कपिल शर्मा के लोकप्रिय कॉमेडी शो के सेलेब्रिटी जज और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू को फिलहाल राहत मिलती दिख रही है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साफ कर कहा है, ‘सिद्धू की आमदनी का मुख्य जरिया टीवी शो ही है. वे उसे जारी रख सकते हैं.’

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी अधिकृत बयान में अमरिंदर ने कहा, ‘कोई पर्याप्त आमदनी के बिना कैसे रह सकता है. क्या वे (टीवी शो में सिद्धू के काम करने पर सवाल उठाने वाले) मंत्रियों को (उनकी आमदनी के मुख्य स्रोत से भटकाकर) भ्रष्ट करना चाहते हैं.’ अमरिंदर ने इस मामले में पंजाब के महाधिवक्ता अतुल नंदा से राय ली थी. वहां से हरी झंडी मिलने के बाद का उनका यह बयान आया है.

इस बाबत मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठकराल ने बताया, ‘महाधिवक्ता की राय में सिद्धू के शो जारी रखने में कोई वैधानिक समस्या नहीं है. इससे भारतीय संविधान, लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 या आचार संहिता का उल्लंघन नहीं हो रहा है. यह न ही ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का मामला है. इसमें हितों का टकराव भी नहीं होता, क्योंकि शो मुंबई में शूट होता है. लिहाजा, उनका मंत्रालय बदले जाने की भी जरूरत नहीं है.’

हालांकि इसके पहले देश के एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा था, ‘मामला नैतिक जिम्मेदारी का है. इसके तहत सार्वजनिक पद पर बैठे किसी भी जिम्मेदार व्यक्ति को व्यवयसायिक गतिविधियों से खुद को अलग कर लेना चाहिए. आपने कहा कि सुबह 10 बजे से शाम छह बजे तक आप लोकसेवक हैं. इसके बाद सुबह आठ बजे तक लोकसेवक नहीं हैं. तो जिस पद पर आप हैं, उसे संभालते हुए लोकतंत्र में यह नहीं चल सकता.’

रोहतगी की यह राय सिद्धू के एक बयान के बाद आई थी. पंजाब में स्थानीय प्रशासन, पर्यटन एवं संस्कृति, आर्काइव्स एवं म्यूज़ियम जैसे मंत्रालय संभाल रहे सिद्धू ने बीते मंगलवार को ट्वीट किया था, ‘मैंने आईपीएल छोड़ दिया है. 70-80 फीसदी टीवी शो छोड़ चुका हूं. सिर्फ एक शो करता हूं. उसके लिए कुछ घंटे को मैं अगर शाम से सुबह तक कहीं जाता हूं तो इससे किसी को कोई मतलब नहीं होना चाहिए.’