उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी की करारी हार हुई है. इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जादू जमकर चला और भाजपा ने दो तिहाई से भी ज्यादा सीटें जीत लीं. ऐसे में चुनाव में हार चुके विधायक और मंत्री अपने आवास और कार्यालय खाली करने लगे हैं. शुक्रवार को भी कई विधायकों और मंत्रियों ने अपने घर खाली कर दिए. लेकिन दिलचस्प मामला खाली हो रहे घरों और कार्यालयों पर लगाए जा रहे खास ब्रांड के तालों का है, जिसका नाम ‘मोदी मैजिक’ है.

अखिलेश सरकार में मंत्री रहे रविदास मेहरोत्रा के घर पर भी ‘मोदी मैजिक’ का ताला लगाया गया. इसे लेकर लोगों में काफी कौतूहल दिख रहा है. वे पूछ रहे हैं कि क्या इन तालों को जानबूझकर इसी नाम से बनाया गया है या यह एक महज संयोग है. बहरहाल, ताले के पीछे जो भी वजह रही हो लेकिन इसे जानकार जले पर नमक छिड़कने जैसा मामला मान रहे हैं. विपक्षी दलों के हार चुके विधायकों में इसे लेकर काफी बेचैनी बताई जा रही हैै. कई विधायक इसे मुद्दा बनाने की बात कर रहे हैं.

पिछले शनिवार को उत्तर प्रदेश में घोषित हुए चुनाव परिणाम में राज्य की 403 विधानसभा सीटों में से भाजपा और उसके सहयोगी दलों को कुल 225 पर जीत मिली है. समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन को जबरदस्त नुकसान झेलना पड़ा और उसे मात्र 54 सीटों से संतोष करना पड़ा है. बहुजन समाज पार्टी को तो मात्र 19 सीटों पर जीत मिली.