ट्रंप का मीडिया पर एक और हमला, व्हाइट हाउस ने कई पत्रकारों को प्रेस कॉन्फ्रेंस में आने से रोका

अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की आलोचना करने वाले मीडिया संस्थानों पर प्रशासन की सख्ती बढ़ती जा रही है. शुक्रवार को व्हाइट हाउस ने एक अनौपचारिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीबीसी, सीएनएन और द न्यूयॉर्क टाइम्स जैसे कई संस्थानों के पत्रकारों को शामिल होने की इजाजत नहीं दी. खबरों के मुताबिक राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने सिर्फ उन्हीं मीडिया संगठनों के पत्रकारों को इसमें आने दिया जिन्हें दक्षिणपंथी झुकाव के लिए जाना जाता है. (विस्तार से)

नंबर एक टेस्ट टीम इंडिया की शर्मनाक हार, ऑस्ट्रेलिया ने 333 रन से पटखनी दी

चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 333 रनों से हरा दिया है. पुणे में 441 रनों का लक्ष्य हासिल करने उतरी भारतीय टीम दूसरी पारी में 107 रनों पर ही ढेर हो गई. टेस्ट में नंबर एक टीम भारत के लिए यह हार एक बड़ा झटका है. साल 2012 के बाद यह पहली बार है जब वह अपनी जमीन पर कोई टेस्ट हारी है. अपने बल्लेबाजों के लिए मशहूर भारतीय टीम के स्कोर का आंकड़ा दोनों पारियों में 100 के आसपास सिमट गया. (विस्तार से)

मोदी सरकार मानती है कि कश्मीर की स्थिति में सुधार की राह मस्जिदों और मीडिया से होकर जाती है

कश्मीर में तीन दशक पुरानी आतंकवाद और अलगाववाद की समस्या के समाधान के लिए गृह मंत्रालय ने एक रिपोर्ट राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को भेजी है. इसमें कहा गया है कि कश्मीर में मस्जिदों, मदरसों और मीडिया पर नियंत्रण की जरूरत है. रिपोर्ट में खुफिया तंत्र को मजबूत करने और अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के उदारवादी धड़े के साथ संपर्क-संबंध बेहतर करने का भी सुझाव दिया गया है. (विस्तार से)

इतना झूठ बोलने वाला प्रधानमंत्री अब तक नहीं देखा : अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश चुनाव का आखिरी चरण आते-आते जुबानी जंग भी चरम पर पहुंच रही है. शनिवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा. पांचवें चरण के मतदान से पहले सिद्धार्थनगर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘अब तक हमने इतना झूठ बोलने वाला प्रधानमंत्री नहीं देखा. इतना बड़ा सपना दिखाने वाला प्रधानमंत्री भी नहीं देखा.’ अखिलेश यादव ने भाजपा को सबसे बड़ी जुमलेबाज पार्टी बताया और हमेशा जहर उगलने का आरोप लगाया. (विस्तार से)

लोगों की परेशानी यह है कि अब वे पैसे देकर अपनी फिल्में पास नहीं करा सकते : पहलाज निहलानी

सेंसर बोर्ड एक बार फिर विवादों में है. इस बार वजह प्रकाश झा की नई फिल्म ‘लिपिस्टिक अंडर माय बुर्का’ है. इसे सेंसर बोर्ड ने जरूरत से ज्यादा महिला केंद्रित और जीवन से परे कल्पनाओं पर आधारित बताकर सर्टिफिकेट जारी करने मना कर दिया है. इसके बाद निशाने पर आए सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने आलोचनाओं का जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि लोगों को फिल्मों की प्रमाणन प्रक्रिया की जानकारी नहीं है और सेंसर बोर्ड मीडिया या सोशल मीडिया के दबाव में काम नहीं कर सकता. (विस्तार से)

कांग्रेस ने मणिपुर में केवल भ्रष्टाचार और जनजातियों को लड़ाने का काम किया है : नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मणिपुर के इंफाल में अपनी पहली चुनावी सभा को संबोधित किया. कांग्रेस पर मणिपुर को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 15 साल के शासन में राज्य का विकास नहीं बल्कि भ्रष्टाचार और जनजातियों को लड़ाने का कारोबार किया है. भाजपा को मौका देने की अपील करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस ने जो काम 15 साल में नहीं किया, भाजपा सरकार बनने पर उसे 15 महीने में कर दिखाएगी.’ (विस्तार से)

क्या गूगल का यह नया हथियार ऑनलाइन भद्दे कमेंट्स की काट साबित हो पाएगा?

पाठकों के भद्दे कमेंट्स से परेशान मीडिया संस्थानों के लिए गूगल की तरफ से एक अच्छी खबर है. कंपनी एक ऐसा टूल यानी हथियार उपलब्ध कराने जा रही है जिसके बारे में कहा जा रहा है कि वह इन आपत्तिजनक टिप्पणियों को दिखने से रोक देगा. इस नए टूल का नाम पर्सपेक्टिव है. गूगल का कहना है कि कृत्रिम बुद्धि (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) से लैस यह टूल भद्दे कमेंट्स को पहचान सकता है. (विस्तार से)

अमेरिका में मारे गए भारतीय इंजीनियर की विधवा ने ट्रंप सरकार से जवाब मांगा

अमेरिका में मारे गए भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचिभोतला की विधवा ने अपने पति की मौत को लेकर ट्रंप सरकार से जवाब मांगा है. मृतक की पत्नी सुमयना डुमाला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए अमेरिकी सरकार से पूछा है कि वह इस तरह के नस्लीय अपराधों को रोकने की दिशा में क्या कदम उठाने वाली है. इसी बुधवार को कैंसस शहर में एक अमेरिकी नागरिक ने नस्लीय टिप्पणी करते हुए श्रीनिवास कुचिभोतला की गोली मारकर हत्या कर दी थी. (विस्तार से)

दिल्ली के कामगारों के लिए बड़ा ऐलान, सरकार ने न्यूनतम मजदूरी की दर में 37 फीसदी बढ़ोतरी की

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने कामगारों के लिए बड़ी राहत का ऐलान किया है. सरकार ने शनिवार को अकुशल, अर्द्धकुशल और कुशल मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी दर में करीब 37 फीसदी की बढ़ोतरी के प्रस्ताव को अपनी मंजूरी दे दी है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि उनकी सरकार ने पूर्व उप राज्यपाल (एलजी) नजीब जंग द्वारा गठित समिति की सिफारिशों को मान लिया है. (विस्तार से)