‘मैं देश के लिए गधे की तरह काम करता हूं, सवा सौ करोड़ देशवासी मेरे मालिक हैं.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री मोदी का यह बयान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर पलटवार करते हुए आया. बहराइच में एक चुनावी रैली में उन्होंने कहा कि अगर दिल-दिमाग साफ हो तो गधे से भी प्रेरणा ली जा सकती है. गधे को वफादार और ईमानदार पशु बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मेरी या भाजपा की आलोचना करें तो समझ में आता है, लेकिन गधे की आलोचना! क्या अखिलेश गधे से भी डरने लगे हैं?’ अखिलेश यादव ने कुछ दिन पहले एक रैली में कहा था कि सुपरस्टार अमिताभ बच्चन को गुजरात के गधों का प्रचार नहीं करना चाहिए. गुजरात टूरिज्म के ब्रांड अंबेसडर अमिताभ बच्चन इसके लिए कई विज्ञापन कर चुके हैं जिनमें से एक कच्छ में बनी गधों की सेंक्चुरी का भी है.

‘पूरा देश जानता है कि अमित शाह से बड़ा कोई कसाब यानी आतंकवादी नहीं हो सकता है.’

— मायावती, बसपा प्रमुख

मायावती का यह बयान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा विपक्षी दलों को कसाब बताने पर आया. अंबेडकरनगर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि अमित शाह का बयान उनकी पार्टी की घटिया सोच बताता है. बुधवार को अमित शाह ने कहा था कि विकास के लिए उत्तर प्रदेश को कसाब (क से कांग्रेस, स से समाजवादी पार्टी और ब से बहुजन समाज पार्टी) से मुक्त होना पड़ेगा. मायावती ने एक बार फिर दोहराया कि अगर उनकी पार्टी की सरकार बनती है तो वे स्मारक और संग्रहालय नहीं बनवाएंगी.


‘उत्तर प्रदेश में भाजपा का सीएम होगा, तब मायावती चाहें तो डिप्टी सीएम बन सकती हैं.’

— रामदास अठावले, केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के अध्यक्ष

अठावले का बयान उत्तर प्रदेश में भाजपा और बसपा के बीच गठबंधन का संकेत देते हुए आया. लखनऊ में उन्होंने कहा कि भाजपा ने तीन बार मायावती को मुख्यमंत्री बनाया है, लेकिन इस बार भाजपा का मुख्यमंत्री होगा और उन्हें थोड़ा ‘एडजस्ट’ करना पड़ेगा. अठावले ने यह भी दावा किया कि इस बार उत्तर प्रदेश का दलित वोटर बसपा को वोट नहीं दे रहा है. उन्होंने कहा कि मायावती दलितों का वोट रोकने के लिए भाजपा की सरकार बनने पर आरक्षण खत्म होने का डर दिखा रही हैं. अठावले के मुताबिक डॉ अंबेडकर के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच अच्छी है और वे आरक्षण का समर्थन करते हैं.


‘पाकिस्तान द्वारा हाफिज सईद को नजरबंद करना ढकोसला है.’

— मनीष तिवारी, कांग्रेस

मनीष तिवारी का यह बयान मुंबई हमले के मुख्य साजिशकर्ता हाफिज सईद की नजरबंदी को लेकर आया. नई दिल्ली में अटलांटिक काउंसिल की बैठक में उन्होंने कहा कि अगर पाकिस्तान गंभीर है तो उसे सईद को भारत को सौंप देना चाहिए. कांग्रेस नेता के मुताबिक हाफिज सईद के खिलाफ भारत के पास ठोस सबूत मौजूद हैं, जिन्हें पाकिस्तान को भी सौंपा जा चुका है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पहले भी हाफिज सईद को अस्थायी रूप से हिरासत में लेने के बाद रिहा कर चुका है.


‘चीन, भारत में ताइवान के निवेश को रोकने की कोशिश कर रहा है.’

— चेंग यी लिन, ताइवान की चीन मामलों की परिषद के उपमंत्री

चेंग यी लिन का यह बयान चीन द्वारा ताइवान की निवेश नीति को प्रभावित करने की कोशिशों की चर्चा करते हुए आया. उन्होंने कहा कि ताइवान अपनी नई निवेश नीति के जरिए एशिया प्रशांत क्षेत्र के 18 देशों के साथ नजदीकी से जुड़ने पर ध्यान दे रहा है. लिन ने चीन पर इस नीति को बाधित करने और ताइवान का सारा निवेश चीन में करने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि ताइवान के लिए चीन के साथ संबंध और नई निवेश नीति का एक जैसा महत्व है और वह चीन से कोई प्रतिस्पर्धा नहीं कर रहा है.