दुनिया की नंबर एक स्मार्टफोन निर्माता कंपनी सैमसंग ने अपना बहुप्रतीक्षित फ्लैगशिप फोन गैलेक्सी एस-8 बुधवार को लॉन्च कर दिया. कंपनी ने इसे दो अलग-अलग मॉडलों-सैमसंग गैलेक्सी एस-8 और गैलेक्सी एस-8 प्लस-के रूप में पेश किया है. एस-8 में 5.8 इंच की स्क्रीन जबकि एस-8 प्लस में 6.2 इंच की स्क्रीन दी गई है. बीते साल स्मार्टफोन नोट-7 से हुए बड़े नुकसान से उबरने की कोशिश में लगी सैमसंग ने एस-8 में कई ऐसे फीचर्स जोड़े हैं जो इससे पहले आए उसके फ्लैगशिप यानी प्रीमियम स्मार्टफोन्स में नहीं थे.

नए फीचर्स

यह स्मार्टफोन अपने ‘बिक्सबी’ फीचर के कारण सबसे ज्यादा सुर्ख़ियों में है. माना जा रहा है कि इस खूबी से सैमसंग ने आईफोन-7 के ‘सीरी’, गूगल के ‘गूगल असिस्टेंट’ और विंडोज 10 के ‘कोर्टाना’ फीचर्स को टक्कर दी है. बिक्सबी फीचर एक्टिव करने के बाद फोन पूरी तरह से यूजर की आवाज और आंखों के इशारों (विजन) पर काम करता है. इसके जरिए यूजर पूरे स्मार्टफोन को अपनी आवाज के जरिए नियंत्रित कर सकता है. इसमें आवाज के जरिए ही रेस्तरां खोजने से लेकर टैक्सी बुक कराने तक तमाम काम किए जा सकते हैं. बिक्सबी फीचर को फोन में दिए गए एक हार्डवेयर बटन को दबाकर या बिक्सबी बोलकर एक्टिवेट किया जा सकता है.

कंपनी ने इन दोनों स्मार्टफोन्स को हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के मामले में अब तक का अपना सबसे सुरक्षित स्मार्टफोन बताया है. स्मार्टफोन को आईपी68 स्तर का प्रमाण पत्र दिया गया है जिसका मतलब है कि यह पूरी तरह से वाटर और डस्ट प्रूफ है. कंपनी के अनुसार एस-8 को अनलॉक करने के लिए इसमें नोट-7 की तुलना में कई गुना तेजी से काम करने वाला ‘आइरिस स्कैनर’ दिया गया है, जो पहले की तुलना में ज़्यादा तेज़ और सटीक है. इसके अलावा इसे अनलॉक करने के लिए इसमें ‘फिंगरप्रिंट स्कैनिंग’ के साथ-साथ चेहरे की पहचान करने वाली तकनीक को भी जोड़ा गया है.

सैमसंग गैलेक्सी एस-8 और गैलेक्सी एस-8 प्लस में 12 मेगापिक्सल रियर कैमरा है, जिसमें मल्टी-फ्रेम इमेज प्रोसेसिंग तकनीक भी जोड़ी गई है. इस तकनीक की मदद से कैमरा एक बार में सिर्फ एक तस्वीर लेने की बजाय एक साथ कई तस्वीरें ले लेता है और इनमें से सबसे अच्छी इमेज को चुनकर यूजर के सामने रख देता है. इस तकनीक से किसी भी परिस्थिति में सबसे साफ़ तस्वीर खींचने में मदद मिलती है. इन दोनों फोनों में ही 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है.

अन्य फीचर्स

दोनों ही मॉडलों में क्वालकॉम का लेटेस्ट स्नैपड्रैगन-835 ऑक्टा कोर प्रोसेसर है. हालांकि, ये दोनों स्मार्टफोन भारत सहित कुछ चुनिंदा देशों में एक्सीनॉस-8895 आक्टा कोर प्रोसेसर के साथ भी उपलब्ध होंगे. सैमसंग गैलेक्सी एस-8 और एस-8 प्लस दोनों में ही 4 जीबी रैम और 64 जीबी इंटरनल स्टोरेज है. साथ ही इसमें 256 जीबी तक के माइक्रोएसडी कार्ड का इस्तेमाल भी किया जा सकता है. बैटरी की बात करें तो गैलेक्सी एस-8 में 3000 और गैलेक्सी एस-8 प्लस में 3500 एमएएच की बैटरी है. कंपनी के मुताबिक ये दोनों ही स्मार्टफोन वायरलेस चार्जिंग को सपोर्ट करेंगे.

कीमत

सैमसंग के मुताबिक चार अलग-अलग कलर में ये दोनों स्मार्टफोन 21 अप्रैल से अंतरराष्ट्रीय बाजार में बिक्री के लिए उपलब्ध होंगे. इन्हें खरीदने के लिए प्री रजिस्ट्रेशन की सुविधा 30 मार्च से शुरू हो जाएगी. हालांकि, आधिकारिक रूप से अभी इनकी कीमत का खुलासा नहीं किया गया है लेकिन, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गैलेक्सी एस-8 की कीमत करीब 720 डॉलर (47 हजार रुपए) और गैलेक्सी एस-8 प्लस की कीमत करीब 840 डॉलर यानी 55 हजार रुपए के करीब होगी.

सैमसंग के लिए दशक का सबसे महत्वपूर्ण फोन

गैलेक्सी एस-8 से पहले फ्लैगशिप फोन के रूप में सैमसंग ने पिछले साल अगस्त में गैलेक्सी नोट-7 लांच किया था. लेकिन, दुनिया भर में नोट-7 के फटने और धुआं निकलने की घटनाओं के बाद सैमसंग को इसका उत्पादन बंद करना पड़ा था. इस घटना के बाद उसने 25 लाख नोट-7 स्मार्टफोन ग्राहकों से वापस लिए थे जिसमें उसे करीब तीन अरब डॉलर यानी लगभग 20 हजार करोड़ रु का नुकसान उठाना पड़ा था. इससे भी बड़ा नुकसान उसे साख के मामले में हुआ.

ऐसे हालात में सैमसंग के लिए एस-8 की सफलता काफी जरूरी हो गई है. कंपनी ने अपने प्रीमियम सेगमेंट के ग्राहकों के विश्वास को वापस पाने के लिए उन्हें हर तरह से समझाने की कोशिश भी की है. हालांकि, वह इस विश्वास को वापस पाने में कितनी कामयाब हुई है, यह एस-8 की बिक्री के आंकड़े बताएंगे. ब्रिटेन के अनुभवी स्मार्टफोन विश्लेषक बेन वुड कहते हैं, ‘सैमसंग के लिए पिछले एक दशक में आये स्मार्टफोन्स में गैलेक्सी एस-8 सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण बन गया है और नोट-7 के घटनाक्रम के बाद इसकी सफलता काफी हद तक प्रीमियम सेगमेंट में कंपनी के भविष्य का निर्धारण करेगी.’