केंद्र सरकार ने अगर मंजूरी दे दी तो इसी साल भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमों के बीच दिलचस्प मुकाबला देखने को मिल सकता है. द इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) ने इस बाबत मंजूरी लेने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय काे पत्र लिखा है.

बताया जा रहा है कि टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले सभी देेशों के बीच 2014 में एफटीपी (फ्यूचर टूर्स एंड प्रोग्राम) समझौता हुआ था. इसकी शर्तों के हिसाब से भारत को पाकिस्तान के साथ खेलना पड़ेगा. एक सूत्र के शब्दों में ‘इसके लिए बोर्ड भारतीय टीम को दुबई भेजना चाहता है, जहां दोनों टीमों के बीच मैच हो सकते हैं. इसीलिए गृह मंत्रालय से भी मंजूरी मांगी गई है. जब तक सरकार इजाजत नहीं देती, बीसीसीआई कुछ नहीं कर सकता.’

सूत्र बताते हैं कि अगर सरकार ने हरी झंडी दे दी तो सितंबर या नवंबर में भारत-पाकिस्तान के बीच मैच हो सकते हैं. हालांकि बीसीसीआई भारतीय टीम के अफ्रीका दौरे से पहले नवंबर में पाकिस्तान के साथ एक छोटी श्रृंखला आयोजित करने का ज्यादा इच्छुक है.

2016 में जब शशांक मनोहर बीसीसीआई अध्यक्ष थे तो वे पाकिस्तान की टीम को भारत बुलाना चाहते थे. लेकिन केंद्र सरकार ने तब इसकी मंजूरी नहीं दी थी. इसकी वजह भारतीय रक्षा प्रतिष्ठानों पर हुए आतंकी हमलों की वजह से दोनों देशों के बीच उपजा तनाव था.