भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी अब टी-20 फॉर्मेट के अच्छे खिलाड़ी नहीं रहे. आइपीएल (इंडियन प्राीमियर लीग) में पुणे की टीम से खेल रहे धोनी के लिए गांगुली का हालांकि यह भी कहना था कि चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए उनकी अनदेखी नहीं की जा सकती.

एनडीटीवी से बातचीत में गांगुली ने कहा, ‘मुझे पक्का यकीन नहीं है कि धोनी अच्छे टी-20 खिलाड़ी हैं. हालांकि वह एकदिवसीय क्रिकेट के अब भी चैंपियन खिलाड़ी हैं. लेकिन टी-20 फॉर्मेट में 10 साल में उन्होंने सिर्फ एक अर्धशतक जमाया है. यह सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड नहीं कहा जा सकता.’ हालांकि उन्होंने आगे यह भी कहा, ‘मैं चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए धोनी को चुनूंगा. लेकिन उन्हें रन बनाने होंगे.’

वैसे आईपीएल में धोनी के मौजूदा प्रदर्शन से भी गांगुली की बात को पुख्ता आधार मिलता है. अब तक धोनी की टीम ने आईपीएल के तीन मैच खेले हैं. इसमें धोनी ने क्रमश: नाबाद 12, फिर पांच और 11 रन ही बनाए हैं. इस प्रदर्शन को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने भी हाल में ही कहा था, ‘धोनी को अपने लिए रन बनाने होंगे. एक पेशेवर के तौर पर उन्हें ऐसा करना ही होगा.’

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले पुणे टीम के मालिकों ने भी अप्रत्यक्ष तौर पर धोनी के प्रदर्शन पर सवाल उठाए थे. धोनी आईपीएल के इस 10वें संस्करण में पहली बार एक सामान्य खिलाड़ी की तरह खेल रहे हैं. इससे पहले आठ बार वे चेन्नई टीम के कप्तान रहे, उसके बाद नौंवें संस्करण में उन्हें पुणे की कप्तानी सौंपी गई. लेकिन इस बार के लिए पुणे टीम के मालिकों ने उन्हें कप्तानी से हटा दिया है.