तमिलनाडु की चार बार मुख्यमंत्री रहीं जे जयललिता का आज निधन हो गया. चेन्नई के अपोलो अस्पताल ने एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी है. बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री जयललिता को सोमवार रात 11.30 बजे एक बार फिर दिल का दौरा पड़ा जिससे उनका निधन हो गया. पिछले करीब ढाई महीनों से अस्पताल में भर्ती जयललिता को रविवार शाम भी दिल का दौरा पड़ा था. इसके बाद से उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था. अपोलो और एम्स के वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम उनके इलाज में जुटी हुई थी.

जयललिता के निधन पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है और राज्य सरकार ने सात दिन के शोक की घोषणा की है. साथ ही राज्य के सभी स्कूल और कालेजों को तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है. जयललिता के अंतिम दर्शन के लिए मंगलवार को उनका पार्थिव शरीर चेन्नई के राजा जी हाल में रखा जाएगा.

जयललिता के निधन के तुरंत बाद उनके अत्‍यंत विश्‍वस्‍त रहे ओ पन्‍नीरसेल्‍वम को एआईएडीएमके ने पार्टी का नया नेता चुन लिया और देर रात राज्‍यपाल सी विद्यासागर राव ने उन्हें मुख्‍यमंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिला दी. उनके अलावा 15 अन्‍य मंत्रियों ने भी शपथ ली. पन्‍नीरसेल्‍वम इससे पहले भी दो बार उस वक्‍त मुख्‍यमंत्री बने थे जब भ्रष्‍टाचार के मामलों के चलते जयललिता को पद से हटना पड़ा था.