बिहार में शराबबंदी लागू होने के साल भर बाद इसका असर दूसरे राज्यों पर भी दिखने लगा है. सोमवार को मध्य प्रदेश में चरणबद्ध तरीके से शराबबंदी लागू करने के राज्य सरकार के ऐलान के एक दिन बाद अब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अपने राज्य में शराबबंदी लागू करने की घोषणा की है.

खास बात यह रही कि उन्होंंने यह ऐलान अपनी बिहार यात्रा के दौरान किया. रमन सिंह ने मंगलवार को बिहार के मुंगेर में कहा कि अब पूरे छत्तीसगढ़ में शराबबंदी लागू की जाएगी. उन्होंने कहा कि राज्य में पहले से ही तीन हजार तक की आबादी वाले गांवों में शराबबंदी लागू है लेकिन, अब इसे पूरे राज्य में लागू करने की पहल होगी. रमन सिंह बिहार की दो दिवसीय यात्रा के क्रम में मंगलवार को मुंगेर के योग केंद्र में थे. उन्होंने आज राजधानी पटना में बिहार के मुख्यमंत्री नी​तीश कुमार से भी मुलाकात की. कुछ दिनों पहले ही नीतीश कुमार शराबबंदी को लेकर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने छत्तीसगढ़ गए थे.

छत्तीसगढ़ में इसी महीने लागू हुई राज्य की नई आबकारी नीति के तहत तीन हजार तक की आबादी वाले गांवों में शराब की दुकान नहीं खोलने का प्रावधान रखा गया है. ऐसे में रमन सिंह के ताजा बयान को पूरे राज्य में शराबबंदी लागू करने की तरफ बढ़ाया गया कदम माना जा रहा है.

इस समय देश में गुजरात और बिहार ऐसे राज्य हैं जहां पूर्ण शराबबंदी लागू है. गुजरात में यह बहुत पहले से है तो बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने इसे पिछले साल अप्रैल में लागू किया था. नीतीश कुमार ने शराबबंदी को लेकर कई राज्यों का दौरा भी किया है. वे इस पहल को पूरे देश में लागू करने की अपील करते रहे हैं. कल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया था कि राज्य में धीरे-धीरे शराबबंदी लागू की जाएगी. शिवराज के अनुसार, इस निर्णय के तहत पहले चरण में नर्मदा नदी के पांच किलोमीटर के दायरे की सभी शराब दुकानों को बंद किया जाएगा. इसके बाद रिहाइशी इलाकों में शराबबंदी लागू की जाएगी.