उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सारे दांव आजमा रही भाजपा ने अब राम मंदिर मुद्दे को भी हवा दे दी है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि आगामी चुनाव में भाजपा की जीत होने पर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराया जाएगा.

मंगलवार को दिल्ली में मीडिया से बातचीत के दौरान केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘राम मंदिर चुनावी मुद्दा नहीं बल्कि आस्था का सवाल है और इसे साधु संतों का आशीर्वाद प्राप्त है. मंदिर दो महीनों में बनने नहीं जा रहा है. भाजपा पूर्ण बहुमत से सत्ता में आएगी. चुनावों के बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा.’

मौर्य के इस बयान को पार्टी की रणनीति से जोड़कर देखा जा रहा है. माना जा रहा है कि राज्य में सवर्णों को कम टिकट दे पाने के चलते भाजपा को इनकी नाराजगी का डर सता रहा है. इसलिए वह हिंदू ध्रुवीकरण का कार्ड भी गुपचुप तरीके से खेलना चाहती है.

केशव प्रसाद मौर्य का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब इसी महीने सुप्रीम कोर्ट ने चुनावों के दौरान धर्म के नाम पर वोट मांगने को प्रतिबंधित किया है. कोर्ट के आदेश के अनुसार चुनावों के दौरान धर्म के नाम पर वोट मांगना गैर-कानूनी है और अगर कोई ऐसा करता है तो उसे जनप्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत भ्रष्ट आचरण माना जाएगा.