पंजाब में चुनाव जीत जाती है तो पार्टी सिद्धू को अमृतसर लोकसभा सीट से मैदान में उतार सकती है. सिद्धू राज्यसभा सांसद थे, लेकिन भाजपा से मतभेद के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था. बुधवार को अमरिंदर सिंह ने कहा था कि 28 नवंबर को सिद्धू दंपति के साथ पूर्व अकाली विधायक परगट सिंह कांग्रेस में शामिल होंगे.


‘पाकिस्तान भारत का जवाब देने को लेकर चिंतित नहीं हैं.’

— सुहेल अमान, पाकिस्तानी वायु सेना के प्रमुख

अमान का यह बयान नियंत्रण रेखा पर जारी तनाव को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘भारत को धैर्य दिखाना चाहिए और कश्मीर समस्या का समाधान करना चाहिए जो उसके हित में है.’ अमान ने कहा कि पाकिस्तान युद्ध नहीं चाहता लेकिन ऐसे दबाव को नजरअंदाज भी नहीं कर सकता. उन्होंने पाकिस्तान को भारत की किसी भी आक्रामकता का जवाब देने के लिए तैयार बताया. अमान ने कहा कि उरी आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान युद्ध संबंधी सभी योजनाओं की समीक्षा कर चुका है. अमान ने बुधवार को नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी गोलीबारी में सात भारतीय सैनिकों की मौत होने का दावा भी किया.