नाइजीरियाई वायु सेना की एक गलती के चलते 100 से ज्यादा निर्दोष मारे गए हैं जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं. समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक वायु सेना ने चरमपंथी संगठन बोको हरम के खिलाफ कार्रवाई के दौरान गलती से विस्थापितों के एक कैंप पर बम गिरा दिया. रेडक्रॉस ने कहा है कि इस हमले में उसके छह कार्यकर्ता भी मारे गए हैं.

नाइजीरियाई सेना के कमांडर मेजर जनरल लकी इराबोर ने इस घटना की पुष्टि की है. उन्होंने बताया है कि वायु सेना से यह चूक नाइजीरिया और कैमरून की सीमा पर रान कस्बे में हुई. यहां बोको हराम के आतंकियों के जुटने की सूचना पर लड़ाकू विमानों को कार्रवाई के लिए भेजा गया था.

नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहमदू बुहारी ने इस घटना पर खेद जताया है और पीड़ितों को सरकार से मदद देने का ऐलान किया है. हालांकि, सरकार ने अभी तक मृतकों और घायलों का आंकड़ा नहीं जारी किया है.

युद्धग्रस्त इलाकों में चिकित्सा सुविधाएं देने वाले चर्चित संगठन डॉक्टर विदआउट बॉर्डर्स ने इस हमले की निंदा की है. इसके अभियानों से जुड़े निदेशक जीन क्लीमेंट कैबरॉल ने कहा है कि इस इलाके में सैन्य कार्रवाई के दौरान नागरिकों की सुरक्षा का ख्याल रखा जाना चाहिए. उन्होंने सभी पक्षों से गंभीर रूप से घायलों को इलाज के लिए बाहर निकालने में मदद करने की अपील की है.

नाइजीरियाई सेना ने इन दिनों देश के उत्तरी इलाके में बोको हराम के खिलाफ निर्णायक अभियान चला रखा है. बोको हरम नाइजीरिया को इस्लामिक राज्य बनाने के लिए आम नागरिकों को निशाना बना रहा है.