प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मणिपुर के इंफाल में अपनी पहली चुनावी सभा को संबोधित किया. कांग्रेस पर मणिपुर को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 15 साल के शासन में राज्य का विकास नहीं बल्कि भ्रष्टाचार और जनजातियों को लड़ाने का कारोबार किया है. भाजपा को मौका देने की अपील करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस ने जो काम 15 साल में नहीं किया, भाजपा सरकार बनने पर उसे 15 महीने में कर दिखाएगी.’

नरेंद्र मोदी ने पूर्वोत्तर के विकास को अपनी सरकार की प्राथमिकता बताया. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब तक पूर्वोत्तर का विकास नहीं होगा, हिंदुस्तान का विकास अधूरा रहेगा. उन्होंने कहा कि बीते 40 साल में पूर्वोत्तर परिषद की बैठक में भाग लेने वाले वे पहले प्रधानमंत्री हैं. उनका यह भी कहना था कि वाजपेयी सरकार के समय में पूर्वोत्तर के लिए अलग से एक मंत्रालय बनाया गया था, लेकिन बाद की कांग्रेस सरकार ने उसकी कोई परवाह नहीं की. प्रधानमंत्री मोदी ने दावा किया कि पूर्वोत्तर राज्यों में सिक्किम इसलिए विकास कर रहा है कि वहां पर भाजपा की सरकार है.

नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस सरकार पर किसानों और गरीबों की उपेक्षा करने का भी आरोप लगाया. नगा समझौते को लेकर कांग्रेस पर गुमराह करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि इसमें मणिपुर की जनता के हितों से कोई समझौता नहीं किया गया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि मणिपुर में भाजपा की सरकार बनने के साथ इस राज्य की आर्थिक नाकेबंदी खत्म हो जाएगी.

मणिपुर में चार और आठ मार्च को मतदान होना है. यहां 15 साल से सत्ता में काबिज कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला है. कांग्रेस के कई दिग्गज मंत्री पाला बदलकर भाजपा में शामिल हो चुके हैं जो इस बार अपने सहयोगी दलों के बगैर अकेले चुनाव मैदान में है.