शुक्रवार को बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर की 126वीं जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नागपुर से मोबाइल एप्लीकेशन ‘भीम‘ की शुरुआत की. इस खबर को आज करीब सभी अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. खबरों के मुताबिक इसके साथ कैशबैक (नकद वापसी) और रेफरल इन्सेंटिव (परामर्श प्रोत्साहन) योजना की भी शुरुआत की गई. इस मौके पर प्रधानमंत्री ने मोदी कहा, ‘यदि आप दूसरों को इसके (भीम एप) साथ जोड़ते हैं तो आपको प्रोत्‍साहन राशि दी जाएगी. इसके तहत हर नए व्यक्ति को इससे जोड़ने पर आपको 10 रुपए मिलेंगे.’

बसपा अध्यक्ष मायावती के भाजपा के खिलाफ किसी भी गठबंधन में शामिल होने के संकेत देने की खबर को भी अखबारों ने प्रमुखता से छापा है. उन्होंने शुक्रवार को कहा, ‘लोकतंत्र को जिंदा रखने के लिए मैं भाजपा विरोधी गठबंधन में शामिल होने के लिए तैयार हूं. हमें जहर से जहर को काटने की जरूरत है.’ साथ ही उन्होंने अपने भाई आनंद कुमार को पार्टी का उपाध्यक्ष नियुक्त करने की भी घोषणा की. इसके अलावा भारत द्वारा पाकिस्तान से कुलभूषण जाधव के खिलाफ दायर आरोपपत्र और फैसले की कॉपी मांगने की खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है.

कश्मीर में भारतीय सेना द्वारा एक युवक को कथित तौर पर सुरक्षा कवच के रूप में इस्तेमाल करने के वीडियो से जुड़ी खबरों को भी अखबारों ने छापा है. खबरों के मुताबिक इस वीडियो में एक युवक सेना की जीप के आगे बंधा दिखाई दे रहा है. इसके आधार पर यह आशंका जताई जा रही है कि सेना ने पत्थरबाजी से बचने के लिए ऐसा किया था. सेना ने इस मामले की जांच का आदेश दे दिया है.

कश्मीर में हमारा काम काफी मुश्किल है : सीआरपीएफ जवान

कश्मीर घाटी में सुरक्षाबलों की स्थिति पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक जवान ने हिंदुस्तान टाइम्स के साथ अपनी परेशानियों को साझा किया है. उन्होंने बताया, ‘कश्मीर में हमारा काम काफी मुश्किल है. लोगों की भीड़ हम पर हमले कर रही है और हम इसे रोकने की कोशिश करते हैं. इसके बाद हम अंतिम विकल्प के रूप में पैलेट गन या बुलेट का इस्तेमाल करते हैं.’ जवान ने आगे बताया, ‘समाज का एक तबका पैलेट गन के इस्तेमाल को गलत ठहराता है लेकिन, लोग यह नहीं देखते कि पत्थर फेंकने वाले हमें किस तरह निशाना बनाते हैं.’

अखबार ने कई वीडियो के हवाले से कहा है कि नौ अप्रैल को श्रीनगर उपचुनाव के बाद अपने अपने कैम्पों की ओर लौट रहे जवानों के साथ स्थानीय युवाओं ने बदसलूकी की थी. हालांकि, वीडियो में जवान इस पर प्रतिक्रिया देने से बचते हुए दिखाई देते हैं. इस घटना पर सीआरपीएफ के एक जवान कहते हैं, ‘हमलोग गोली चला देते तो क्या होता आप समझ सकते हैं.’ सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में स्थानीय लोगों की भीड़ ‘गो इंडिया गो बैक’ और ‘भारत तुम्हारा खेल खत्म हुआ’ जैसे नारे लगाते हुए दिखी थी.

