भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शनिवार से शुरू हो रहे टेस्ट मैच में विराट कोहली के खेलने पर अभी भी संशय बना हुआ है. गुरुवार शाम को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए विराट कोहली ने कहा है कि वे पूरी तरह फिट होने पर ही चौथे टेस्ट मैच में टीम का हिस्सा बनेंगे. कोहली ने आगे कहा, ‘कप्तान हो या कोई अन्य खिलाड़ी सभी पर एक जैसे नियम ही लागू होंगे. अगर मैं फिटनेस टेस्ट पास कर लेता हूं, तब ही मैच में खेलूंगा. हम कल रात (शुक्रवार की रात) इस पर विचार करेंगे.’

रांची में हुए तीसरे टेस्ट मैच में क्षेत्ररक्षण के दौरान कोहली अपने दांये कंधे को चोटिल कर बैठे थे. इसके बाद वे अगले दो दिन तक मैदान से बाहर रहे थे. उन्होंने धर्मशाला में चौथे मैच से पहले हो रहे अभ्यास सत्र में भी हिस्सा नहीं लिया है. कप्तान कोहली की फिटनेस पर संशय के कारण ही गुरुवार को टीम में उनके बैकअप के रूप में मुंबई के बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को शामिल किया गया था.

विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के साथ मैदान से बाहर हो रही बयानबाजी और ऑस्ट्रेलियाई मीडिया द्वारा की जा रही आलोचना पर भी बातचीत की. उन्होंने कहा, ‘ये आलोचनाएं मेरे लिए मायने नहीं रखतीं. मैंने हमेशा बताया है कि मैं क्या करना चाहता था और इसीलिए मुझे किसी भी बात के लिए माफ़ी मांगने की जरूरत नहीं है.’

बेंगलुरु में दूसरे टेस्ट मैच में हुए डीआरएस विवाद के बाद से दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच बयानबाजी जारी है. इस मैच के बाद ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने विराट कोहली को विलेन बताते हुए उन पर तमाम आरोप लगाए थे. ‘द डेली टेलीग्राफ’ ने अपनी रिपोर्ट में लिखा था कि विराट कोहली ने आउट होने के बाद ड्रेसिंग रूम में ऑस्ट्रेलियाई टीम के एक अधिकारी को कोल्ड ड्रिंक की बोतल फेंक कर मारी थी. वहीं एक अन्य ऑस्ट्रेलियाई अखबार ने कोहली को क्रिकेट की दुनिया का डोनाल्ड ट्रंप बताया था.