प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब दिया. सोमवार रात आए भूकंप के बहाने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मैं सोच रहा था यह भूकंप आया कैसे. क्योंकि धमकी तो बहुत पहले सुनी थी.... कोई तो कारण होगा कि धरती मां रूठ गई होंगी?’ शीतकालीन सत्र के दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि अगर वे सदन में बोले तो भूकंप आ जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के आरोपों का भी जवाब दिया. सोमवार को खड़गे ने कहा था कि देश में कांग्रेस की वजह से लोकतंत्र बचा है. इस पर प्रधानमंत्री ने कहा, ‘उस पार्टी (कांग्रेस) के लोकतंत्र को पूरा देश जानता है. जहां पूरा लोकतंत्र एक परिवार को आहूत कर दिया गया.’ आपातकाल और उस दौरान नागरिक अधिकारों के हनन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आजादी की लड़ाई को एक परिवार से जोड़ना ही समस्या की जड़ है. आजादी के संघर्ष में भाजपा के योगदान को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 1857 की लड़ाई में जब कांग्रेस पार्टी पैदा भी नहीं हुई थी, तब भी कमल था और आज भी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ स्वच्छता अभियान बताया. उन्होंने कहा कि वे सदन में इस पर चर्चा के लिए तैयार है, लेकिन विपक्ष भाग रहा है, क्योंकि उसे लगता है कि मोदी इसका फायदा उठा ले जाएंगे. उन्होंने बेनामी संपत्ति के खिलाफ बने 26 साल पुराने कानून को नोटिफाई न करने के लिए भी कांग्रेस पर निशाना साधा. प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस को इसे नोटिफाई न करने की वजह बतानी चाहिए.

प्रधानमंत्री मोदी ने गरीबी के लिए भ्रष्टाचार को जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा कि देश में गरीबों का हक लूटने वाले वर्ग की वजह से देश ऊंचाइयों पर नहीं पहुंच पाया है. भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई से पीछे न हटने का भरोसा दिलाते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन्हें चुनाव की नहीं, बल्कि देश की चिंता है.