भाजपा सांसद विनय कटियार ने अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे को विकास, शिक्षा और रोजगार से ऊपर बताया है. सोमवार को अयोध्या में मतदान करने के बाद उन्होंने कहा, ‘यहां पर विकास, रोजगार, शिक्षा सब कुछ दिया गया है, लेकिन राम मंदिर के बिना सब बेकार है.’ उन्होंने यह भी दोहराया कि अयोध्या में राम मंदिर बन कर रहेगा. उत्तर प्रदेश में पांचवें चरण के लिए आज 11 जिलों की 51 सीटों पर मतदान जारी है.

यह पहला मौका नहीं है जब भाजपा सांसद ने अपनी पार्टी की राय से अलग विवादित बयान दिया है. इससे पहले अयोध्या में ही एक जनसभा में उन्होंने राम मंदिर निर्माण को लेकर दोबारा आंदोलन छेड़ने की चेतावनी दी थी. तब उनका कहना था कि राम मंदिर निर्माण के लिए अदालत की मंजूरी, संसद से पारित कानून और आम जनता की मंजूरी जैसे विकल्पों को अजमाया जाना चाहिए. एक अन्य रैली में विनय कटियार ने कहा था कि जैसे बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराया गया था, वैसे ही राम मंदिर को बनाया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने राम मंदिर का विरोध करने वालों को अराजक तत्व बताया था.

विकास को अपनी प्राथमिकता बताने वाली भाजपा ने भी उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में राम मंदिर को अपने घोषणा पत्र में जगह दी है. लेकिन, उसने संवैधानिक तरीके से राम मंदिर बनाने का वादा किया है. इसके अलावा भाजपा का शीर्ष नेतृत्व भी इस मामले को अदालत में विचाराधीन बताकर सीधे कोई बयान देने से बचता रहा है.