नोटबंदी के दौरान बैंकों में बड़ी रकम जमा करने वाले 60,000 लोगों के खिलाफ जांच शुरू

आयकर विभाग ने ऐसे 60,000 लोगों की जांच शुरू की है, जिन्होंने नोटबंदी के दौरान बैंकों में काफी मात्रा में नकदी जमा कराई है. बिजनेस स्टैंडर्ड ने इसे पहली खबर के रूप में जगह दी है. अखबार के मुताबिक इन सभी की जांच शुक्रवार को शुरू किए गए ‘ऑपरेशन क्लीन मनी 2’ के तहत की जाएगी. इन 60,000 लोगों में से 1,300 ‘ज्यादा जोखिम’ वाले मामले हैं.

आयकर विभाग के मुताबिक लोगों ने जमा राशि को कारोबारी बिक्री से प्राप्त रकम बताया है लेकिन, यह उनके पिछले आंकड़ों से मेल नहीं खा रही है. इनमें पेट्रोल पंप और अस्पताल सहित अन्य आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग शामिल हैं. हालांकि, कर चोरी के संदिग्ध खातों की विस्तृत जांच में एक साल से ज्यादा वक्त लगने की बात कही गई है. इसके अलावा उन सरकारी उपक्रमों के कर्मचारियों की भी जांच की जाएगी जिन्होंने, बैंकों में बड़ी राशि जमा कराई है या ऊंचे मूल्य की खरीदारी की है.

दिल्ली : मुख्यमंत्री केजरीवाल ने एमसीडी चुनाव एक-दो महीने तक टालने की मांग की

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य चुनाव आयोग से एमसीडी चुनाव एक-दो महीने तक टालने की मांग की है. अमर उजाला ने इसे पहले पन्ने पर जगह दी है. खबर के मुताबिक उन्होंने चुनाव में वीवीपीएटी और ईवीएम के इंतजाम में समय लगने की बात करते हुए यह मांग की. हालांकि, राज्य चुनाव आयोग ने केजरीवाल की इस मांग को खारिज कर दिया है. आयोग के मुताबिक एक बार चुनाव की तारीखें घोषित हो जाने के बाद उसे स्थगित करने का कोई प्रावधान नहीं है.

अखबार के मुताबिक अरविंद केजरीवाल ने राज्य चुनाव आयुक्त से कहा कि 2006 की ईवीएम खराब हो चुकी हैं जिन्हें कोई भी बड़ी आसानी से हैक कर सकता है. उन्होंने आरोप लगाया कि इन खराब हो चुकी ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल 23 अप्रैल को होने वाले एमसीडी चुनावों में किया जा रहा है. केजरीवाल के मुताबिक राज्य चुनाव आयुक्त ने इस बारे में चुनाव आयोग को पत्र लिखने की बात कही है लेकिन, एमसीडी चुनाव में एक हफ्ता बचे होने की वजह से ईवीएम मशीनों को बदलने या वीवीपीएटी मशीनें लाने की संभावना नहीं है.

उत्तर प्रदेश : मेरठ में विवादित पोस्टर, राज्य में रहने के लिए योगी योगी कहने पर जोर

उत्तर प्रदेश के मेरठ में हिंदू युवा वाहिनी के एक पोस्टर में लोगों के लिए चेतावनी जारी की गई है. द हिंदू में छपी खबर के मुताबिक इसमें लिखा गया है, ‘प्रदेश में रहना है तो योगी-योगी कहना है.’ इस पोस्टर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी तस्वीर लगी हुई है. इसमें संगठन के मेरठ जिला अध्यक्ष नीरज शर्मा पांचली का भी फोटो है.

अखबार के मुताबिक मेरठ पुलिस द्वारा इस मामले की जांच की जा रही है. साथ ही जिला प्रशासन ने पोस्टर को हटा दिया है. मेरठ के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से समाज में सद्भाव बिगाड़ने वाले तत्वों के साथ सख्ती से निपटने के निर्देश दिए गए हैं.

आज का कार्टून

पंजाब चुनाव और कर्नाटक उपचुनाव में दो सीटों पर जीत हासिल करने के बीच कांग्रेस के ईवीएम पर सवाल उठाने के मुद्दे पर द इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित आज का कार्टून :