भाजपा ने विधानसभा उपचुनावों में भी अपनी जीत का सिलसिला बरकरार रखा है. गुरुवार को आए आठ राज्यों की 10 विधानसभा सीटों के नतीजों में से पांच उसके पक्ष में रहे. दिल्ली की राजौरी गार्डन, मध्य प्रदेश की बांधवगढ़, हिमाचल प्रदेश की भोरंज, राजस्थान की धौलपुर और असम की धेमाजी विधानसभा सीट भाजपा के खाते में गई है.

उधर, कांग्रेस कर्नाटक की ननजानगुड और गंदलुपेट सीटों के अलावा बेहद कांटे के मुकाबले में मध्य प्रदेश की अटेर सीट जीतने में सफल रही है. तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल की कांति दक्षिण और झारखंड मुक्ति मोर्चा ने झारखंड की लिट्टीपाड़ा विधानसभा सीट पर जीत दर्ज की है. इन विधानसभा सीटों के लिए रविवार को मतदान हुआ था.

इस उपचुनाव में दिल्ली की राजौरी गार्डन विधानसभा सीट के नतीजे सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के लिए चौंकाने वाले रहे हैं. यहां पर भाजपा-शिरोमणि अकाली दल प्रत्याशी मनजिंदर सिंह सिरसा ने 40,602 वोटों से जीत दर्ज की, जबकि 25,950 मतों के साथ कांग्रेस की प्रत्याशी मीनाक्षी चंदेला दूसरे स्थान पर रहीं. लेकिन, आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार हरजीत सिंह अपनी जमानत नहीं बचा सके. उन्हें कुल 10,243 वोट मिले जो कुल मतों के छठवें हिस्से से कम होने के नाते उनकी जमानत जब्त हो गई. यह सीट आप विधायक जरनैल सिंह के इस्तीफे के बाद खाली हुई थी.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने इस हार के लिए जरनैल सिंह के इस्तीफे को लेकर जनता में नाराजगी को वजह बताया है. वहीं, भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने आप पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि राजौरी गार्डन उपचुनाव में अरविंद केजरीवाल की जमानत नहीं जब्त हुई है, बल्कि साख भी चली गई है. उधर, दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा, ‘देश भर के उपचुनावों में भाजपा की जीत ने मोदी लहर को साबित कर दिया है. आज के दिन को दिल्ली में लोकतंत्र विजय दिवस के रूप में याद किया जाएगा क्योंकि जनता ने फासिस्ट, तुगलकी शासक केजरीवाल को खारिज कर दिया है.