लंबे समय से भारतीय कार बाजार में पिछड़ रही टाटा मोटर्स अब लगता है रफ्तार में आ गई है. पहले टियागो और फिर हेक्सा को मिल रही अच्छी प्रतिक्रिया के बाद बुधवार को कंपनी ने अपनी नयी कॉम्पेक सिडान टिगोर को लॉन्च कर दिया है. टाटा मोटर्स का दावा है कि यह देश की पहली ‘स्टाइलबैक’ कार है और इसे युवा और रफ्तार पसंद पीढ़ी को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है. टाटा ने सबसे पहले टिगोर को इसी साल जेनेवा इंटरनेशनल मोटर शो में पेश किया था. तभी से बाजार में इस गाड़ी का इंतजार किया जा रहा था.

एक समय भारतीय कार बाजार में पिछड़ती होंडा को इसी सेगमेंट में उसकी पेशकश अमेज ने नई जिंदगी दे दी थी. सवाल उठ रहा है कि क्या टिगोर भी ऐसा कर पाएगी. वैसे दिलचस्प बात यह है कि कॉम्पैक्ट सेडान नाम के इस सेगमेंट की शुरुआत इंडिगो सीएस के साथ टाटा ने ही की थी. कुछ समय तक उसका जलवा भी रहा. लेकिन फिर दूसरे खिलाड़ी इस राह पर उससे मीलों आगे निकल गए. इस तरह देखें तो टिगोर एक खोई बादशाहत को फिर हासिल करने की कवायद भी लगती है. टाटा का तर्क है कि सब कॉम्पेक्ट कार की लंबाई चार मीटर से छोटी रखने की मजबूरी में अब तक कंपनियों को कार की स्टाइलिंग से समझौता करना पड़ा है और उसने इस समस्या की काट निकाल ली है. इसीलिए उसने इस कार को ‘स्टाइलबैक’ कहा है.

टाटा ने इस गाड़ी को हैचबैक टियागो के कॉन्सेप्ट पर तैयार किया है. लेकिन इसके लुक्स और फीचर्स में ऐसे कई बदलाव किए गए हैं जो टिगोर को टियागो से बहुत आगे ले जाते हैं. बताया जा रहा है कि टाटा की यह नयी कार मारूति-सुजुकी स्विफ्ट, मारूति बलेनो, ह्युंडई आई-20, ह्युंडई एक्सेंट, होंडा अमेज और फोर्ड एस्पायर को कड़ी टक्कर देगी.

टिगोर की खूबियां

लुक्स और एक्सटिरियर- टाटा ने टिगोर को ‘इम्पैक्ट डिजाइन’ पर बनाकर तैयार किया है. इससे पहले कंपनी ने क्रॉसओवर हेक्सा और हैचबैक टियागो को भी इसी डिजाइन पर तैयार किया था. लुक्स की बात करें तो डुअल टोन फ्रंट बंपर, बिल्कुल नई हनीकॉम्ब ग्रिल्स, क्रोम फिनिशिंग और बॉटम लिप के साथ टिगोर किसी स्पोर्टी कार जैसी नजर आती है. स्मोक्ड हैडलैंप के साथ डबल बैरेल ले-आउट से घिरे प्रोजेक्टर लैंप भी गाड़ी को खासा आकर्षक बनाते हैं. गाड़ी के रियर लुक की बात करें तो यहां भी टाटा ने टिगोर को बाकियों से स्मार्ट दिखाने की भरपूर कोशिश की है. टिगोर की टेललाइट में एलईडी का इस्तेमाल करने के साथ टाटा ने गाड़ी की पिछली विंड स्क्रीन पर एलईडी स्टॉप लैंप लगाया है जो ब्रेक लाइट्स के साथ काम करेगा.

इसके अलावा कंपनी ने टिगोर के पेट्रोल वैरिएंट में 15 और डीज़ल वैरिएंट में 14 इंच के अलॉय व्हील्स दिए हैं. टाटा टिगोर छह अलग-अलग रंगों के साथ बाजार में उतारी गयी है. जिनमें बेरी रैड, ऐसप्रेसो ब्राउन, कॉपर डैज़ल, पर्ल व्हाइट, स्ट्राइकर ब्लू और प्लेटिनम सिल्वर शामिल हैं.

फीचर्स और इंटिरियर- इंटीरियर के मामले में भी टिगोर कुछ-कुछ टियागो जैसी ही नजर आती है. इसके डैशबोर्ड पर पांच इंच का टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है जो आठ स्पीकर (चार स्पीकर + चार ट्वीटर) से जुडा हुआ होगा. इसका डिस्प्ले रिवर्स कैमरा व्यू के साथ वीडियो प्लेबैक को भी सपोर्ट करने में सक्षम है. इसके अलावा ये इन्फोटेनमेंट सिस्टम वॉयस रिकॉग्निशन के साथ जीपीएस नेविएगेशन और एसएमएस पढ़ने जैसी खूबियों से भी लैस है. गाड़ी के एसी की बात करें तो इसकी कूलिंग थोड़ी स्लो है लेकिन कुछ देर चलने के बाद ऑटोमेटिक टेंप्रेचर कंट्रोल फीचर गाड़ी में एक सा तापमान बनाए रखने में सफल रहता है. टिगोर में टिल्ट स्टीयरिंग की भी सुविधा है जो ड्राइव करते समय आपको काफी सहूलियत देता है.

