भारतीय क्रिकेट की नैया पूर्व सीएजी विनोद राय की अगुवाई वाली समिति के हवाले | सोमवार, 30 जनवरी 2017

सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) में सुधारों की दिशा में एक और बड़ा कदम उठाया है. अदालत ने बीसीसीआई की कमान चार सदस्यों की एक समिति को दे दी है. पूर्व कैग विनोद रॉय की अगुवाई वाली इस समिति के बाकी सदस्य प्रसिद्ध इतिहासकार रामचंद्र गुहा, आईडीएफसी बैंक के प्रमुख विक्रम लिमये और पूर्व महिला क्रिकेटर डायना इडुलजी हैं. समिति को चार हफ्ते में लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने के संबंध में एक रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपनी है.

न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी की केंद्रीय खेल सचिव को बीसीसीआई का प्रशासक नियुक्त करने की मांग को खारिज कर दिया. अदालत ने कहा कि किसी भी सरकारी अधिकारी को प्रशासक नहीं बनाया जा सकता. अटॉर्नी जनरल अदालत में रेलवे और विश्वविद्यालय संघ की ओर से पेश हुए थे.

शिवपाल यादव ने चुनाव के बाद नई पार्टी बनाने का ऐलान किया | मंगलवार, 31 जनवरी 2017

उत्तर प्रदेश की राजनीति लगातार नई करवटें ले रही है. कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव द्वारा नाराजगी जाहिर करने के बाद अब शिवपाल यादव ने 11 मार्च को चुनाव नतीजे आने के बाद नई पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है. मंगलवार को इटावा की जसवंतनगर सीट से पर्चा दाखिल करने के बाद एक जनसभा में उन्होंने यह बात कही. इस मौके पर उन्होंने पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए कहा, ‘मेहरबानी हो गई जो टिकट दे दिया नहीं तो निर्दलीय ही चुनाव लड़ना पड़ता.’

शिवपाल यादव ने मुलायम सिंह यादव को अपना पूरा समर्थन देने की बात कही. उन्होंने कहा कि वे जो कुछ भी हैं, नेताजी की वजह से ही हैं. शिवपाल यादव ने मरते दम तक उनका साथ नहीं छोड़ने की बात भी कही. उन्होंने अखिलेश यादव का नाम लिए बिना कहा, ‘कुछ लोग मानते हैं कि वे जो कुछ भी हैं, नेताजी की वजह से हैं. इसके बाद भी वे उनका अपमान करते हैं.’

अमेरिकी दूतावास ने भारतीय मुस्लिम एथलीटों को वीजा देने से इनकार किया | बुधवार, 01 फरवरी 2017

डोनाल्ड ट्रंप द्वारा मुस्लिमों के अमेरिका आने को लेकर लगाई पाबंदी का खामियाजा भारतीय नागरिकों को भी भुगतना पड़ रहा है. जम्मू-कश्मीर के रहने वाले दो मुस्लिम एथलीटों को अमेरिकी दूतावास ने ट्रंप की वर्तमान नीति का हवाला देते हुए वीजा देने से इनकार कर दिया है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक कश्मीर के रहने वाले दो एथलीट तनवीर हुसैन और आबिद खान को फरवरी में न्यूयॉर्क में होने वाली विश्व स्नो शू चैंपियनशिप 2017 में हिस्सा लेना था. खबर के अनुसार पिछले दिनों उन्होंने वीजा के लिए अमेरिकी दूतावास में आवेदन दिया था.

एक कश्मीरी समाचार पत्र को तनवीर हुसैन ने बताया, ‘वीजा आवेदन के बाद पिछले हफ्ते अमेरिकी दूतावास के अधिकारियों ने मेरा छह मिनट तक साक्षात्कार लिया. मेरे सभी डॉक्यूमेंटस पूरे थे फिर भी मुझे वीजा देने से इनकार कर दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि अमेरिका की वर्तमान वीजा नीति के तहत उन्हें वीजा नहीं दिया जा सकता.’ इस मामले की पुष्टि प्रतियोगिता के आयोजकों ने भी कर दी है. न्यूयॉर्क के सर्नेक लेक क्षेत्र जहां इस प्रतियोगिता का आयोजन होना है के मेयर क्लेड रबिडॉ ने बताया है कि आबिद खान ने उन्हें पूरी घटना के बारे में बता दिया है.

