भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच धर्मशाला में खेला जा रहा चौथा और अंतिम टेस्ट मैच भारत ने आठ विकेट से जीत लिया है. सोमवार को धर्मशाला टेस्ट मैच की दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 106 रनों का लक्ष्य दिया था जिसे भारतीय टीम ने मैच के चौथे दिन दो विकेट खोकर हासिल कर लिया. भारत ओर से दूसरी पारी में लोकेश राहुल 51 और अंजिक्य रहाणे 38 रन बनाकर नाबाद रहे.

इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2-1 से अपने नाम कर ली है. विराट कोहली के नेतृत्व में भारत ने लगातार सातवीं बार टेस्ट सीरीज जीती है. भारतीय टीम की जीत का यह सिलसिला 2015 में श्रीलंका के खिलाफ शुरू हुआ था.

इससे पहले चौथे दिन भारत के सलामी बल्लेबाज मुरली विजय और केएल राहुल भारतीय पारी को 19 रनों से आगे बढाने उतरे. लेकिन, जल्द ही आठ रन के निजी स्कोर पर पैट कमिंस ने मुरली विजय को विकेटकीपर मैथ्यू वेड के हाथों कैच आउट करा दिया. कमिंस के इसी ओवर की आखिरी गेंद पर मैक्सवेल ने पुजारा को रन आउट कर भारत को दूसरा झटका दिया.

इस मैच का तीसरा दिन भारत के लिए काफी अच्छा रहा था. तीसरे दिन भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 137 रनों पर समेट दिया था. दूसरी पारी में भारत की ओर से रवींद्र जडेजा, आर अश्विन और उमेश यादव को 3-3 जबकि भुवनेश्वर कुमार को एक विकेट मिला था. सीरीज में सर्वाधिक 25 विकेट लेने वाले रवींद्र जडेजा मैन ऑफ द सीरीज बने. मैन ऑफ द मैच का खिताब भी उन्हें ही मिला.