टिगोर के इंटीरियर्स
टिगोर के इंटीरियर्स

बैठने के लिहाज से टिगोर एक बेहतर विकल्प बनकर सामने आती है. फ्रंट और बैक दोनों सीटों पर हैडरूम और लैगरूम के लिए भरपूर जगह दी गयी है और दोनों सीटें आरामदायक हैं. पिछली सीट पर कपहोल्डर के साथ एक आर्मरेस्ट भी दिया गया है जो सवारियों के लिए आराम का सौदा दिखता है.

परफॉर्मेंस और सेफ्टी- टाटा ने टिगोर को टियागो के प्लेटफॉर्म पर तैयार करते हुए पेट्रोल और डीजल दोनों वेरिएंट्स में लॉन्च किया है. पेट्रोल वेरिएंट की बात करें तो इसमें 1.2 लीटर का रेवट्रॉन इंजन इस्तेमाल किया गया है. यह तीन सिलेंडर और 1199 सीसी की क्षमता के साथ 6000 आरपीएम पर अधिकतम 83.8 बीएचपी की पॉवर और 3500 आरपीएम पर 114 एनएम का टॉर्क पैदा करता है. वहीं इसके डीजल वैरिएंट में 1.05 लीटर का रेवटॉर्क इंजन 1047 सीसी इंजन क्षमता के साथ 4000 आरपीएम पर 69.04 बीएचपी की अधिकतम पॉवर और 1800-3000 आरपीएम पर 140 एनएम का अधिकतम टॉर्क पैदा करता है.

दोनों ही गाड़ियों में 5-स्पीड मैनुअल गियर बॉक्स दिया गया है. अगर माइलेज की बात की जाए तो टिगोर ग्राहकों को खासी पसंद आ सकती है. इसका पेट्रोल वेरिएंट अधिकतम 22 किमी/ली. और डीजल वैरिएंट अधिकतम 25 किमी/ली. की लुभावनी माइलेज देता है. सेफ्टी के लिहाज से कार में आगे वाली दोनों सीटों के लिए एयर बैग्स, एंटी-लॉक-ब्रेकिंग सिस्टम और इलेक्ट्रॉनिक ब्रेक-फोर्स डिस्ट्रिब्यूशन (ईबीडी) और रिवर्स पार्किंग कैमरा के अलावा स्पीड सेंसिंग डोर लॉक्स दिए गए हैं. हालांकि ये फीचर्स अलग-अलग मॉडल के हिसाब से बदल सकते हैं.

एयर बैग्स की सुविधा
एयर बैग्स की सुविधा

वैरिएंट और फीचर्स

एक्सई- बॉडी कलर्ड बंपर, हीटर के साथ एसी, स्टीयरिंग टिल्ट एडजस्टमेंट, एलईडी टेल लैंप्स, मल्टी ड्राइव मोड और डुअल टोन इंटिरियर.

एक्सटी (एक्सई के फीचर के अलावा)- कनेक्टनैक्स्ट इन्फोटेनमेंट सिस्टम, रिमोट सेंट्रल लॉकिंग, ईबीडी और सीएससी के साथ एबीएस, रीयर पार्क सेंसर, हाइट एडजस्टेबल ड्राइविंग सीट, चारों विंडो पॉवर, स्टीयरिंग माउंटेड कंट्रोल, फुल व्हील कवर और कूल्ड ग्लव बॉक्स.

एक्सजेड (एक्सटी के फीचर के अलावा)- प्रोजेक्टर हैडलैंप, अलॉय व्हील्स, डुअल एयरबैग्स, रियर डीफॉगर, इलेक्ट्रीकल बूट अनलॉकिंग और बॉडी कलर्ड एयर वेंट्स.

एक्सजेड O (एक्सजेड के फीचर के अलावा)- कनेक्टनेक्स्ट टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम, वॉयस कमांड रिकॉग्निशन, वीडियो और इमेज प्लेबैक, फुली ऑटोमैटिक टेंप्रेचर कंट्रोल और रियर पार्किंग कैमरा.

कमियां- इन तमाम खूबियों के बावजूद हर गाड़ी की तरह टिगोर में भी सुधार की गुंजाइश नज़र आती है. कार के टॉप एंड मॉडल्स में पुश बटन स्टार्ट/स्टॉप की सुविधा के साथ क्रूज कंट्रोल ऑप्शन दिया जा सकता था जो निश्चित तौर पर ग्राहक को किसी और विकल्प के बारे में सोचने से रोकता. इसके अलावा फ्रंट सीट पर आर्म रेस्ट और बैक सीट पर रीयर एसी की कमी भी खलती है. कई मानते हैं कि डीजल वैरिएंट में भी व्हील साइज पेट्रोल की तरह 15 इंच होना चाहिए था जो ऊबड़-खाबड़ सड़कों पर बेफ्रिक होकर चलने की सहूलियत देता.

कीमत- टाटा-टिगोर की कीमतों की बात करें तो यह कार आपको रिझा सकती हैं. टाटा ने इसके पेट्रोल वैरिएंट के बेसिक मॉडल की एक्सशोरूम कीमत महज 4.70 लाख रुपए और डीजल वैरिएंट के बेसिक मॉडल की कीमत 5.60 लाख रूपए तय की है. यह सेगमेंट में मौजूदा दूसरी कई गाड़ियों से काफी कम है.

टाटा टिगोर की कीमतें
टाटा टिगोर की कीमतें

कुल मिलाकर टाटा टिगोर को वैल्यू ऑफ मनी कहा जा सकता है. सत्याग्रह इसे 5 में 3.7 चक्कों की रेटिंग देता है.