नोएडा में 3700 करोड़ रु की ऑनलाइन ठगी का भंडाफोड़, एसटीएफ ने तीन को गिरफ्तार किया | गुरुवार, 02 फरवरी 2017

उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने अब तक के सबसे बड़े ऑनलाइन फर्जीवाड़ों में से एक का भांडाफोड़ किया है. खबरों के मुताबिक करीब 3700 करोड़ रु का यह फर्जीवाड़ा ऑनलाइन ट्रेडिंग के नाम पर किया गया. इस मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

शुरुआती जांच में पता चला है कि नोएडा स्थित अब्लेज इंफो सॉल्यूशंस नामक एक कंपनी ने करीब सात लाख लोगों को ठगा है. बताया जा रहा है कि ‘अर्न रुपीज 5 पर क्लिक’ नाम की एक स्कीम के जरिये कंपनी ने लोगों से करीब 3700 करोड़ रु की रकम उगाही. पुलिस के मुताबिक आरोपित सोशलट्रेड.बिज नाम की वेबसाइट चलाकर लोगों से एक निश्चित रकम ले रहे थे और एक क्लिक के बदले पांच रुपये देने की बात कहकर साल भर में उन्हें दो से ढाई गुना पैसा लौटाने की बात कह रहे थे. अभी तक 500 करोड़ रु की रकम का सुराग लगा लिया गया है और कंपनी के खाते फ्रीज कर दिए गए हैं. पुलिस के मुताबिक आरोपित नजर में आने से बचने के लिए थोड़े-थोड़े समय बाद अपनी कंपनी का नाम बदल दिया करते थे.

सत्याग्रह ने भी कुछ समय पहले इस कंपनी के गोरखधंधे पर एक विशेष रिपोर्ट की थी. कंपनी की वेबसाइट, उसमें लिखी सेवा-शर्तों और कंपनी की कार्यप्रणाली गौर करने के बाद इसका निष्कर्ष इस आशंका के रूप में सामने आया था कि ‘सोशल ट्रेड’ शायद आने वाले समय के सबसे बड़े घोटाले को अंजाम देने वाली है. वही हुआ है. सोशलट्रेड.बिज सोशल मीडिया का नटवरलाल साबित हुई है.

आयकर विभाग के मुताबिक ‘आप’ की ऑडिट रिपोर्ट फर्जी, चुनाव आयोग से मान्यता रद्द करने की सिफारिश की | शुक्रवार, 03 फरवरी 2017

चुनावी चंदे में पारदर्शिता का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी (आप) पर आयकर विभाग की एक रिपोर्ट सवाल उठाती दिख रही है. विभाग ने पार्टी द्वारा तैयार ऑडिट रिपोर्ट में दर्ज 27 करोड़ रुपये के चंदे को फर्जी पाया है. इस संबंध में आयकर विभाग ने अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को सौंप दी है. इसमें आयोग से राजनीतिक पार्टी के रूप में ‘आप’ की मान्यता रद्द करने की सिफारिश भी की गई है.

आयकर विभाग की रिपोर्ट में कहा गया है कि पार्टी द्वारा साल 2013-14 और 2014-15 में मिले चंदे के रिकॉर्ड में अंतर है. यह अलग-अलग स्रोतों से हासिल रकम से मेल भी नहीं खाता. आयकर कानून, 1961 के मुताबिक राजनीतिक पार्टियों को चार्टेड अकाउंटेंट से चंदे की ऑडिट रिपोर्ट तैयार करवानी होती है. इसके बाद पार्टी को इसकी एक कॉपी आयकर विभाग के पास जमा करनी पड़ती है.

विज्ञापनों में प्रधानमंत्री मोदी की फोटो इस्तेमाल करने पर रिलायंस जियो और पेटीएम को नोटिस | शनिवार, 04 फरवरी 2017

अपने विज्ञापनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो के इस्तेमाल पर अब रिलायंस जियो इंफोकॉम और पेटीएम को जवाब देना पड़ेगा. जानकारी के मुताबिक खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्रालय ने दोनों कंपनियों को नोटिस जारी किया है. इसमें दोनों कंपनियों से पूछा गया है कि प्रधानमंत्री की फोटो के इस्तेमाल से पहले उन्होंने सरकार से अनुमति ली थी या नहीं? जानकारों का मानना है कि इस मामले में दोनों कंपनियों पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है.

इन दोनों कंपनियों ने बीते साल प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरों को अपने विज्ञापनों के लिए इस्तेमाल किया था. सितंबर 2016 में रिलायंस ने जियो की सर्विस लॉन्च की थी और प्रमुख राष्ट्रीय अखबारों के मुख्य पृष्ठ पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर के साथ उसका विज्ञापन जारी किया था. वहीं नोटबंदी के बाद पेटीएम ने इसे आजाद भारत का सबसे साहसिक वित्तीय फैसला बताते हुए विज्ञापन जारी किया था जिसमें मोदी की तस्वीर थी.