अमेरिका की राह पर चलते हुए खाड़ी देश कुवैत ने भी मुस्लिम बहुल पांच देशों के नागरिकों के अपने यहां आने पर रोक लगा दी है. खबरों के अनुसार यह रोक पाकिस्तान, अफगानिस्तान, ईरान, इराक और सीरिया पर लागू होगी. बुधवार को कुवैती विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘कुवैत सरकार इन देशों के नागरिकों को पर्यटन, व्यापार और आगंतुक वीजा उपलब्ध नहीं कराएगी. इन पांच देशों के लोग कुवैत में शरण लेने के लिए भी वीजा आवेदन न करें क्योंकि अब यह भी स्वीकार नहीं किया जाएगा.’

सरकारी बयान में प्रतिबंध लगाने का कारण आतंकवाद बताया गया है. कुवैत सरकार को डर है कि इन देशों के लोगों के साथ कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवादी देश में प्रवेश कर सकते हैं. सरकार के मुताबिक कुवैत आतंकवाद का जोखिम नहीं उठा सकता.

बीते समय में कुवैत भी आतंकी हमलों से जूझता रहा है. हाल के सालों में यहां सबसे बड़ा आतंकी हमला एक शिया मस्जिद पर किया गया था. 2015 में हुए इस हमले में करीब 27 कुवैती नागरिकों की मौत हो गई थी. हालांकि, मुस्लिम देशों पर बैन लगाने का फैसला कुवैती सरकार ने पहली बार नहीं लिया है. इससे पहले वह 2011 में भी सीरिया के नागरिकों के कुवैत आने पर बैन लगा चुकी है.