अखिलेश सरकार ने 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने का प्रस्ताव पारित किया

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) की जातियों को अपने पक्ष में करने के लिए अखिलेश सरकार ने आरक्षण का दांव चला है. गुरुवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति (एससी) में शामिल करने का प्रस्ताव पारित कर दिया गया. इन जातियों और उपजातियों में कहार, कश्यप, केवट, निषाद, बिंद, बहर, प्रजापति, राजभर, बाथम, गौर, तुरा, माझी, मल्लाह, कुम्हार, धीमर, गोड़िया और मछुआ शामिल हैं. अधिकारियों के मुताबिक जल्द ही इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार के पास भेजा जाएगा. (विस्तार से पढ़ें)

रविचंद्रन अश्विन साल के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर बने

भारतीय टीम के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को इस साल अपने शानदार खेल के लिए सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर का पुरस्कार मिला है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने उन्हें साल 2016 के लिए 'क्रिकेटर ऑफ द ईयर' और 'टेस्ट क्रिकेटर ऑफ द ईयर' चुना है. आईसीसी की ओर से यह घोषणा गुरुवार को की गई है. अब क्रिकेट की इस शीर्ष संस्था की ओर से आर अश्विन को साल 2016 की सर गैरी सोबर्स ट्रॉफी दी जाएगी. यह ट्रॉफी साल के सबसे बेहतरीन क्रिकेटर को दी जाती है. (विस्तार से पढ़ें)

दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल नजीब जंग का इस्‍तीफा

दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल नजीब जंग ने गुरूवार को अचानक केंद्र सरकार को अपना इस्‍तीफा सौंप दिया. जंग नौ जुलाई 2013 से दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल थे. उन्होंने अपने इस्‍तीफे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को धन्‍यवाद दिया है. साथ ही उन्‍होंने दिल्‍ली की जनता के सहयोग और प्रेम के लिए उसका आभार व्यक्त किया है. उन्‍होंने राष्ट्रपति शासन के समय को याद करते हुए कहा है कि यह दिल्ली की जनता ही थी जिसके कारण वे उस समय दिल्‍ली का प्रशासन सुचारू रूप से चला सके. (विस्तार से पढ़ें)

हिलेरी क्लिंटन को निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से ज्यादा 'पॉपुलर वोट' मिले थे

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में मतदाताओं ने डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से ज्यादा वोट दिए थे. 50 राज्यों और डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया के अंतिम परिणामों के अनुसार हिलेरी क्लिंटन के खाते में डोनाल्ड ट्रंप के मुकाबले करीब 29 लाख ज्यादा 'पॉपुलर वोट' आए थे. राष्ट्रपति चुनाव में हिलेरी क्लिंटन को 48.2 फीसदी जबकि डोनाल्ड ट्रंप को 46.1 फीसदी लोकप्रिय वोट मिले थे. (विस्तार से पढ़ें)

राहुल गांधी के बोलने के बाद तो भूकंप की संभावना ही नहीं बची : नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी के फैसले का बचाव करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है. अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, 'राहुल ने अभी-अभी बोलना सीखा है. अच्छा हुआ जो उन्होंने बोल दिया नहीं तो भूकंप आ जाता.' मोदी ने कहा, 'अगर वे न बोलते तो भूकंप आ जाता, और देश को कितना बड़ा भूकंप झेलना पड़ता कि देश 10 साल तक उससे उबर न पाता....लेकिन अच्छा हुआ उन्होंने बोलना शुरू कर दिया, इससे भूकंप की संभावना ही नहीं बची है.' (विस्तार से पढ़ें)

यह रिपोर्ट कैशलेस पेमेंट पर जोर दे रही मोदी सरकार के माथे पर बल डाल सकती है

नोटबंदी के बाद से कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा दे रही सरकार को स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (एसबीआई) की यह रिपोर्ट चिंतित कर सकती है. इसके मुताबिक नोटबंदी के फैसले के बाद कार्ड स्वाइप मशीनों के जरिये डेबिट और क्रेडिट कार्ड से किए गए कुल लेन-देन में तीखी गिरावट आई है. बुधवार को जारी की गई इस रिपोर्ट के अनुसार खर्च की गई कुल रकम के लिहाज से देखें तो नवंबर महीने में डेबिट और क्रेडिट कार्ड से किए गए कुल लेन-देन में अक्टूबर की तुलना में 31 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है. (विस्तार से पढ़ें)

डोनाल्ड ट्रंप का यह फैसला संकेत है कि वे चीन पर अपने रुख से यू टर्न नहीं लेने जा रहे

अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चीन को व्यापार के मोर्चे पर घेरने की रणनीति पर आगे बढ़ते दिखाई दे रहे हैं. ट्रंप ने चीन की व्यापार नीति के सख्त आलोचकों में शामिल अर्थशास्त्री पीटर नवारो को व्हाइट हाउस की नवगठित राष्ट्रीय व्यापार परिषद का प्रमुख बनाया है. साथ ही वे अमेरिका की व्यापार और औद्योगिक नीति के निदेशक भी होंगे. कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर नवारो राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप के सलाहकार रह चुके हैं. (विस्तार से पढ़ें)

नोएडा : नोटबंदी ने कपड़ा उद्योग के 40 फीसदी अस्थायी कामगारों का रोजगार छीना

नोटबंदी से बेरोजगारी बढ़ने की यह खबर ऐसे समय में आई है जब भारत को रोजगार बढ़ाने की सख्त जरूरत है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार आठ नवंबर को नोटबंदी की घोषणा बाद से अब तक नोएडा में कपड़ा बनाने वाली इकाइयों में काम करने वाले लगभग 40 फीसदी अस्थायी कामगार बेरोजगार हो चुके हैं. गौतम बुद्ध नगर जिले के श्रम विभाग और श्रमिक संगठनों ने इसकी पुष्टि की है. रिपोर्ट के मुताबिक बीते दो दिनों में ही नोएडा के सेक्टर-4 और सेक्टर-5 में कपड़ा बनाने की दो फैक्ट्रियां बंद हुई हैं. (विस्तार से पढ़ें)