मध्य प्रदेश में हुए रेल हादसे के बाद उत्तर प्रदेश के लखनऊ में एक संदिग्ध आतंकी के साथ एटीएस की मुठभेड़ की खबर आज करीब सभी अखबारों ने पहले पन्ने पर है. यह मुठभेड़ कई घंटे बाद मंगलवार देर रात खत्म हुई है. अंतिम जानकारी के मुताबिक एटीएस ने इस मुठभेड़ में संदिग्ध के मारे जाने की पुष्टि की है. उसका नाम सैफुल्लाह बताया जा रहा है. पुलिस ने घटनास्थल से कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के झंडे सहित कई हथियार बरामद करने का दावा किया है. इसलिए आशंका जताई जा रही है कि भोपाल से उज्जैन जा रही पैसेंजर ट्रेन में विस्फोट के पीछे इस्लामिक संगठन (आईएस) का हाथ हो सकता है.

माओवादियों से संबंध रखने के आरोप में दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जीएन साईबाबा सहित कुल पांच लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. यह खबर भी आज के अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. खबरों के मुताबिक इसी मामले के एक अन्य आरोपित को 10 साल कैद की सजा सुनाई गई है. इन सभी पर महाराष्ट्र पुलिस ने नक्सली संगठन भाकपा (माओवादी) का सदस्य होने, नक्सलियों को साजो-सामान मुहैया कराने और कैडरों की भर्ती में मदद करने का आरोप लगाया गया था.

टीम इंडिया ने पुणे टेस्ट में मिली शर्मनाक हार से उबरते हुए बेंगलुरू टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 75 रनों से मात दे दी है. यह खबर भी आज के कई अखबारों के पहले पन्ने पर है. इस जीत में आर अश्विन की बड़ी भूमिका रही जिन्होंने दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के छह बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया. इसके अलावा मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना यादव के बयान को भी अखबारों ने प्रमुखता से जगह दी है. उन्होंने कहा है कि पार्टी में वर्चस्व की लड़ाई के दौरान उनका काफी अपमान हुआ है और अब वे चुप नहीं बैठेंगी.

सरकार ने नई हाइड्रोकार्बन्स नीति का ऐलान किया

भारत ने मंगलवार को नई हाइड्रोकार्बन्स खोज नीति का ऐलान किया है. इसका उद्देश्य परंपरागत और गैर-परंपरागत तेल और गैस स्रोतों का पता लगाना है. जनसत्ता की एक खबर के मुताबिक इसे हाइड्रोकार्बन्स एक्सप्लोरेशन लाइसेंसिंग पॉलिसी नाम दिया गया है. बताया जाता है कि यह नीति निवेशकों को तेल और प्राकृतिक गैस की कीमत और इन संसाधनों के विपणन में आजादी देगी. केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि नई नीति के तहत तेल उत्पादन को आठ करोड़ टन से बढ़ाकर 2022 तक 15.5 करोड़ टन तक करने की योजना है.

क्रिकेट मैच में अक्टूबर से नए नियम, खराब व्यवहार पर खिलाड़ियों को रेड कार्ड दिखाया जाएगा

क्रिकेट के नियम तय करने वाली संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने कई नियमों में बदलाव किया है. अमर उजाला की एक खबर के मुताबिक नए नियम लागू होने के बाद फुटबॉल की तर्ज पर मैदान में खराब व्यवहार करने वाले खिलाड़ी को बाहर कर दिया जाएगा. ये नए नियम एक अक्टूबर, 2017 से लागू हो जाएंगे. अखबार के मुताबिक एमसीसी ने इसके लिए चार स्तर बनाए हैं. पहले स्तर के तहत अत्यधिक अपील और अंपायर के फैसले पर आपत्ति जताने पर चेतावनी दी जाएगी. मैच के दौरान इसे फिर दोहराने पर विपक्षी टीम को पांच अतिरिक्त रन दिए जाएंगे. दूसरे स्तर के तहत विपक्षी टीम की खिलाड़ियों पर गेंद फेंकना या जानबूझकर उनसे टकराने पर भी पांच अतिरिक्त रन दिए जाने की बात कही गई है.

