केंद्र सरकार को पेटा पर तुरंत प्रतिबंध लगा देना चाहिए. यह तमिलनाडु की संस्कृति और देश के खिलाफ है.’

— एमके स्टालिन, डीएमके कार्यकारी अध्यक्ष

तमिलनाडु के नेता प्रतिपक्ष का यह बयान राज्य के पारंपरिक खेल जलिकट्टू का विरोध करने पर आया. अंतरराष्ट्रीय गैर-सरकारी संगठन पीपुल्स फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (पेटा) इसे जानवरों के प्रति क्रूरता मानता है और इसका विरोध करता है. बैलों के साथ क्रूरता के आरोप को खारिज करते हुए स्टालिन ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों को तमिलनाडु की पहचान और संस्कृति की रक्षा करने में अपनी विफलता से समाज पर पड़ रहे नकारात्मक असर का अहसास होना चाहिए. डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष ने केंद्र से भारतीय पशु कल्याण बोर्ड को भंग करने और एक ऐसी संस्था बनाने की मांग की, जिसमें तमिलनाडु का ज्यादा प्रतिनिधित्व हो.

‘डॉ अंबेडकर, महात्मा गांधी से बड़े नेता हैं.’

— असदुद्दीन ओवैसी, एआईएमआईएम के अध्यक्ष

असदुद्दीन ओवैसी का यह बयान खादी ग्रामोद्योग आयोग के कैलेंडर और डायरियों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर छपने के विवाद पर आया. उन्होंने कहा कि अगर डॉ अंबेडकर ने धर्मनिरपेक्ष और वर्गमुक्त संविधान न बनाया होता तो देश में अत्याचार का स्तर बहुत ज्यादा होता और आरएसएस के लोग स्थिति को बिगाड़ने का कोई मौका नहीं छोड़ते. ओवैसी ने आगे यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद को महात्मा गांधी का अनुयायी बताते थे, लेकिन मौका पाकर खुद राष्ट्रपिता बन गए. ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास स्पष्ट विदेश नीति का अभाव बताया और कहा कि वे सुनी-सुनाई बातों पर काम करते हैं.


सब्सिडी गरीब विरोधी होती है, केवल जरूरतमंद लोगों को मिलनी चाहिए.’

— धर्मेंद्र प्रधान, पेट्रोलियम मंत्री

धर्मेंद्र प्रधान का यह बयान पेट्रोल और डीजल पर दोबारा सब्सिडी देने के सवाल पर आया. उन्होंने कहा कि 2010 में पेट्रोल और अक्टूबर 2014 में डीजल की कीमत से सरकारी नियंत्रण को हटा लिया गया था जो आगे भी जारी रहेगा. पेट्रोलियम उत्पादों से उत्पाद शुल्क में तत्काल किसी राहत से इंकार करते हुए पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि विकसित देशों ने भी 2014 की दूसरी छमाही में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट का पूरा लाभ उपभोक्ताओं को नहीं दिया है, यहां तक कि संयुक्त अरब अमीरात जैसे तेल उत्पादक देशों ने इसे सब्सिडी खत्म करने के अवसर के रूप में इस्तेमाल किया है.


‘नवजोत सिंह सिद्धू मानव बम की तरह हैं, एक दिन फटेंगे और सब तबाह कर देंगे.’

— सुखबीर सिंह बादल, पंजाब के उपमुख्यमंत्री

सुखबीर सिंह बादल का यह बयान पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने पर आया. सिद्धू को अहंकारी बताते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं गारंटी लेता हूं कि सिद्धू छह महीने से ज्यादा कांग्रेस में नहीं टिकेंगे और राहुल गांधी के खिलाफ बोलते दिखाई देंगे.’ सिद्धू द्वारा भाजपा को कैकेयी और कांग्रेस को शकुंतला बताने पर बादल ने कहा कि वे (सिद्धू) हर दूसरे दिन अपनी मां बदलते रहते हैं. सोमवार को शिरोमणि अकाली दल पर निशाना साधते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा था कि पंजाब सरकार अब बादल परिवार तक सिमटकर रह गई है.


‘अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को नजरअंदाज न करें.’

— बराक ओबामा, अमेरिका के राष्ट्रपति

बराक ओबामा ने यह बात राष्ट्रपति के रूप में अपने आखिरी साक्षात्कार में कही. डोनाल्ड ट्रंप को अलग किस्म का प्रत्याशी बताते हुए बराक ओबामा ने कहा कि ट्रंप अर्थव्यवस्था, आतंकवाद और सामाजिक मुद्दों में काफी रुचि ले रहे हैं. राष्ट्रपति चुनाव के बारे में उनका कहना था कि ट्रंप के पास अपने समर्थकों से जुड़ने की खास प्रतिभा है और उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव में प्रचार के पारंपरिक तरीके को बदल दिया है. उन्होंने कहा कि अब राष्ट्रपति के रूप में ट्रंप का काम देखना दिलचस्प होगा. ट्रंप द्वारा रोजाना ट्वीट करने पर बराक ओबामा ने कहा कि हम ऐसे युग की तरफ जा रहे हैं, जहां लोगों को ज्यादातर सूचनाएं ट्विटर, टीवी और फोन में मिलेंगी.