समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने आधिकारिक तौर पर बयान जारी कर कहा है कि आगामी विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी सिर्फ कांग्रेस के साथ गठबंधन करेगी. अजित सिंह की पार्टी को मिलाकर बनने वाले महागठबंधन के बारे में पूछे जाने पर नंदा ने आरएलडी के साथ किसी प्रकार के गठजोड़ की संभावनाओं से इनकार कर दिया है. हालांकि बाद में एनडीटीवी से बात करते हुए नंदा का कहना था कि कांग्रेस चाहे तो अपनी सीटों के जरिये आरएलडी के साथ गठबंधन कर सकती है.

सपा के इस बयान पर ज्यादा कुछ कहने से बचते हुए आरएलडी प्रवक्ता अनिल दुबे का कहना था, ‘हमें हमारे मुताबिक सीटें चाहिए थीं लेकिन इस पर बात नहीं बनी.’

बयान के मुताबिक समाजवादी पार्टी ने उत्तरप्रदेश की 403 में से 300 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है और बाकी सीटों पर कांग्रेस चुनाव लड़ेगी. उम्मीदवारों के बारे में जानकारी मांगे जाने पर नंदा का कहना था कि सपा ने पहले और दूसरे चरण के चुनावों के लिए प्रत्याशियों की सूची तैयार कर ली है. कांग्रेस को अपने उम्मीदवार तय करना बाकी हैं.

जानकार सपा, कांग्रेस और आरएलडी के बीच महागठबंधन जैसी किसी व्यवस्था की संभावनाओं से इनकार नहीं कर रहे हैं. इनके मुताबिक पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हुए सांप्रदायिक दंगों की वजह से सपा तो आरएलडी के साथ गठबंधन करते नहीं दिखना चाहती लेकिन कांग्रेस के साथ गठबंधन करके वह पिछले दरवाजे से इसका हिस्सा जरूर हो सकती है.