चीन ने हांगकांग और ताइवान की आजादी के समर्थकों को सख्त चेतावनी दी है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक बुधवार को चीन ने कहा कि हांगकांग और ताइवान की आजादी के समर्थकों की आपस में हाथ मिलाने की कोशिशें विफल रही हैं और इन्हें मक्खियों की तरह जमीन पर पटक दिया जाएगा.

ताइवान के लिए नीति निर्माण से जुड़े कार्यालय के प्रवक्ता आन फेंगशांग ने कम्युनिस्ट चीन के संस्थापक माओत्से तुंग की कविता की एक लाइन ‘इस छोटी सी दुनिया में, कुछ मक्खियां तेजी से उड़ते हुए दीवार से टकरा गईं’ का उल्लेख करते हुए आजादी समर्थकों को चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि आखिरकार ऐसे लोग खुद को छिन्न-भिन्न और लहूलुहान ही पाएंगे. माओत्से तुंग की इस कविता का मतलब है कि चीन के दुश्मन उसके सामने मक्खियों की तरह हैं, जिनसे वह डरता नहीं.

1997 में स्वायत्तता की शर्त पर चीन का शासन स्वीकार करने वाले हांगकांग में हाल के दिनों में आजादी समर्थक आंदोलनों में बढ़ोतरी हुई है और चीन इनको दबाने की कोशिश करता रहा है. इसके साथ ही चीन ताइवान की राष्ट्रपति बनी साई इंग वेन को भी संदेह की नजर से देख रहा है. चीन को आशंका है कि वे इस स्वायत्त द्वीप में आजादी की मांग को हवा दे सकती हैं. साई इंग वेन ताइवान को चीन के नियंत्रण से मुक्त प्रांत मानती हैं. हालांकि, वे चीन के साथ शांतिपूर्ण संबंध चाहती हैं.