एमसीसी के नए नियमों के तहत अंपायर को डराने या किसी अन्य खिलाड़ी, टीम अधिकारी या दर्शक को मारने की धमकी देने पर विपक्षी टीम को पांच अतिरिक्त रन दिए जाएंगे. साथ ही, दोषी खिलाड़ियों को मैच के प्रारूप के आधार पर तय ओवरों के लिए मैच से बाहर किया जाएगा. आखिरी स्तर के तहत मैदान पर कोई भी हिंसक गतिविधि करने पर दूसरी टीम को पांच अतिरिक्त रन देने के साथ ही दोषी क्रिकेटर को मैच से बाहर किया जाएगा. बल्लेबाज द्वारा ऐसा करने पर उसे आउट माना जाएगा.

देश में 10 में से सात लोग सरकारी सेवाओं के लिए रिश्वत देते हैं : ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल

देश में 10 में से सात लोगों को सरकारी सेवाओं के लिए घूस देनी पड़ती है. द हिंदू में छपी एक खबर के मुताबिक . दुनिया में भ्रष्टाचार पर नजर रखने वाली संस्था ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल द्वारा जुलाई, 2015 से जनवरी, 2017 के बीच कराए गए सर्वे में यह बात सामने आई है. सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक एशिया-प्रशांत देशों में भारत के बाद वियतनाम में 65 फीसदी, थाईलैंड में 41 फीसदी और पाकिस्तान में 40 फीसदी लोगों को सरकारी सेवाओं के लिए रिश्वत देनी पड़ी. चीन में यह आंकड़ा 26 फीसदी है. जापान में रिश्वत देने की दर सबसे कम 0.2 फीसदी है.

सर्वे के दौरान 46 से 60 फीसदी भारतीयों ने कहा कि उन्होंने सरकारी स्कूलों और अस्पतालों में या फिर कोई पहचान पत्र हासिल करने और पुलिस से काम लेने के लिए रिश्वत दी है. साथ ही, 31 से 45 फीसदी लोगों ने कहा है कि उन्हें न्यायिक सेवा हासिल करने के लिए भी घूस देनी पड़ी है. 16 देशों के 21,000 लोगों के बीच कराए गए इस सर्वे में लोगों ने पुलिस को सबसे अधिक भ्रष्ट बताया है. साथ ही, स्थानीय और राष्ट्रीय स्तर के नेताओं को भी लोगों ने भ्रष्ट बताया है. इसके अलावा लोगों का मानना है कि धार्मिक नेता सबसे कम भ्रष्ट होते है.

केरल : सात के साथ दुष्कर्म के मामले में छह आरोपित गिरफ्तार

केरल के वायनाड जिले में कलपेट्टा स्थित एक अनाथालय में सात बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामले में छह आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है. द टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक पुलिस ने इन आरोपितों के खिलाफ प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन्स फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेन्स कानून (पोस्को) और आईपीसी के तहत कई मामले दर्ज किए गए हैं.

अखबार के मुताबिक इन बच्चियों के साथ पिछले दो महीने से यौन शोषण किए जाने की बात सामने आई है. पुलिस के सामने यह मामला बीते सोमवार को आया जब सुरक्षा गार्ड ने एक बच्ची को अनाथालय के पास स्थित एक दुकान के पीछे से आते देखा. बच्ची से पूछताछ किए जाने के बाद सारा मामला सामने आया. इसके बाद अनाथालय ने पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई. नाबालिगों की मेडिकल जांच में दुष्कर्म किए जाने की पुष्टि हुई है.

आज का कार्टून

भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी के उत्तर प्रदेश में हालिया चुनावी अभियान में नजर न आने पर द इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित आज का कार्टून :