आज पंजाब में विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जा रहे हैं. यह चुनाव एक ही चरण में संपन्न हो रहा है जिसमें 117 सीटों का फैसला होगा. इस बार पंजाब चुनाव में पटियाला शहरी, लांबी, जलालाबाद और अमृतसर पूर्व जैसी सीटों पर सभी की निगाहें लगी हुई हैं. इन सीटों पर तीनों बड़ी पार्टियों के दिग्गज अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह पटियाला शहरी के साथ-साथ लांबी से चुनाव लड़ रहे हैं. लांबी सीट पर वे मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ मैदान में हैं. फाजिल्का जिले की जलालाबाद सीट से आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान और उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल आमने-सामने हैं. वहीं, भाजपा छोड़कर हाल में कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू अमृतसर पूर्व सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. सुरक्षा प्रबंधों के तहत पूरे राज्य में केन्द्रीय अर्धसैनिक बल की 200 से ज्यादा कंपनियां तैनात की गई हैं.


वोटर और प्रत्याशी

इस चुनाव में लगभग दो करोड़ मतदाता वोट डालेंगे. उनके हाथ में कुल में 1145 प्रत्याशियों की किस्मत होगी. इनमें 81 महिलाएं हैं. पंजाब चुनाव में एक थर्ड जेंडर (किन्नर) उम्मीदवार भी है.

सबसे ज्यादा और कम उम्मीदवारों वाली सीटें

सबसे ज्यादा उम्मीदवार पटियाला जिले की सनौर सीट से मैदान में हैं. यहां अलग-अलग पार्टियों के 18 प्रत्याशी हैं. सबसे कम उम्मीदवारों वाली सीट तरन तारन जिले की खेम करण और फतेहगढ़ साहिब हैं जहां से पांच-पांच उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं.

सबसे बड़ा और छोटा निर्वाचन क्षेत्र

वोटरों के लिहाज से सबसे बड़ी विधानसभा सीट मोहाली जिले में पड़ने वाली डेरा बस्सी है जबकि क्षेत्रफल के लिहाज से लुधियाना जिले की गिल सबसे बड़ी सीट है. वोटरों के मामले में सबसे छोटी सीट कपूरथला जिले की भोलाथ है.

पोलिंग स्टेशन और ईवीएम की संख्या

इस चुनाव में कुल पोलिंग स्टेशनों की संख्या 22615 है. इनमें रखी 45671 ईवीएम मशीनों के जरिये प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होगा.